BREAKING!
  • क्या यही स्मार्ट सिटी है.....?
  • निकाय चुनावों से उत्साहित कांग्रेस संगठन में नई जान फूंकने का प्रयास
  • डीआरडीई में तिरंगा अभियान के तहत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित
  • अब संजू की तैयारी विधानसभा या भिंड से लोकसभा .......?
  • ऊषा अभियान से जुड़ने पर विद्यार्थियों को मिलता है विशेष ग्रेड अभियान से जुड़े लगभग 5 लाख लोग
  • मुख्यमंत्री चौहान ने वीर सपूत शहीद खुदीराम बोस की पुण्य-तिथि पर नमन किया
  • महापौर ने ग़रीबों के बीच मनाया -रक्षा सूत्र पर्व
  • पापों के प्रायश्चित और पुण्य कामना के लिए किया श्रावणी उपाकर्म
  • व्यापारिक हितों के लिए कैट का कार्य प्रशंसनीय : मनोज तोमर
  • ग्वालियर के 12 करातेकाज़, आल इंडिया इंडिपेंडेंस कप कराते चैंपियनशिप में दिखायेंगे दम

कमजोर वर्गों के प्रति संवेदनशीलता विषय पर सेमीनार का आयोजन किया गया

04-Aug-22 23
Sandhyadesh

 ग्वालियर। होटल लेण्डमार्क एन.एक्स.  में ‘‘कमजोर वर्गों के प्रति संवेदनशीलता’’ विषय पर रेंज स्तरीय एक दिवसीय सेमीनार का आयोजन किया गया। इस सेमीनार का शुभारंभ प्रातः 11 बजे मुख्य अतिथि राजे चावला अति. पुलिस महानिदेक/पुलिस महानिरीक्षक, चम्बल जोन द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प एवं दीप प्रज्वलित कर किया। 
कार्यक्रम की अध्यक्षता  डाॅ. अरविन्द सिंह ठाकुर, पुलिस अधीक्षक, अजाक, चंबल रेंज द्वारा की गई तथा कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि  सुधीर कुमार अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक, राज्य सायबर पुलिस ग्वालियर भी उपस्थित रहे। सेमीनार में उपस्थित मुख्य अतिथि का पुलिस अधीक्षक, अजाक, चंबल रेंज द्वारा स्वागत किया गया। इस आयोजन में चम्बल रेंज के लगभग 50 से अधिक पुलिस अधिकारीगण सम्मलित हुए हैं। इस अवसर पर उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि अति. पुलिस महानिदेषक/पुलिस महानिरीक्षक, चम्बल जोन द्वारा समाज के कमजोर वर्गों के प्रति संवेदनशील रवैया रखते हुए उनसे संबंधित शिकायतों का शीघ्रता से निराकरण करने के लिये कहा गया। विवेचक को रिपोर्ट दर्ज करते समय अपने आप को पीड़ित के स्थान पर रखकर रिपोर्ट दर्ज करनी चाहिए और एससी/एसटी तथा महिला संबंधी प्रकरणों की विवेचना में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जावे।
एक दिवसीय सेमीनार में उद्घाटन उपरान्त अभिषेक मेहरोत्रा, सहायक लोक अभियोजन अधिकारी,ग्वालियर द्वारा अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्गों के प्रति होने वाले अपराधों की सामाजिक, आर्थिक पृष्ठभूमि-कारण एवं निवारण पर व्याख्यान दिया गया। इसी क्रम मे  ओ.पी. बाथम, उप पुलिस अधीक्षक (अंगुल चिन्ह) चम्बल रेंज द्वारा फिंगर प्रिंट एवं नेफिस सिस्टम पर व्याख्यान दिया जाकर फिंगर प्रिंट की अपराधों की विवेचना में महत्ता को समझाया। सेमीनार में पुलिस अधीक्षक राज्य सायबर पुलिस ग्वालियर जोन सुधीर अग्रवाल द्वारा सायबर अपराधों में पुलिस रिस्पाॅंस एवं विवेचना में सायबर टेक्नोलाॅजी का उपयोग विषय पर उपस्थित प्रतिभागियों को समझाया गया। इसके अलावा उनके द्वारा सायबर अपराध या वित्तीय अपराध घटित होने पर फरियादी से जानकारी प्राप्त करने व संबंधित वित्तीय संस्थानों से आवष्यक तथ्य जुटाकर अपराधी तक पहुंचने की तकनीकी विधि से अवगत कराया कराया गया। 
श्रीमती प्रगति नायक विधि अधिकारी ग्वालियर ने ‘‘अनुसूचित जाति/जनजाति (अत्याचार निवारण) अधि0 1989 के नवीन अध्यादेश, विशेष प्रावधान, साक्ष्य विधान एवं पूर्व अधिनियम किस प्रकार भिन्न हैं’’ विषय पर विस्तृत जानकारी उपस्थित पुलिस अधिकारियों को दी। सेमीनार में पुलिस अधीक्षक अजाक चम्बल रेंज द्वारा उपस्थित प्रतिभागियों को एससी/एसटी एवं महिला संबंधी अपराधों की विवेचना के दौरान आने वाली समस्याओं व उनके निराकरण, विवेचना में डिजीटल साक्ष्यों की उपयोगिता, अपराध निकाल में तकनीक का उपयोग संबंधी जानकारी दी गई। इसके बाद सेमीनार के अंत में उपस्थित प्रतिभागियों से परिचर्चा व ग्रुप डिस्कसन के बाद फीडबैक लिया जाकर सेमीनार का समापन किया गया।

Popular Posts