ABV-IIITM में IEEE अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ हुआ


ग्वालियर: प्रो. श्री निवास सिंह, निदेशक अटल बिहारी वाजपेयी – भारतीय सूचना प्रौध्योगिकी एवं प्रबंधन संस्थान ग्वालियर की अध्यक्षता में, आईईईई एमपी के सहयोग से सामाजिक नवाचार के लिए प्रौद्योगिकी और प्रबंधन में अंतःविषय दृष्टिकोण पर दूसरे तीन दिवसीय आईईईई अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन (आईएटीएमएसआई-2024) दिनांक 14 मार्च 2024 को संस्थान में आयोजित किया गया। भारत में एबीवी – ट्रिपल आई टी एम ग्वालियर के इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग द्वारा आयोजित किया जाने वाला यह एक विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम की थीम "परिवर्तन को सक्षम करना!" सतत समाजों के लिए सामाजिक नवाचार,'' है जिसमें एक बहुत ही गहन सोच छिपी हुई है, जो की आज के तकनीकी और नवाचार के समय में बहुत ही उपयोगी है।  
इस सम्मेलन के चीफ़ गेस्ट प्रो. आर एस वर्मा, निदेशक एमएनएनआईटी इलाहाबाद, गेस्ट ऑफ ऑनर प्रो. मुकुल सुताओने, निदेशक ट्रिपल आई टी अल्लाहबाद, डॉ देबाशीष दत्ता, की साइंटिस्ट और वाइस प्रेसिडेंट जियो प्लैटफ़ार्म लिमिटेड, तथा प्रो. जी एस तोमर, अध्यक्ष आईईईई एमपी सेक्शन मौजूद रहे। इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के मुख्य संयोजक डॉ सोमेश कुमार के मार्गदर्शन में सम्पूर्ण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कॉन्फ्रेंस की ओरगानाइसिंग कमेटी में प्रो. मनीषा पटनायक (विभागाध्यक्ष इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग एबीवी-IIITM ग्वालियर), डॉ पिंकू रंजन (सहायक प्रोफेसर एबीवी-IIITM ग्वालियर), डॉ. अरुण कुमार (सहायक प्रोफेसर एबीवी-IIITM ग्वालियर), डॉ. गौरव कौशल (सहायक प्रोफेसर एबीवी-IIITM ग्वालियर), डॉ. मनीष पांडे, इंटेल, डॉ. राहुल शर्मा, पेंसिल्वेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी, यूएस रहे। देश विदेश से संस्थान में पधारे सभी अतिथियों का विशेष स्वागत किया गया।
इस भव्य आयोजन का आगाज़ सरस्वती की वंदना और द्वीप प्रज्ज्वलन के साथ हुआ। इसके पश्चात कॉन्फ्रेंस विडियो दिखाया गया। कॉन्फ्रेंस के मुख्य संयोजक डॉ सोमेश के द्वारा ओपेनिंग रिमार्क्स के साथ कार्यक्रम प्रारम्भ हुआ। मुख्य अतिथि तथा गेस्ट ऑफ ऑनर के उद्बोधनों का सभी श्रोताओं ने ध्यान से सुनकर लाभ लिया। मुख्य अतिथि आर एस वर्मा, निदेशक एमएनएनआईटी इलाहाबाद ने सभी से आग्रह किया की वे कुछ अलग करने का सोचें। उन्होने कहा कि कुछ इनोवेटिव करो, कुछ अलग करो, कुछ ऐसा करो जो वास्तव में आपको भी खुश करे और समाज को भी खुश करे। उनका मुख्य फोकस यह रहा कि भारत को नोबल पुरुसकार बहुत कम प्राप्त हुए हैं, हमें इस पर पुनर्विचार करना होगा। निदेशक प्रो. एस एन सिंह ने प्रौद्योगिकी से जुड़े हुए सभी प्रमुख लोगों का स्वागत किया। उन्होनें भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा पूरी तरह से फंडेड सभी 5 आईआईटी के बारे में परिचय दिया और बताया कि आईआईआईटी कि शृंखला में ABV-IIITM ग्वालियर देश का सबसे पहला संस्थान है और वर्तमान में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन प्रस्तुत कर रहा है। उन्होंने इस बात पर ध्यान केंद्रित किया कि अनुसंधान अंतर-विषयक है, चाहे वह कंप्यूटर विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग हो। बेहतर जुड़ाव के लिए प्रौद्योगिकी, पर्यटन और मनोरंजन, इन तीनों का महत्व है। यह सम्मेलन मूल रूप से प्रसार पर केंद्रित है, प्रौद्योगिकी आधारित सामाजिक समस्याओं को हमें संभालना है। उन्होने कहा कि मुझे यकीन है कि इस दिशा में एक साथ उठाया जाने वाला कदम फ्रूटफुल सिद्ध होगा। यह वह सम्मेलन प्रतिभागियों को एक दूसरे से जुडने का एवं अपने विचार प्रदान करने का मंच प्रदान करता है, मुझे आशा है कि ये तीन दिन सभी के लिए फलदायी होंगे। 
संस्थान की इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग की विभागाध्यक्ष ने अपने उद्बोधन में इस कार्यक्रम में सभी कि सहभागिता एवं संयोजको के द्वारा किए गए अथक प्रयासों कि सराहना करते हुए इस कार्यक्रम कि उपयोगिता बताई। एक प्रतिष्ठित मंच के रूप में कार्य करते हुए, सम्मेलन के द्वारा संचार, आईटी-सक्षम प्रबंधन और स्वास्थ्य, ऊर्जा, वीएलएसआई, स्मार्ट परिवहन, बायोमेडिकल विज्ञान जैसे औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स अनुप्रयोगों सहित कृषि, एआई अनुप्रयोग, रोबोटिक्स, रक्षा, प्रौद्योगिकी नीतियां और संबद्ध डोमेन इत्यादि कई विषयों में अत्याधुनिक प्रगति के प्रसार की सुविधा प्रदान की गयी। राष्ट्रव्यापी भागीदारी के साथ एक आवर्ती वार्षिक कार्यक्रम के रूप में, IATMSI-2024 दुनिया भर के विशेषज्ञों, शोधकर्ताओं, विद्वानों और उधयोगपतियों को अपने काम साझा करने और विचार-विमर्श करने के लिए एकत्रित कर एक मंच प्रदान कर रहा है, जो उभरते तकनीकी रुझानों में गहन अंतर्दृष्टि प्रदान करेगा। 
सम्मेलन के दौरान दुनिया भर के प्रतिष्ठित वक्ताओं और अकादमिक/उद्योग के दिग्गजों की 2 मुख्य वार्ताएँ भी शामिल हुईं। मुख्य वक्ता के रूप में डॉ रजित कर्मकार वरिष्ठ डिज़ाइन इंजीनियर, इंटेल ने सुरक्षित हार्डवेयर डिज़ाइन की ओर पर अपना व्याख्यान दिया। प्रो.रामबिलास पचौरी आईआईटी इंदौर, के द्वारा चिकित्सा अनुप्रयोगों के लिए बहुभिन्नरूपी सिग्नल प्रोसेसिंग और मशीन लर्निंग आधारित तरीके पर व्याख्यान हुआ।
डॉ सोमेश कुमार की अध्यक्षता में पूर्व में 21-23 दिसंबर, 2022 के दौरान ABV-IIITM ग्वालियर में IATMSI 2022 का पहला संस्करण सफलतापूर्वक आयोजित किया गया था, जिसमें कुल 480 पेपर प्राप्त हुए थे। उक्त सम्मेलन में भी चीन, बांग्लादेश, इथियोपिया, हांगकांग, इंडोनेशिया, भारत, नेपाल, फिलीपींस, पुर्तगाल, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका के शोधार्थियों एवं प्रतिभागियों ने भाग लिया। युवा प्रतिनिधि तकनीकी व्यवसायों के सभी क्षेत्रों के आमंत्रित विशेषज्ञों के साथ लाभकारी रूप से नेटवर्क बनाने और बातचीत करने में सक्षम रहे और उनके साथ एक समृद्ध अनुभव साथ लेकर गए। 
अपने प्राकृतिक वैभव और सांस्कृतिक विरासत के लिए प्रसिद्ध सुरम्य शहर ग्वालियर में स्थित एबीवी-आईआईआईटीएम ग्वालियर संस्थान IATMSI-2024 के मेजबान के रूप में कार्य करके अत्यंत ही गर्वित है । यह सम्मेलन प्रौद्योगिकी और प्रबंधन के व्यापक और उच्च गुणवत्ता वाले अंतःविषय अन्वेषण को शामिल करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस आयोजन में विभिन्न शोध विषय शामिल होंगे, जिनमें पेपर प्रस्तुतियाँ, पोस्टर सत्र, उद्योग प्रदर्शनियाँ, विशेषज्ञ वार्ता, प्रतिष्ठित वक्ताओं द्वारा ट्यूटोरियल और एक प्रदर्शनी शामिल होगी। वैश्विक रुझानों के अनुपालन में, IATMSI-2024 को ABV-IIITM ग्वालियर में हाइब्रिड मोड में आयोजित किया जा रहा है, जिसमें व्यक्तिगत और वर्चुअल दोनों तरह की भागीदारी रहेगी। इस इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस के द्वारा आकर्षक स्रजनात्मक चर्चाओं और प्रभावशाली नेटवर्किंग अवसरों को बढ़ावा मिलेगा। अंत में चीफ़ गेस्ट तथा गेस्ट ऑफ ऑनर को मोमेंटों, श्रीफल तथा शॉल से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में डीन ऑफ अकैडमिक अफेएर्स एंड डीन ऑफ फ़ैकल्टि अफेएर्स, प्रो. पंकज श्रीवास्तव, डीन ऑफ स्टूडेंट्स अफेएर्स प्रो. जयदीप धर, डीन ऑफ रिसर्च एंड कंसल्टेंसी प्रो. राजेंद्र साहू, डीन ऑफ प्लानिंग एंड डेव्लपमेंट प्रो. ज्ञान प्रकाश, डीन ऑफ अलुमनाइ एंड एक्सटर्नल रिलेशन्स प्रो. अनुराग श्रीवास्तव तथा संस्थान के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे। डॉ पिंकू रंजन के द्वारा अंत में अपना वोट ऑफ थैंक्स दिया गया। संयोजक डॉ सोमेश कुमार के द्वारा इस कॉन्फ्रेंस के प्रथम दिवस के सफल आयोजन पर सभी मुख्य वक्ताओं एवं प्रतिभागियों का आभार ज्ञपित किया गया।

posted by Admin
422

Advertisement

sandhyadesh
Get In Touch

Padav, Dafrin Sarai, Gwalior (M.P.)

00000-00000

sandhyadesh@gmail.com

Follow Us

© Sandhyadesh. All Rights Reserved. Developed by Ankit Singhal

!-- Google Analytics snippet added by Site Kit -->