ABV-IIITM में इंडो-जर्मन विज्ञान और प्रौद्योगिकी केंद्र की INSURE 2024 कार्यशाला का समापन

ग्वालियर| मुरैना रोड स्थित अटल बिहारी वाजपेयी – भारतीय सूचना प्रौध्योगिकी एवं प्रबंधन संस्थान ग्वालियर तथा गोट्टिंगेन विश्वविद्यालय जर्मनी के साझा कार्यक्रम के तहत दिनाँक 23 फ़रवरी 2024 को ए. बी. वी. – आई. आई. आई. टी. एम. ग्वालियर संस्थान के एम डी पी सेंटर में दो दिवसीय कार्यशाला “Information-Centric Networks for Resilient Smart Urban Infrastructure 2024 (INSURE 2024)” का समापन हुआ। कार्यक्रम के संयोजक ए. बी. वी. – आई. आई. आई. टी. एम. ग्वालियर के सूचना प्रौध्योगिकी विभाग के प्रोफेसर के के पटनायाक एवं गोएटिंगेन विश्वविद्यालय जर्मनी के प्रोफेसर ज़ियाओमिंग फू के द्वारा सभी पधारे हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। 
कार्यशाला में आज कुल पाँच टेक्निकल सत्र आयोजित हुए। दूसरे दिन के पंचम टेक्निकल सत्र में डॉ. राजन एम. ए., टीसीएस रिसर्च एंड इनोवेशन की अध्यक्षता में  सेंथिलनाथन रामासुब्बू, एसोसिएट डायरेक्टर कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी समाधान एवं प्रो. जियांग लियू, टीएच वाइल्डौ के द्वारा “स्मार्ट सिटि सेक्यूरिटी एंड प्राइवसी” के बारे में बताया गया। छठवें टेक्निकल सत्र में प्रो. थॉमस स्प्रिंगर, टीयू ड्रेसडेन की अध्यक्षता में प्रो. कुलाउ उल्फ, टेक्नीश यूनिवर्सिटेट हैम्बर्ग एवं डॉ. हील सेबेस्टियन वोल्फगैंग, प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय केमनिट्ज़ ने “सेल्फ ओरगानाइसिंग सिस्टम्स एंड स्मार्ट सेंसर्स” के बारे में बताया। कार्यक्रम के सातवें सत्र में प्रो. अभिषेक श्रीवास्तव, आईआईटी इंदौर की अध्यक्षता में प्रो. बिद्युत बी चौधरी, आईसीएकोलकाता एवं  अरविंद राजपूत, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, गुजरात अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय प्रौद्योगिकी (शहर) के द्वारा “आई ओ टी बेस्ड सिस्टम टू मॉनिटर एंड मेनेज सिटि इनफ्रास्ट्रक्चर” के बारे में परिचर्चा हुई। आठवें तकनीकी सत्र के अध्यक्ष:  अरविंद राजपूत, मुख्य परिचालन अधिकारी, गुजरात अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय तकनीक (शहर) रहे। इसमें  हरीश आर अय्यर, सीमेंस एनर्जी और डॉ. ऋषि रेलन, सीमेंस एनर्जी ने “एनर्जि स्टोरेज सिस्टम्स एंड मैनेजमेंट” विषय पर अपने वक्तव्य दिये। अंतिम तकनीकी सत्र के मॉडरेटर प्रोफेसर के के पटनायक ने इस सत्र में “इंडस्ट्री अकादमीया कोलाबोरेटिव डिस्कशन फॉर ग्रांट एप्लिकेशन” के बारे में बताया। उन्होने सतत यू-सीपीएस की दिशा में संभावित सहयोग पर चर्चा एवं आधारभूत संरचना के ऊपर अपना व्याख्यान दिया। 
संस्थान के सूचना प्रौध्योगिकी विभाग से प्रो. महुआ भट्टाचार्या, डॉ राहुल काला, डॉ सुनील कुमार, डॉ महेंद्र शुक्ला एवं डॉ वीना आनंद इस कार्यशाला में सम्मिलित हुए। सभी प्रतिभागियों के द्वारा पैनल डिस्कशन में अपने अपने विचार रखे गए। कार्यशाला INSURE-2024 का समापन डॉ. राजन एम. ए., टीसीएस रिसर्च एंड इनोवेशन द्वारा अपने समापन रिमार्क्स से किया गया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन के साथ सभी को मोमेंटों प्रदान किए गए। प्रो. पटनायक ने इस कार्यक्रम से सफल समापन पर कार्यक्रम के अन्य आयोजकों का भी ध्न्यवाद दिया एवं भविष्य में इस प्रकार के फ्रूटफुल कार्यशाला के आयोजनों को प्रोत्साहन देने हेतु सभी से प्रयास करने का आग्रह किया। कार्यक्रम के अंतिम दिवस के सफल आयोजन पर सभी ने अपना आभार ज्ञपित किया।  जर्मनी से पधारे सभी अतिथियों को भारत की शान ताजमहल के दर्शन तथा आगरा भ्रमण कराने के लिए दिनांक 24 फ़रवरी को संस्थान के द्वारा विशेष व्यवस्था की गयी है। प्रारम्भ में आईजीएसटीसी के वैज्ञानिक अधिकारी  साकिब शेख ने आईजीएसटीसी की विभिन्न गतिविधियों पर व्याख्यान दिया। 

posted by Admin
264

Advertisement

sandhyadesh
Get In Touch

Padav, Dafrin Sarai, Gwalior (M.P.)

00000-00000

sandhyadesh@gmail.com

Follow Us

© Sandhyadesh. All Rights Reserved. Developed by Ankit Singhal

!-- Google Analytics snippet added by Site Kit -->