BREAKING!
  • दो अप्रैल २०१८ हिंसा के मामले वापस लिये जायें
  • मप्र डिप्लोमा इंजीनियर्स ने मुख्यमंत्री को पदोन्नति को लेकर ज्ञापन सौंपा
  • ट्रक ड्राइवर के लिए निशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर, टोल और नाकों पर चलाया जागरूकता अभियान
  • केन्द्रीय मंत्री तोमर एवं प्रभारी मंत्री सिलावट ने अभय चौधरी के निवास पर पहुँचकर शोक संवेदनाएँ व्यक्त कीं
  • हमारा संकल्प है कि कोई भी गरीब मरीज धन के अभाव में इलाज से वंचित न रहे – मुख्यमंत्री चौहान
  • संगठित होकर ही कर सकते हैं एक दूसरे की मदद : श्याम श्रीवास्तव
  • राजनगर तहसील के अंतर्गत ग्राम चोबर के खला मे सिद्ध बाबा के पुण्य स्थान पर हुए यज्ञ मे सम्पूर्ण भारत वर्ष एवं विदेशी श्रद्धालुओं ने दी पूर्ण आहुति
  • रोटरी फाउंडेशन में दान करे : सुधीर त्रिपाठी
  • कमलनाथ और कांग्रेस भाजपा के लिये चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय
  • कैलाश ग्वालियर आये , पूरन भदौरिया की पत्नी को देखने अपोलो पहुंचे

कूट रचित दस्तावेजों से गाडियां फायनेंस कराने वाले तीन आरोपियों को दबोचा, १७ बाइक बरामद की

13-May-22 46
Sandhyadesh


ग्वालियर। ग्वालियर की क्राइम ब्रांच पुलिस ने एक फायनेंस  कंपनी में कुछ लोगों द्वारा कूट रचित दस्तावेज तथा फर्जी आधार कार्ड से मोटरसायकल फायनेंस कराने एवं किश्त जमा नहीं करने को लेकर मिली शिकायत के बाद जांच कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर १७ मोटरसायकल कीमत लगभग १४ लाख की बरामद कर ली है। वहीं पुलिस ने फर्जी दस्तावेज बनाने वाला कम्प्यूटर स्कैनर आदि सामान भी जब्त कर लिया है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राइम राजेश दंडोतिया ने पत्रकारों को बताया कि बजाज फायनेंस कंपनी के असिस्टेंट मैनेजर अनिरूद्ध पाण्डेय, के द्वारा ११ मई २२ को एक आवेदन दिया कि कुछ लोगों द्वारा कूट  रचित दस्तावेजों तथा फर्जी आधार कार्ड के आधार पर मोटर सायकिल फायनेंस कराने व किश्त जमा नहीं करा रहे हंै। एसएसपी द्वारा उक्त शिकायत को गंभीरता से लेते हुए एएसपी शहर पूर्व अपराध  राजेश डण्डोतिया को क्राईम ब्रांच की टीम से उक्त शिकायत की जांच कर आरोपियों के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध करने हेतु निर्देशित किया।
गत दिवस  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर को जरिये मुखबिर सूचना मिली कि फर्जी दस्तावेज के आधार पर बजाज कंपनी से मोटर सायकिल फायनेंस कराने वाले व्यक्तियों में से एक साथी को थाना महाराजपुरा क्षेत्रान्तर्गत आदित्यपुरम में देखा गया है। उक्त सूचना पर से एसएसपी ग्वालियर द्वारा अतिरिक्त  पुलिस अधीक्षक दंडोतिया को क्राईम ब्रांच की टीम के साथ आरोपी की गिरफ्तारी हेतु निर्देशित किया गया।

इस पर तत्काल डीएसपी अपराध  रत्नेश सिंह तोमर एवं  विजय सिंह भदौरिया के मार्गदर्शन में इंचार्ज थाना प्रभारी क्राईम ब्रांच निरीक्षक आरबीएस  विमल के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच की तीन टीमों को मुखबिर के बताये स्थान आदित्यपुरम पहुंची । क्राईम ब्रांच ने मुखबिर के बताए हुलिये के आधार पर एक संदिग्ध को पकडा । पकड़े गये व्यक्ति से पूछताछ करने पर उसने स्वयं को ग्राम डांग छेकुरी थाना मौ जिला भिण्ड हाल ग्रीनवुड स्कूल के पास आदित्यपुरम ग्वालियर का निवासी होना बताया। पकड़े गये व्यक्ति से उक्त प्रकरण के संबंध में पूछताछ करने पर उसने अपने साथियों के साथ मिलकर कूट  रचित दस्तावेज तैयार कर गाडियां फायनेंस कराना तथा किश्त न भरना स्वीकार किया। गाडियों के संबंध में पूछताछ करने पर उसने बताया कि उसने कुछ गाडियां अपने साथियों को दे दी हैं तथा 09 गाडियां बिक्री हेतु अपने पास घर में छिपाकर रखी है। पकड़े गये व्यक्ति की निशादेही पर पुलिस टीम द्वारा उसके घर से 02 बजाज कंपनी की मोटरसायकिल व 05 हीरो कंपनी की मोटरसायकिल तथा 01 टीव्हीएस कंपनी की अपाचे मोटरसायकिल तथा 01 टीव्हीएस कंपनी की जुपीटर स्कूटर कुल 09 गाडय़िां बरामद कर विधिवत जप्त की गई।

पकड़े गये व्यक्ति के साथ क्राईम ब्रांच की एक टीम को भिण्ड रवाना किया गया। क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा पकड़े गये व्यक्ति के दूसरे साथी को जिला भिण्ड स्थित अटेर रोड इंडियन पैट्रोल पम्प के पास से  धरदबोचा। पकड़े गये व्यक्ति से गाडय़िों के संबंध में पूछताछ करने पर उसने 08 गाडियां अपनी दुकान पर रखी होना बताया। पकड़े गये व्यक्ति की निशादेही पर पुलिस टीम द्वारा उसकी दुकान से हीरो कंपनी की 05 मोटर सायकिलए बजाज कंपनी की 02 मोटरसायकिल, टीव्हीएस कंपनी की 01 जुपीटर स्कूटर कुल 08 गाडियां  बरामद की जाकर विधिवत जप्त की गई। पकड़े गये व्यक्तियों की निशादेही पर क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा उनके तीसरे साथी को शिवाजी नगर मोहल्ला भिण्ड से धरदबोचा। पकड़े गये तीसरे साथी से पूछताछ करने पर उसने बताया कि नगर पालिका के पास उसकी ऑनलाइन की दुकान है जहां पर मैने यह सभी फर्जी दस्तावेज तैयार किये थे।

क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा पकड़े गये तीसरे व्यक्ति की निशादेही पर उसकी दुकान से एक लेपटॉप, एक प्रिंटर एवं एक फिंगर प्रिंट मशीन को जप्त किया ।  क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा पकड़े गये तीनों व्यक्तियों को थाना अपराध शाखा के अपराध क्रमांक 28/22 धारा 420,467,468,471 भारतीय दंड संहिता के प्रकरण में गिरफ्तार किया जाकर उनसे बाकी गाडियों  तथा उनके अन्य साथियों के संबंध में पूछताछ की जा रही है एवं पकड़े गये आरोपियों के पूर्व के आपराधिक रिकॉर्ड के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की जा रही है।
उक्त कार्यवाही में उप निरीक्षक नितिन छिल्लर, सहायक उप निरीक्षक राजकुमार राजावत, राजीव सोलंकी, दिनेश सिंह तोमर , प्रधान आरक्षक  जितेन्द्र सिंह तोमर, घनश्याम जाट, मनोज एस0, रामबाबू सिंह, भगवती सोलंकी, अनिल गुप्ता, आरक्षक  विद्याचरण, नवीन पाराशर, आशीष शर्मा, गौरव आर्य, देवेश कुमार, राहुल यादव, विकास तोमर, योगेन्द्र तोमर, सोनु परिहार, नरवीर राणा, रणवीर यादव, पवन झा की सराहनीय भूमिका रही।    

Popular Posts