BREAKING!
  • दो अप्रैल २०१८ हिंसा के मामले वापस लिये जायें
  • मप्र डिप्लोमा इंजीनियर्स ने मुख्यमंत्री को पदोन्नति को लेकर ज्ञापन सौंपा
  • ट्रक ड्राइवर के लिए निशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर, टोल और नाकों पर चलाया जागरूकता अभियान
  • केन्द्रीय मंत्री तोमर एवं प्रभारी मंत्री सिलावट ने अभय चौधरी के निवास पर पहुँचकर शोक संवेदनाएँ व्यक्त कीं
  • हमारा संकल्प है कि कोई भी गरीब मरीज धन के अभाव में इलाज से वंचित न रहे – मुख्यमंत्री चौहान
  • संगठित होकर ही कर सकते हैं एक दूसरे की मदद : श्याम श्रीवास्तव
  • राजनगर तहसील के अंतर्गत ग्राम चोबर के खला मे सिद्ध बाबा के पुण्य स्थान पर हुए यज्ञ मे सम्पूर्ण भारत वर्ष एवं विदेशी श्रद्धालुओं ने दी पूर्ण आहुति
  • रोटरी फाउंडेशन में दान करे : सुधीर त्रिपाठी
  • कमलनाथ और कांग्रेस भाजपा के लिये चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय
  • कैलाश ग्वालियर आये , पूरन भदौरिया की पत्नी को देखने अपोलो पहुंचे

प्रोफेसर को दस हजार की रिश्वत लेते ईओडब्ल्यू ने दबोचा

21-Dec-21 5338
Sandhyadesh

ग्वालियर। आर्थिक अनुसंधान अन्वूषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) ने आज  विजयाराजे शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्रोफेसर  डाक्टर बीडी मानिक  को पीएचडी कराने में थीसिस पर साइन करने के नाम पर दस हजार रूपये की रिश्वत लेते हुये दबोचा है।
पुलिस अधीक्षक ईओडब्ल्यू अमित सिंह ने बताया कि नई दिल्ली नजफगढ़ निवासी अवनीश कुमार ने ईओडब्ल्यू को शिकायत की कि  विजयाराजे शासकीय कन्या महाविद्यालय मुरार के प्रोफेसर  डाक्टर बीडी मानिक ने थीसिस पर साइन करने के नाम पर ५१००० रूपये की मांग की थी। इसकी पहली किश्त के रूप में दस हजार रूपये आज अवनीश ने जैसे ही दिये वैसे ही ईओडब्ल्यू ने उन्हें रंगे हाथों दबोच लिया। ईओडब्ल्यू ने आरोपीप्रोफेसर के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। आवेदक बीसीए, एमसीए ,संगीत में मास्टर डिग्री के बाद जीवाजी विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहा था। प्रोफेसर डाक्टर मानिक उसके गाइड थे।

Popular Posts