BREAKING!
  • क्या यही स्मार्ट सिटी है.....?
  • निकाय चुनावों से उत्साहित कांग्रेस संगठन में नई जान फूंकने का प्रयास
  • डीआरडीई में तिरंगा अभियान के तहत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित
  • अब संजू की तैयारी विधानसभा या भिंड से लोकसभा .......?
  • ऊषा अभियान से जुड़ने पर विद्यार्थियों को मिलता है विशेष ग्रेड अभियान से जुड़े लगभग 5 लाख लोग
  • मुख्यमंत्री चौहान ने वीर सपूत शहीद खुदीराम बोस की पुण्य-तिथि पर नमन किया
  • महापौर ने ग़रीबों के बीच मनाया -रक्षा सूत्र पर्व
  • पापों के प्रायश्चित और पुण्य कामना के लिए किया श्रावणी उपाकर्म
  • व्यापारिक हितों के लिए कैट का कार्य प्रशंसनीय : मनोज तोमर
  • ग्वालियर के 12 करातेकाज़, आल इंडिया इंडिपेंडेंस कप कराते चैंपियनशिप में दिखायेंगे दम

आपातकाल-1975: लोकतंत्र सेनानियों ने काली पट्टी लगाकर काला दिवस मनाया

26-Jun-22 86
Sandhyadesh



ग्वालियर. लोकतंत्र सेनानी संघ के आह्वान पर देशभर में मनाए जा रहे एक दिवसीय काले दिवस के आव्हान के अंतर्गत आज ग्वालियर में लोकतंत्र सेनानियों ने लाल-बाल-पाल (लाला लाजपतराय, बाल गंगाधर तिलक, विपिनचन्द्र पाल)की प्रतिमा के सामने काली पट्टी बाधकर आपातकाल-1975 में की गयी लोकतंत्र की हत्या का विरोध करते हुए लोकतंत्र की रक्षा करने का संकल्प लिया. कार्यक्रम के आरंभ में शहीदों को माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की गयी.
तत्पश्चात संगठन के राष्ट्रीय सचिव मदन बाथम ने कहा कि आपातकाल-1975 में देश में २५० से अधिक पत्रकार जेलों में डाल दिये गये । निरपराध नागरिकों के साथ हिंसा का ऐसा तांडव देश ने पहले कभी नहीं देखा था । संपूर्ण देश में हाहाकार, जेल के भीतर भी अकेले म.प्र.में १०० से अधिक लोकतंत्र प्रेमियों की असमय मृत्यु हुई । 1,10,806 राजनैतिक और सामाजिक नागरिकों को मीसा/डीआईआर में बिना मुकद्दमा चलाये जेलों में निरुद्ध किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मोहन विटवेकर ने आपातकाल के दमन और लोकतंत्र की महत्ता से नई पीढ़ी को परिचित कराने के लिए आपातकाल को पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग को दोहराया. कार्यक्रम की अध्यक्षता एडवोकेट जीपी गर्ग, संचालन गुलशन गोगिया, आभार राजेन्द्र आर्य तथा गोपाल गांगिल ने स्वागत भाषण दिया.
*इन्होंने संबोधित किया*
भानुप्रकाश जैन, पुनीत सक्सेना, जयंतपाल खुराना, अशोक तँवर, बसंत शर्मा आदि ने भी अपने संबोधन में आपातकाल के अनुभव शेयर किये

Popular Posts