BREAKING!
  • ग्वालियर बधिर सोसायटी के वार्षिक चुनाव संपन्न
  • ग्वालियर में कांग्रेस परचम फहरायेगी,शिवराज के पास विजन नहीं टेलीविजन है: कमलनाथ
  • कमलनाथ ने हॉस्पिटल पहुंचकर विधायक सिकरवार के स्वास्थ्य की जानकारी ली
  • सुरक्षा बल को ठहराने के लिये पाँच संस्थानों के परिसर अधिग्रहीत, व्यय प्रेक्षक नियुक्त
  • हरियाली अमावस्या के दिन वृक्षारोपण के लिये चलेगा महाअभियान, चिकित्सा अधिकारी एवं कर्मचारी सम्मानित
  • स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट और नगरीय निकाय के कार्य अच्छी तरह चलें, इसके लिए स्मार्ट निगम परिषद जरूरी: सुमन शर्मा
  • ग्वालियर के विकास की सुनहरे अच्छरो से लिखेंगे ऐतिहासिक इबारत - डॉ नरोत्तम मिश्रा
  • ग्वालियर पुलिस ने चलाया सायबर CRIME अवेयरनेस प्रोग्राम
  • नगरीय निकाय चुनावः ऐसा क्या हुआ कि पत्रकार वार्ता भी नहीं हुई डी.एम. की
  • श्रीधर धर्मशाला का फर्जी ट्रस्ट बनाकर दुकानों का किया आवंटन, अध्यक्ष से एसडीएम ने मांगा जवाब

मिशन नगरोदय के तहत ग्वालियर शहर को मिली करोड़ों रूपए के विकास कार्यों की सौगातें

17-May-22 57
Sandhyadesh

मुख्यमंत्री  चौहान ने भोपाल से वर्चुअली किया लोकार्पण व भूमिपूजन
प्रभारी मंत्री  सिलावट के मुख्य आतिथ्य में हुआ जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन

ग्वालियर / प्रदेशव्यापी मिशन नगरोदय के शुभारंभ अवसर पर ग्वालियर शहर को करोड़ों रूपए लागत के विकास कार्यों की सौगातें मिलीं। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में आयोजित हुए राज्य स्तरीय कार्यक्रम के जरिए वर्चुअल रूप से ग्वालियर शहर में स्मार्ट सिटी के तहत 58 करोड़ रूपए और नगर निगम के जनकार्य विभाग के तहत लगभग 10 करोड़ 71 लाख रूपए लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री  चौहान ने भोपाल से 21 हजार करोड़ रूपए से अधिक के विकास कार्यों का वर्चुअल भूमिपूजन किया, जिसमें ग्वालियर शहर व जिले के अन्य नगरीय निकायों के विकास कार्य भी शामिल हैं। यहाँ बाल भवन ग्वालियर में आयोजित हुए जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिले के प्रभारी एवं जल संसाधन मंत्री  तुलसीराम सिलावट बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद  विवेक नारायण शेजवलकर ने की।
जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री  चौहान के उदबोधन का सीधा प्रसारण एलईडी स्क्रीन के जरिए सभी हितग्राहियों व अतिथियों ने सुना। साथ ही भोपाल में आयोजित हुए राज्य स्तरीय कार्यक्रम की अन्य गतिविधियां भी देखीं।
जिला स्तरीय कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री  सिलावट सहित अन्य अतिथियों ने हितग्राहियो को प्रतीक स्वरूप हितलाभ वितरित किए। साथ ही पट्टिका का अनावरण कर विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। नगरोदय अभियान के शुभारंभ अवसर पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्वालियर शहर के विभिन्न हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया तो नए आवासों का भूमिपूजन किया गया। इसके अलावा पीएम स्वनिधि, शहरी आजीविका मिशन और अन्य हितग्राहीमूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों को लाभान्वित कराया गया।
बाल भवन में आयोजित हुए कार्यक्रम में बीज एवं फार्म विकास निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल, पूर्व मंत्री श्रीमती माया सिंह, भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी, पूर्व विधायक  मदन कुशवाह तथा सर्वश्री राकेश माहौर, आशीष प्रताप सिंह राठौर, मोहन सिंह राठौर व श्रीमती नीलिमा शिंदे सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा प्रभारी संभाग आयुक्त  राजीव दुबे व प्रभारी कलेक्टर  आशीष तिवारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।
आरंभ में अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलन एवं कन्या पूजन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रभारी संभाग आयुक्त  दुबे एवं प्रभारी कलेक्टर  तिवारी ने अतिथियों का स्वागत किया। स्वागत उदबोधन अपर आयुक्त नगर निगम  अतेन्द्र सिंह गुर्जर ने दिया। इस अवसर पर स्मार्ट सिटी सीईओ श्रीमती नीतू माथुर भी उपस्थित थीं। कार्यक्रम का संचालन  एस बी ओझा ने किया।

ग्वालियर शहर को अव्वल बनाने में सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी –  सिलावट

    प्रभारी मंत्री  तुलसीराम सिलावट ने जिला स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ग्वालियर शहर को शिक्षा, स्वच्छता व स्वास्थ्य के क्षेत्र में अव्वल बनाने में प्रदेश सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी।
नगरीय क्षेत्रों में पिछले पाँच साल में विकास के नए आयाम स्थापित हुए –  शेजवलकर

    सांसद  विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि पिछले पाँच साल के दौरान प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों में विकास के नए आयाम स्थापित हुए हैं। विकास कार्यों की यह श्रृंखला लगातार जारी है। उन्होंने इस अवसर पर आह्वान किया कि हम सब एकजुट होकर ग्वालियर को स्वच्छ, सुंदर व विकसित शहर बनाने में अपना योगदान दें।


स्मार्ट सिटी के इन कार्यो का हुआ लोकापर्ण

1. डिजिटल लायब्रेरी – शहर के हृदय स्थल महाराज बाड़ा स्थित ऐतिहासिक सेंट्रल लाइब्रेरी भवन को स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत 11 करोड 15 लाख रुपये की लागत से सजा-संवारकर और संरक्षित करते हुए डिजिटल लाइब्रेरी के रूप में पुनर्विकसित किया गया है। डिजीटल लाइब्रेरी में 1927 से लेकर 1990 तक की 50 हजार से अधिक पुरानी किताबो की स्कैनिंग और भवन का रिनोवेशन कर सेंट्रल लाइब्रेरी को नया स्वरुप प्रदान किया गया है।
स्मार्ट सिटी के इन कार्यों का हुआ भूमिपूजन

•    लगभग 3 करोड़ 34 लाख रुपये की लागत से गेंडे वाली सड़क का निर्माण कार्य।
•    लगभग 2 करोड़ 13 लाख रूपए की लागत से तानसेन रोड से रेसकोर्स रोड तक निर्माण कार्य।
•    लगभग 11 करोड़ 98 लाख रूपए की लागत से गोले के मंदिर से महाराजपुरा तक सर्विस रोड का निर्माण कार्य।

शहर के चार प्रवेश द्वारों का भी हुआ भूमिपूजन
ग्वालियर शहर के वैभव एवं विरासत को और निखारने एवं शहर में प्रवेश करने वाले नागरिकों को शहर की विरासत से परिचित कराने के उददेश्य से स्मार्ट सिटी द्वारा ग्वालियर शहर में चारो दिशाओं पर प्रवेश द्वार बनाये जा रहे है। लगभग 8 करोड़ 77 लाख रूपए की लागत से ये प्रवेश द्वार तैयार होंगे। प्रवेश द्वारों का निर्माण इस प्रकार से किया जायेगा, जिससे शहर में प्रवेश करने वाले नागरिकों को प्रवेश द्वार पर कदम रखते ही शहर की समृद्ध विरासत का एहसास हो जाए। ये प्रवेश द्वार भिंड बायपास, पुरानी छावनी, बेला की बाबड़ी एवं झाँसी रोड़ पर मालवा कॉलेज के समीप बनाए जायेंगे।
 

Popular Posts