BREAKING!
  • वीरेन्द्र कुमार श्रम विभाग के उपसचिव बने
  • महापौर ने किया वार्ड 60 के सिंधिया नगर में निरीक्षण, अधिकारियों को दिए समस्या निराकरण के निर्देश
  • ग्वालियर स्टार्टअप मीट 2022 से शहर के युवाओं को मिला अंतरर्राष्ट्रीय प्लेटफार्म: महापौर
  • सौ अश्वमेघ यज्ञ से भी नहीं हटेगा कन्याभ्रूण हत्या का पाप: समीक्षा गुप्ता
  • अकेले पड़े मुन्नालाल डिफेंस मोड में, महापौर के पैलेस पर धरने की बात सिंधिया तक पहुंची
  • ग्वालियर पुलिस ने सेवानिवृत्त हुए पुलिस अधिकारी व कर्मियों को दी विदाई
  • महाराजा अग्रसेन मेला 1 अक्टूबर से, सजेगा विशाल दरबार
  • मासिक दिव्यांग मिलन बैठक का आयोजन किया
  • कैट का दीपावली मिलन समारोह 1 नवम्बर को
  • अग्रसेन जयंती के अवसर पर निकले चल समारोह का पुष्प वर्षा से स्वागत किया

Sandhyadesh

ताका-झांकी

रिश्वत लेते पकडी गई रीडर को सजा, लोकायुक्त ने पकडा था

21-Sep-22 420
Sandhyadesh


ग्वालियर। लोकायुक्त ग्वालियर द्वारा रिश्वत लेते पकडी गई नायब तहसीलदार ग्वालियर की रीडर का विशेष न्यायालय भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम ने दोष सिद्ध पाते हुये धारा ७ में तीन वर्ष का सश्रम कारावास एवं २००० रूपये के अर्थदंड से दंडित किया है वहीं १३(१) डी, १३(२) पीसी एक्ट १९८८ में ४ वर्ष के सश्रम कारावास व दो हजार रूपये के अर्थदंड से दंडित किया है।
विशेष लोक अभियोजक राखी सिंह के अनुसार नंदकिशोर लोधी पुत्र सूरज सिंह लोधी का फौती नामान्तरण कराने के एवज में लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर २३ फरवरी २०२२ को रीडर अनीता श्रीवास्तव को ४ हजार रूपये की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों पकडा था। अनीता श्रीवास्तव नायब तहसीलदार कुलदीपक दुबे की रीडर थी। यह मामला लोकायुक्त पुलिस ने विशेष न्यायालय भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम ग्वालियर में प्रस्तुत किया था, जिस पर आज न्यायालय ने रिश्वत लेते पकडी गई आरोपी को सजा व अर्थदंड से दंडित किया। 

Popular Posts