BREAKING!
  • क्या यही स्मार्ट सिटी है.....?
  • निकाय चुनावों से उत्साहित कांग्रेस संगठन में नई जान फूंकने का प्रयास
  • डीआरडीई में तिरंगा अभियान के तहत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित
  • अब संजू की तैयारी विधानसभा या भिंड से लोकसभा .......?
  • ऊषा अभियान से जुड़ने पर विद्यार्थियों को मिलता है विशेष ग्रेड अभियान से जुड़े लगभग 5 लाख लोग
  • मुख्यमंत्री चौहान ने वीर सपूत शहीद खुदीराम बोस की पुण्य-तिथि पर नमन किया
  • महापौर ने ग़रीबों के बीच मनाया -रक्षा सूत्र पर्व
  • पापों के प्रायश्चित और पुण्य कामना के लिए किया श्रावणी उपाकर्म
  • व्यापारिक हितों के लिए कैट का कार्य प्रशंसनीय : मनोज तोमर
  • ग्वालियर के 12 करातेकाज़, आल इंडिया इंडिपेंडेंस कप कराते चैंपियनशिप में दिखायेंगे दम

बूँदों की मनुहार के बीच लाल टिपारा पार्क में धरती को ओढ़ाई हरीतिमा की चादर

03-Aug-22 45
Sandhyadesh

ग्वालियर। बूँदों की मनुहार एवं रिमझिम बारिश की फुहार के बीच जब राष्ट्रध्वज तिरंगा हाथ में लेकर रंग-बिरंगे परिधानों में सजे-धजे विद्यार्थियों ने समाजसेवियों, जनप्रतिनिधिगणों और शासकीय सेवकों के साथ सामूहिक रूप से विभिन्न प्रजातियों के पौधे रोपे तो ऐसा लगा मानो धरती ने हरीतिमा की चादर ओढ़ ली है। मौका था मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के वर्चुअल मुख्य आतिथ्य में यहाँ लाल टिपारा गौशाला के समीप स्थित अमृत योजना के विशाल पार्क परिसर में अंकुर अभियान के तहत आयोजित हुए वृहद पौधरोपण कार्यक्रम का । इस अवसर पर मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि ग्वालियर एवं चंबल संभाग में जन-भागीदारी के साथ शुरू हुआ प्रकृति-संरक्षण का यह कार्य अनुकरणीय है। राष्ट्रध्वज के साथ पौध-रोपण अत्यंत सराहनीय पहल है। प्रदेश के अन्य संभाग और जिले भी प्रकृति-संरक्षण के इस कार्य का अनुसरण करेंगे। उन्होंने कहा जन-भागीदारी से पौध-रोपण के लिए आरंभ "अंकुर अभियान" धरती को बचाने का अभियान है। 
बुधवार को लाल टिपारा गौशाला के समीप स्थित पार्क में आयोजित हुए इस सामूहिक वृक्षारोपण कार्यक्रम में विभिन्न प्रजातियों के ढ़ाई हजार से अधिक पौधे एक साथ रोपे गए। संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना की पहल पर बुधवार को आयोजित हुए वृक्षारोपण महाअभियान में ग्वालियर जिला सहित ग्वालियर और चंबल संभाग के 8 जिलों की प्रत्येक पंचायत और नगरीय क्षेत्र के प्रत्येक वार्ड में 75-75 पौधे लगाने का कार्य इस दिन किया गया। ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, दतिया, मुरैना, भिण्ड और श्योपुर जिलों के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में अंकुर अभियान के तहत कुल मिलाकर 7 हजार 738 स्थान पर एक साथ बड़े पैमाने पर पौध-रोपण कार्यक्रमों में कुल मिलाकर 2 लाख 73 हजार 656 पौधे रोपे गए। इन कार्यक्रमों में 2 लाख 81 हजार 667 लोगों ने सहभागिता की। दोनों संभागों के सभी जिलों में आयोजित हुए कार्यक्रमों को मुख्यमंत्री  चौहान ने वर्चुअल रूप से संबोधित किया।  इस आयोजन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ भोपाल से किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री कमल पटेल एवं उद्यानिकी व खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री  भारत सिंह कुशवाह भी वर्चुअल रूप से जुड़े। साथ ही ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर सहित प्रदेश सरकार के अन्य मंत्रिगण तथा विधायकगणों सहित अन्य जनप्रतिनिधिगणों ने भी इस कार्यक्रम में सहभागिता की। पर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने कार्यक्रम से वर्चुअली रूप से जुड़कर स्वागत उदबोधन दिया। 
यहाँ लाल टिपारा पार्क में आयोजित हुए वृक्षारोपण महाअभियान में फार्म एवं बीज विकास निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल, संत कृपाल सिंह सहित अन्य धर्मगुरू, जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव, संभाग आयुक्त  आशीष सक्सेना, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक डी. श्रीनिवास वर्मा, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  आशीष तिवारी, अपर कलेक्टर इच्छित गढ़पाले व नगर निगम के अपर आयुक्त अतेन्द्र सिंह गुर्जर तथा  आशीष प्रताप सिंह राठौर एवं शांति समिति व आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यगण, विभिन्न सरकारी एवं निजी स्कूलों की छात्र-छात्राएँ, समाजसेवी व स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक एवं शासकीय सेवकों ने भाग लेकर विभिन्न प्रजातियों के पौधे रोपे। 

प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए पंचामृत की सौगात को मूर्तरूप दे रहा है यह अभियान 
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के संकट समाधान के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ के ग्लासगो सम्मेलन में पंचामृत की सौगात दी थी। ग्वालियर-चंबल संभाग में शुरू हुआ वृक्षारोपण का यह अभियान पंचामृत की अवधारणा को पूरा कर रहा है। उन्होंने कहा कि पेड़-पौधे हमें ऑक्सीजन ही नहीं देते, अपितु एक पेड़ अनेक जीव-जंतुओं के लिए जीवन का स्त्रोत है। प्रदेश में हरियाली अमावस्या 28 जुलाई से 15 अगस्त तक पौध-रोपण महाअभियान चलाया जा रहा है, जिसमें विभिन्न समुदायों, छात्रों, स्वयंसेवी संगठनों, सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों, रहवासी-कल्याण समितियों और धर्मगुरूओं को जोड़ कर जन-सामान्य को पौध-रोपण के लिए प्रेरित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन्म-दिवस, विवाह वर्षगाँठ और परिजनों की स्मृति में पौधे लगाने का आह्वान किया। 

हर घर तिरंगा अभियान में गर्व और गौरव के साथ हिस्सा लें प्रदेशवासी 
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आजादी के अमृत काल में वृक्षा-रोपण महाअभियान में शामिल व्यक्तियों द्वारा राष्ट्र-ध्वज के साथ पौध-रोपण करना लोगों को "हर घर तिरंगा" अभियान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करेगा। मुख्यमंत्री  चौहान ने "हर घर तिरंगा" अभियान में प्रदेशवासियों को पूरे उत्साह और उमंग के साथ हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। हम सब स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा क्रय कर गर्व और गौरव के साथ अपने घर पर ध्वज लहराएँ। 

संभाग आयुक्त एवं संभाग के सभी जिला कलेक्टरों ने दी जानकारी 
बुधवार को आयोजित हुए वृक्षारोपण अभियान के दौरान संभाग आयुक्त  आशीष सक्सेना ने महाअभियान की रूपरेखा पर प्रकाश डाला। साथ ही ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह सहित ग्वालियर एवं चंबल संभाग के सभी जिलों के कलेक्टरों ने अपने – अपने जिलों के बारे में जानकारी प्रदान की। 

वृक्षारोपण महाअभियान में ग्वालियर – चंबल संभाग में इतने पंजीयन हुए 
बुधवार 3 अगस्त को आयोजित हुए वृक्षा-रोपण महाअभियान में ग्वालियर जिले में 43 हजार, शिवपुरी में 85 हजार 750, गुना में 22 हजार 335, अशोकनगर में 18 हजार 62, दतिया में 13 हजार 500, श्योपुर में 34 हजार, मुरैना में 40 हजार 137 और भिण्ड जिले में 16 हजार 872 पौधे रोपे गए। 

Popular Posts