BREAKING!
  • गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर जगमगाता ग्वालियर स्टेशन
  • मंडल रेल प्रबंधक ने विद्युत लोको शेड के अंतर्गत ट्रिप शेड का किया निरीक्षण
  • मोदी जी की तारीफ से गद-गद हो गई उमा भारती , मध्यप्रदेश में कुछ ...?
  • केन्द्रीय बजट में बिजनिसमेन प्रोटेक्शन स्कीम की मांग करेगा चेम्बर ऑफ कॉमर्स
  • महाराणा प्रताप के अपमान को लेकर विद्यार्थी परिषद का विरोध प्रदर्शन
  • लोकतंत्र की मजबूती में निभाएं सहभागिता : मीणा
  • जागरुक एवं सशक्त मतदाता बन लोकतंत्र में निभाएं भागीदारी : जायसवाल
  • बूथ विस्तारक अभियान में डॉ अभिलाश पांडेय शामिल हुये
  • मेला व्यापारी संघ ने राजमाता विजयाराजे सिंधिया की पुण्यतिथि पर फल वितरित किये
  • राष्ट्रोत्थान न्यास में एक्यूप्रेशर शिविर का समापन कल, सांसद करेंगे

भारतरत्न अटल जी की यादों को संजोने के लिए गोरखी में बनेगा भव्य स्मार्ट म्यूजियम

04-Dec-21 53
Sandhyadesh

सांसद  शेजवलकर की अध्यक्षता में स्मार्ट सिटी एडवायजरी फोरम की बैठक सम्पन्न
सांसद ने कहा विकास कार्यों की देखरेख और मॉनीटरिंग की पुख्ता व्यवस्था हो
ग्वालियर / पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की यादों को संजोने के लिए गोरखी स्कूल परिसर में स्मार्ट म्यूजियम बनाया जाएगा। म्यूजियम में बनने वाली आधा दर्जन गैलरी में अटल जी के सम्पूर्ण जीवन से जुड़े विभिन्न पहलुओं को स्मार्ट तरीके से संजोया जाएगा। इस आशय की जानकारी सांसद  विवेक नारायण शेजवलकर की अध्यक्षता में आयोजित हुई स्मार्ट एडवाइजरी फोरम की बैठक में दी गई। महाराज बाड़ा स्थित गोरखी वही स्कूल है जिसमें भारत रत्न स्व अटल विहारी वाजपेयी ने प्रारंभिक शिक्षा का ककहरा सीखा था।
सांसद  शेजवलकर ने कहा अटल म्यूजिम को पूरी भव्यता प्रदान की जाये जिससे सैलानियों को अटल जी से संबंधित सभी प्रकार की प्रेरणादायी जानकारी मिल सके। उन्होंने स्मार्ट सिटी के तहत ग्वालियर शहर में जुड़ रहे आयामों के रख-रखाव और  संधारण की पुख्ता व्यवस्था करने पर भी विशेष बल दिया। उन्होंने कहा विकास कार्यों के संधारण की व्यवस्था ऐसी हो जिससे शहरवासियों को विकास कार्यों का लाभ लंबे समय तक मिल सके।
शनिवार को मोतीमहल के मान सभागार में  आयोजित हुई  बैठक में  प्रस्तावित बायो डायवर्सिटी पार्क, स्वर्णरेखा नदी का  विकास, अंतरराज्यीय बस टर्मिनल, ग्वालियर शहर के प्रवेश द्वार और स्मार्ट स्कूल शिक्षा नगर सहित स्मार्ट सिटी से संबंधित अन्य विकास कार्यों पर भी विचार मंथन हुआ।
विधायक  प्रवीण पाठक, भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी, कलेक्टर   कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक  अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त  किशोर कान्याल, स्मार्ट सिटी की सीईओ श्रीमती जयति सिंह सहित एडवायजरी फोरम के सदस्य गण सर्व श्री राजेन्द्र सेठ, कुलदीप भारद्वाज व डॉ. सत्यप्रकाश शर्मा सहित अन्य सदस्यगण व विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
सांसद  विवेक नारायण शेजवलकर ने बैठक में कहा शहर में स्मार्ट सिटी के माध्यम से शहर की स्वच्छता की मॉनीटरिंग  को और प्रभावी बनाया जाए। कंट्रोल कमाण्ड सेंटर के माध्यम से आम जनों को  निगम द्वारा कचरा प्रबंधन के तहत किए जा रहे कार्यों की जानकारी एसएमएस के माध्यम से उपलब्ध कराने के प्रयास हों। उन्होंने कहा स्मार्ट सिटी का कंट्रोल कमाण्ड सेंटर ग्वालियर के लिये एक बड़ी सौगात है।  इसका शहर के विकास में अधिकतम उपयोग किया जाए।  शेजवलकर ने कहा स्वर्ण रेखा नदी रिवर फ्रंट एरिया सहित अन्य विकास कार्यों के लिए विस्तृत योजना तैयार करें और एडवाइजरी फोरम तथा अन्य जनप्रतिनिधियों की सहमति के बाद ही इसे अंतिम रूप दें।
विधायक  प्रवीण पाठक ने भी स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे कार्यों में संधारण और मॉनीटरिंग की प्रभावी व्यवस्था बनाने का सुझाव दिया। भाजपा जिला अध्यक्ष  कमल माखीजानी ने स्मार्ट सिटी के तहत आर्टिस्ट कैम्प आयोजित करने का सुझाव दिया। इनके अलावा  राजेन्द्र सेठ, कुलदीप भारद्वाज तथा डॉ. सत्यप्रकाश शर्मा सहित अन्य सदस्यों ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिए।
कलेक्टर  कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा ग्वालियर शहर में स्वच्छता के काम में  स्मार्ट सिटी द्वारा तकनीकी सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने  नगर निगम आयुक्त से कहा कि सड़क और दुकान के सामने कचरा पाए जाने पर जुर्माने की कार्रवाई से पहले कचरा संग्रहण की पुख्ता व्यवस्था करें। इस व्यवस्था के बारे में दुकानदारों को भी जानकारी दी जाए और स्वच्छता कार्यक्रम में उन्हें भी भागीदार बनाएँ।
नगर निगम आयुक्त  किशोर कान्याल ने बैठक में बताया कि नगर निगम द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण की तैयारियों के लिये विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। शहर के सभी वार्डों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की व्यवस्था निगम द्वारा की गई है। स्वच्छता के कार्य को प्रभावी रूप से करने के लिये वार्ड मॉनीटर बनाने के साथ-साथ जिला प्रशासन की ओर से सभी वार्डों में एक – एक जिला स्तरीय अधिकारी को भी प्रभारी बनाया गया है। स्वच्छता के साथ-साथ पानी की उपलब्धता और गंदे पानी की शिकायतों के निराकरण के लिये भी स्मार्ट सिटी के कंट्रोल कमाण्ड सेंटर द्वारा सकारात्मक सहयोग प्राप्त हो रहा है। कचरा गाड़ियों की निगरानी भी कंट्रोल कमाण्ड सेंटर के माध्यम से की जा रही है।
स्मार्ट सिटी की सीईओ श्रीमती जयति सिंह ने स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत कैंसर पहाड़िया के समीप बनाये जाने वाले अत्याधुनिक बायो डाइवर्सिटी पार्क व आईएसबीटी सहित अन्य कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ग्वालियर स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत डिजिटल म्यूजियम व टाउन हॉल, स्मार्ट पार्क, स्मार्ट खेल मैदान सहित कई महत्वपूर्ण परियोजनाये पूर्ण हो चुकी हैं। जिसका लाभ जनता को मिल रहा है। वहीं डिजिटल लाइब्रेरी, कटोराताल, चौपाटी, ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्व की इमारतों पर फसाड लाइटिंग जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं भी पूर्ण हो चुकी हैं। उन्होंने इन सभी स्मार्ट विकास कार्यों के बारे में प्रजेण्टेशन के माध्यम से बैठक में उपस्थित सदस्यो को सिलसिलेवार जानकारी दी। उन्होंने स्मार्ट सिटी बस सेवा के तहत इंट्रा और इंटर सिटी बस योजना के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस सेवा के तहत  80 स्मार्ट बसें चलाई जाएँगी। बैठक में बाइक शेयरिंग, स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम व शहर में एलईडी लाइटिंग लगाने सहित अन्य विकास कार्यों की भी समीक्षा हुई।

हुजरात मंडी क्षेत्र में बनेगी स्मार्ट मार्केट

स्मार्ट सिटी की सीईओ श्रीमती जयति सिंह ने बैठक में जानकारी दी कि हुजरात मंडी क्षेत्र में स्मार्ट मार्केट बनाई जाएगी। इस संबंध में   नगर निगम, स्मार्ट सिटी और एमपीसीसीआई  के बीच त्रिस्तरीय एमओयू  हुआ है।  जल्द ही अब यहाँ निर्माण प्रक्रिया शुरु कर दि जायेगी।

एडवाइजरी फोरम को दिखाए जाएँगे स्मार्ट सिटी के काम

बैठक में  निर्णय लिया गया कि स्मार्ट सिटी के द्वारा शहर में विकास कार्यों के जो आयाम जोड़े गए हैं उन्हें स्मार्ट सिटी एडवाइजरी फोरम के सदस्यों को दिखाया जाए। साथ ही उनसे मिले महत्वपूर्ण सुझावों को भी शहर विकास की योजनाओं के क्रियान्वयन में शामिल करें।

Popular Posts