BREAKING!
  • दो अप्रैल २०१८ हिंसा के मामले वापस लिये जायें
  • मप्र डिप्लोमा इंजीनियर्स ने मुख्यमंत्री को पदोन्नति को लेकर ज्ञापन सौंपा
  • ट्रक ड्राइवर के लिए निशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर, टोल और नाकों पर चलाया जागरूकता अभियान
  • केन्द्रीय मंत्री तोमर एवं प्रभारी मंत्री सिलावट ने अभय चौधरी के निवास पर पहुँचकर शोक संवेदनाएँ व्यक्त कीं
  • हमारा संकल्प है कि कोई भी गरीब मरीज धन के अभाव में इलाज से वंचित न रहे – मुख्यमंत्री चौहान
  • संगठित होकर ही कर सकते हैं एक दूसरे की मदद : श्याम श्रीवास्तव
  • राजनगर तहसील के अंतर्गत ग्राम चोबर के खला मे सिद्ध बाबा के पुण्य स्थान पर हुए यज्ञ मे सम्पूर्ण भारत वर्ष एवं विदेशी श्रद्धालुओं ने दी पूर्ण आहुति
  • रोटरी फाउंडेशन में दान करे : सुधीर त्रिपाठी
  • कमलनाथ और कांग्रेस भाजपा के लिये चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय
  • कैलाश ग्वालियर आये , पूरन भदौरिया की पत्नी को देखने अपोलो पहुंचे

सड़क पर आपके अधिकारों का हनन, और आपकी चुप्पी

10-May-22 53
Sandhyadesh

नगर से महानगर बनते जा रहे अपने शहर की सड़कों पर यातायात का दबाव बढ़ता जा रहा है। सड़को पर वाहनों की संख्या अनियंत्रित रूप से बढ़ती जा रही है। इसके साथ ही बढ़ता जा रहा है एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचने में लगने वाला समय। कई बार तो कुछ किलोमीटर की दूरी तय करने में घण्टों लग जाते है। इस अनियंत्रित यातायात से हर कोई परेशान है।


इस अति व्यस्त यातायात को थोड़ा बेहतर और सुगम बनाने के लिए शहर के कई व्यस्त चौराहों पर बड़ी मशक्कत से लेफ्ट टर्न बनाये गए है, इनको बनाने के लिए शहर के गणमान्य नागरिकों ने उदारता से अपनी निजी जमीन भी दी है, कुछ लोगों ने तो अपना वैध निर्माण भी तोड़ा है, और तो और यह लेफ्ट टर्न स्पष्ट दिखाई पड़े इसलिए पुलिस ने बेरिकेड्स भी लगाए है, ताकि लेफ्ट जाने वाले ट्रैफिक का दबाव चौराहे पर कम हो। लेकिन हम क्या करते हैं, हम अक्सर चौराहे पर लेफ्ट टर्न को ब्लॉक करके खड़े हो जाते है। कुछ ज्यादा उत्साही वाहन चालक तो लेफ्ट टर्न से निकल कर चलते ट्रैफिक में चौराहा क्रॉस कर सामने वाली लाल बत्ती में घुसने का खतरनाक स्टंट करते हुए भी दिखाई पड़ते है, कुछ जगहों पर तो लोगों ने लेफ्ट टर्न को रांग साइड से आने का जरिया भी बना रखा है ।
बेहद खतरनाक और शर्मनाक ये वाकये शहर के कई चौराहों पर अक्सर दिखाई पड़ते है। प्रशासन द्वारा निर्मित लेफ्ट टर्न स्पष्ट दिखाई पड़ता है, पीली पट्टीयों वाला सॉलिड स्ट्रक्चर बना हुआ है। लेकिन फिर भी कुछ सेकंड बचाने के चक्कर में हम खुद की और दुसरों की जान से खिलवाड़ करते है और नियम तोड़ते हुए वाहन चलाने पर किसी दुर्घटना के घट जाने पर हम सब पुलिस और प्रशासन को कोसते लगते हैं कि उन्होंने नियम तोड़ने वालों को क्यों नहीं रोका। लेकिन जरा सोचिए क्या नियम पालन करवाने की सारी जिम्मेदारी पुलिस और प्रशासन की ही है हमारी अपनी कोई जिम्मेदारी नहीं बनती है कि हम स्वयम नियमों का पालन करें और सुरक्षित रहें ।

जैसे एक मछली तालाब को गंदा करती है या पहली भेड के आगे चलने पर भेड़ चाल बनती है, वैसे ही लेफ्ट टर्न से निकल कर सबसे आगे खड़े होने की शरुआत होती है एक वाहन से, फिर एक से दो होते है, फिर उनको देखकर तीसरा आता है और फिर उनकी देखा देखी भेड़ों की तरह व्यवहार करते हुए कई वाहन चालक लेफ्ट टर्न में घुसकर खड़े हो जाते हैं और लेफ्ट टर्न को ब्लॉक कर देते हैं।
यह सब होते हुए हम रोजाना देखते हैं लेकिन प्रशासन को कोसने वाले हम आम लोग इन नियम तोड़ने वालोँ को देखकर अपनी आंख मूंद लेते है।

एक स्वतंत्र देश के नागरिक होने के नाते क्या आप पसन्द करेंगे कि कोई आपका अधिकार आप से छीन ले, क्या आप पसन्द करेंगे कि कोई आपको आपके लिए बनाई गई सुविधा का उपयोग ना करने दे ? आपका जवाब होगा नही , कतई नहीं और आप अपने अधिकार को छिनने वाले के  खिलाफ आवाज भी उठाएंगे।

तो जब आपको यह पसन्द नहीं कि कोई दूसरा आपका अधिकार आपसे छीने तो आप क्यों दूसरों का हक मारते हैं, क्यों उनको दी गई सुविधा का उपयोग उनको नहीं करने देते, यह एक गलत बात है, बहुत ही गलत बात है। आप भली भांति जानते हैं कि चौराहों पर लेफ्ट टर्न का निर्माण, लेफ्ट जाने वालों के लिए किया गया है, यातायात को सुगम बनाने के लिए किया गया है, लेकिन आप  वहां अपनी गाड़ी घुसाकर लेफ्ट टर्न को ब्लॉक कर देते है, आपको सीधे जाना है लेकिन आप लेफ्ट टर्न को खाली देखकर वहां अपना वाहन खड़ा कर देते है, ऐसा करके आप ना सिर्फ नियम तोड़ते है बल्कि दूसरों के अधिकार का हनन करने के भी दोषी बन जाते है, लेफ्ट जाने वालों के लिए बनाई गई सुविधा को छीनने के अपराधी बन जाते है । याद रखिये कभी आपको भी लेफ्ट जाना होता है और कोई आप ही की तरह ढीठता से लेफ्ट टर्न ब्लॉक कर रहा होगा और तब आपको उस पर गुस्सा आएगा, हो सकता है कि आप उसके बारे में मन ही मन अपशब्दों का भी प्रयोग करें, जरा सोचिए कि यही सबकुछ आपके लिए भी होता होगा जब आप लेफ्ट टर्न ब्लॉक करके खड़े होते है । 

सड़क पर वाहन चलाते समय दूसरों के अधिकार का सम्मान करते हुए लेफ्ट टर्न को ब्लॉक ना करें अपनी लाइन में ही रहें । अपने ही देश के कानून और नियमों का उल्लंघन लज्जास्पद ही नहीं बल्कि एक शर्मनाक कृत्य भी है। स्वतंत्रता से पहले अंग्रेजों के बनाये कानून को तोड़ना देशभक्ति माना जाता था लेकिन अब तो हम आजाद है, हमारा अपना देश है, हमारी अपनी चुनी हुई सरकार है, अब हम अपने ही देश के कानून और नियमों की धज्जियां क्यों उड़ाते हैं। कृपया अपने देश के कानून और नियमों का सम्मान पूर्वक पालन कर अपनी देशभक्ति का परिचय दें और गर्व से मस्तक ऊंचा रखें ।

जब भी आप किसीको लेफ्ट टर्न ब्लॉक करते हुए देखें तो चुप ना रहें, अपने अधिकार के लिए एक आवाज जरूर लगाएं, "अरे ओ भिया" ।

-लेखक राजकुमार जैन (स्वतंत्र विचारक) स्वतंत्र लेखन करते हैं एवं वह सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं।

Popular Posts