संविधान गान



भारत राष्ट्र का मुकुट हमारा अनोखा संविधान है 
इसी से अपने देश की कायम आन, बान और शान है। 

संविधान की प्राथमिकता हर एक इंसान है,
तन-मन-धन से सबका, बराबर सम्मान है।     
  भारत विकास की शक्ति, बतलाता संविधान है
राष्ट्र निर्माण में इसका बड़ा योगदान है। 
भारत राष्ट्र का मुकुट हमारा…..  शान है।

संविधान अनुसार धर्मनिर्पेक्षता है यहाँ,
सभी धर्मो को दिलाता यह अधिकार समान है,
यह है देश का आधार मूल और राष्ट्र प्रेम इसका सर्वोच्च कुल,
धर्मनिपेक्षता है राज धर्म, जो बनाता इसे महान है।
भारत राष्ट्र का मुकुट हमारा.….  शान है।



संविधान में हर नागरिक को कर्तव्य- अधिकार समान हैं,
सहिष्णुता, संवेदना, सहभाग से उतारना इसका एहसान है। 
समेटे है खुद में समता और न्याय पर सदियों का ज्ञान है,
संविधान है पूज्य, यह हर नागरिक के जीवन में वरदान है। 

भारत राष्ट्र का मुकुट हमारा अनोखा संविधान है,      
इसी से अपने देश की कायम आन-बान और शान है।

रचयिता 
डॉ सोनल मेहता

posted by Admin
185

Advertisement

sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
Get In Touch

Padav, Dafrin Sarai, Gwalior (M.P.)

98930-23728

sandhyadesh@gmail.com

Follow Us

© Sandhyadesh. All Rights Reserved. Developed by Ankit Singhal

!-- Google Analytics snippet added by Site Kit -->