BREAKING!
  • दो अप्रैल २०१८ हिंसा के मामले वापस लिये जायें
  • मप्र डिप्लोमा इंजीनियर्स ने मुख्यमंत्री को पदोन्नति को लेकर ज्ञापन सौंपा
  • ट्रक ड्राइवर के लिए निशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर, टोल और नाकों पर चलाया जागरूकता अभियान
  • केन्द्रीय मंत्री तोमर एवं प्रभारी मंत्री सिलावट ने अभय चौधरी के निवास पर पहुँचकर शोक संवेदनाएँ व्यक्त कीं
  • हमारा संकल्प है कि कोई भी गरीब मरीज धन के अभाव में इलाज से वंचित न रहे – मुख्यमंत्री चौहान
  • संगठित होकर ही कर सकते हैं एक दूसरे की मदद : श्याम श्रीवास्तव
  • राजनगर तहसील के अंतर्गत ग्राम चोबर के खला मे सिद्ध बाबा के पुण्य स्थान पर हुए यज्ञ मे सम्पूर्ण भारत वर्ष एवं विदेशी श्रद्धालुओं ने दी पूर्ण आहुति
  • रोटरी फाउंडेशन में दान करे : सुधीर त्रिपाठी
  • कमलनाथ और कांग्रेस भाजपा के लिये चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय
  • कैलाश ग्वालियर आये , पूरन भदौरिया की पत्नी को देखने अपोलो पहुंचे

कांग्रेस ने पिछडा वर्ग का संकट पैदा किया : रणवीर रावत

13-May-22 72
Sandhyadesh

ग्वालियर। भारतीय जनता पार्टी नेताओं का मानना है कि पिछडा वर्ग आरक्षण का संकट कांग्रेस पार्टी ने जानबूझकर खडा किया। उन्होने कहा कि कांग्रेस पिछडा वर्ग के लोगों को भ्रमित कर रही है। उन्होने यह भी कहा कि उनकी पार्टी नगरीय निकाय के चुनाव होने पर २७ प्रतिशत पिछडा वर्ग के लोगों को टिकट देगी।
भाजपा के प्रदेश महामंत्री रणवीर रावत , मप्र के मंत्री प्रद्युम्र सिंह और सांसद विवेक शेजवलकर ने पत्रकारों से चर्चा करते हुये कहा कि कांग्रेस के लोगों ने ही मामले को न्यायालय में ले जाकर तूल दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पिछडा वर्ग का हित नहीं चाहती इसलिये कांग्रेस ने नगरीय निकाय और पंचायत के चुनावों से पहले मामले को न्यायालय में लटकाने का प्रयास किया।
उन्होंने कहा कि भाजपा सर्वोच्च न्यायालय में पुर्न विचार याचिका प्रस्तुत की है। अब न्यायालय जो भी फैसला करेगा उसे स्वीकार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में ४८ प्रतिशत पिछडा वर्ग के लोग हैं इसे लेकर जो आयोग बनाया था उसने ६०० पन्नों की रिपोर्ट सरकार को सौंपी। उन्होने कहा कि किसी भी रिपोर्ट पर सौ प्रतिशत आरक्षण दिया नहीं जा सकता इसलिये हमने ३५ प्रतिशत आरक्षण की मांग की है।
उन्होंने यह भी कहा कि अब पार्टी ने निर्णय किया है कि पार्टी नगरीय निकायों और पंचायत चुनावों में २७ प्रतियात के हिसाब से ही टिकट वितरण करेगी। भले ही न्यायालय कैसा भी फैसला दे। उन्होने कहा कि कांग्रेस तो बिना आरक्षण के ही चुनाव कराना चाहती थी।
कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह द्वारा भाजपा के मंहगाई , बेरोजगारी , बढे पेट्रोल, डीजल , गैस के दामों से भयभीत होने के कारण चुनाव नहीं कराना चाहती के उत्तर में महामंत्री रणवीर रावत ने मात्र यह कहा कि कोरोना काल में सरकार द्वारा लोगों की मदद की और वैक्सीन सभी को निशुल्क लगाये जाने में काफी पैसा खर्च हुआ है इसलिये मंहगाई बढी है। इसके अलावा वह कोई सटीक जबाब चुनाव में जाने के मामले में बगलें झांकते रहे।
पत्रकार वार्ता में जिलाध्यक्ष भाजपा कमल माखीजानी, पिछडा वर्ग जिलाध्यक्ष मुलायम सिंह यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष पिछडा वर्ग संगठन सुशील राणा आदि मौजूद थे।




Popular Posts