BREAKING!
  • Breaking: पवन शर्मा इंदौर कमिश्नर, वेदप्रकाश नरसिंहपुर और अनिल खरे होंगे मंडला कलेक्टर
  • थोक कारोबार 7 बजे एवं रिटेल कारोबार 8 बजे बंद करने का प्रस्ताव प्रशासन को सौंपा:चेम्बर
  • राजमाता सिंधिया ट्रस्ट ने आज श्योपुर में वितरण की गईं पीपीई किट
  • मप्र के स्कूलों में 30 जून तक अवकाश घोषित
  • कोरोना को हराने के संकल्प के साथ मनाया जाएगा केंद्रीय मंत्री तोमर का जन्मदिन:जय सिंह कुशवाह
  • कोविड-19 के भय को दूर करने आगे आयें विश्वविद्यालय, नवाचारों और स्वदेशी का बन रहा वातावरण
  • मुख्यमंत्री ने की वीडियो कांफ्रेंस से कलेक्टर्स-कमिश्नर्स से चर्चा
  • बिपनेट क्लब ने मनाया पर्यावरण दिवस, बच्चों के लिए ऑनलाइन बाल कवि सम्मेलन एवं प्रतियोगिता
  • ग्वालियर स्मार्ट सिटी की बोर्ड मीटिंग में हुई विकास कार्यों की समीक्षा
  • ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण से ही होगा पर्यावरण का संरक्षण - संभागायुक्त

Sandhyadesh

आज की खबर

हत्या के आरोपी को भागने में मदद करने वाले भाई को पकड़ा

19-Oct-19 190
Sandhyadesh

ग्वालियर। प्रापर्टी डीलर पंकज सिकरवार हत्याकांड में फरार चल रहा आरोपी संजय तोमर अपने घर पर रूपये और लायसेंसी बन्दूक लेने आया था। इसकी भनक लगते ही पुलिस उसे पकडने उसके घर जा पहुंची । पुलिस को देखते ही आरोपी के भाई विनोद तोमर और भाभी क्षमा तोमर ने उसे छत के रास्ते भगा दिया। घटना हजीरा थाना क्षेत्र के न्यू कालोनी नबंर दो बिरला नगर की है। आरोपी के भागने के बाद पुलिस ने संजय तोमर के भाई विनोद को पकड़ लिया,जबकि उसकी भाभी फरार हो गयी। पुलिस ने विनोद सिकरवार के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा और आरोपी की मदद करने का मामला दर्ज किया है।
हजीरा थाना पुलिस ने बताया कि खबर मिली थी कि पंकज सिकरवार हत्याकांड का आरोपी संजय तोमर जिस पर 10 हजार का इनाम है। अपने घर आया हुआ है,आरोपी को पकडने के लिये टीम को रवाना किया गया। पुलिस की टीम संजय तोमर के घर पहुंची तो आरोपी अपने भाई विनोद और भाभी से 10  हजार रूपये ले चुका था और अपनी लायसेंसी रायफल मांग रहा था। आरोपी को देखते ही पुलिस उसे पकड़ने पहुंची तो उसका भाई विनोद और भाभी क्षमा ने पुलिस का रास्ता रोक लिया और आरोपी संजय तोमर छत के रास्ते भाग निकला। आरोपी को भागते देख पुलिस ने उसे पकड़ने का प्रयास किया लेकिन विनोद और उसकी पत्नी क्षमा पुलिस के सामने दीवार जैसे अड गये। हंगामा होने पर कालोनी के लोग भी वहां आ गये, जिसका फायदा उठाकर क्षमा तोमर भी गायब हो गई। पुलिस ने आरोपी के भागने के बाद विनोद तोमर को हिरासत में ले लिया।

2020-06-06aaj