BREAKING!
  • माताप्रसाद शुक्ल हिन्दी साहित्य सम्मेलन के जिलाध्यक्ष मनोनीत
  • अधिकतर अपराधिक घटनायें नशें की वजह से होती है- गौतम
  • कांग्रेस ने लोकतंत्र रक्षा के लिये निकाला पैदल मार्च
  • आजाद अध्यापक संघ ने किया संगठन का पुनर्गठन
  • सचिन बने मिस्टर इंडिया
  • प्रदेश वासियों को वैक्सीन का बुस्टर डोज दिया जाय: कैट
  • तीन दिवसीय विरासत बचाओ -राष्ट्रीय जल सम्मेलन दस से ,सिंधिया करेंगे शुभारंभ
  • वरिष्ठ अधिकारियों को जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ने लगाए फ्लैग
  • राजनैतिक कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण वर्ग -- भाजपा ने बदले राजनीति के मायने
  • मानव कुष्ठ आश्रम के रहवासियों ने स्वच्छता के लिए धन्ना सेठों के खिलाफ राम धुन बजाई

Sandhyadesh

ताका-झांकी

औद्योगिक क्षेत्रों की समस्याओं के निदान हेतु संयुक्त कमेटी का होगा गठन : संभागीय आयुक्त

09-Oct-21 38
Sandhyadesh

- औद्योगिक क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान हेतु चेम्बर भवन में हुआ बैठक का आयोजन
ग्वालियर। औद्योगिक क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान हेतु आज एक वृहद बैठक का आयोजन नगर सरकार के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, संभागीय आयुक्त-ग्वालियर संभाग आशीष सक्सैना, जिलाधीश ग्वालियर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, आयुक्त नगर निगम किशोर कान्याल, डीआईसी के महाप्रबंधक अरविन्द बोहरे, डीपीओ राजीव कुमार सिंह, म.प्र.म.क्षे.वि.वि.कं.लि. उप महाप्रबंधक अरूण कुमार शर्मा,  पी.के. हजेला, राजकुमार मालवीय उपस्थित रहे। बैठक के प्रारंभ में एमपीसीसीआई के पदाधिकारियों द्बारा अतिथियों का बुके देकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर अपने स्वागत उद्बोधन में एमपीसीसीआई अध्यक्ष-विजय गोयल ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र की समस्याओं के लिए आयोजित आज इस बैठक में नगर सरकार के समस्त वरिष्ठ अधिकारियों का हार्दिक अभिनंदन  है, आशा है कि  हमारी बैठक सकारात्मक परिणाम के साथ सम्पन्न होगी।
बैठक में औद्योगिक क्षेत्र-महाराजपुरा, बाराघाटा, तानसेन नगर, श्री श्‍यामाप्रसाद मुखर्जी, शंकरपुर एवं गिरवाई औद्योगिक क्षेत्र के प्रतिनिधियों ने अवगत कराया कि उनके क्षेत्र में सीवर, पानी निकासी, स्ट्रीट लाईट, अतिक्रमण असामाजिक तत्वों का जमावड़ा सहित सड़कों की समस्याएं प्रशासनिक अधिकारियों के सम्मुख प्रस्तुत कीं। साथ ही, महाराजपुरा औद्योगिक क्षेत्र के अध्यक्ष संजय कपूर ने औद्योगिक क्षेत्र के प्रवेश द्बार पर अवैध रूप से खण्डे एवं रेत की खड़ी होने वाली ट्रेक्टर-ट्रॉली से आवागमन में आ रही बाधा को प्रमुख रूप से उठाया।  श्री श्‍यामाप्रसाद मुखर्जी औद्योगिक क्षेत्र के अध्यक्ष आशीष वैश्‍य ने कहा कि ग्वालियर में औद्योगिक विकास के लिए बहुत पोटेंशियल है और हमें ग्वालियर को इंवेस्टमेंट डेस्टीनेशन बनाना है, इसके लिए वृहद स्तर पर प्रयास होने चाहिए। ग्वालियर की ब्राण्डिंग हो तो यहां पर निवेश की असीम संभावनायें हैं। इस पर संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना ने सहमति जताते हुए कहा कि आपका विचार बहुत सराहनीय है और हम इस पर त्वरित गति से कार्य करना चाहते हैं, आप चेम्बर के सहयोग से हमें एक रिपोर्ट बनाकर दें, जिस पर आगे कार्य हो सके। इस पर मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने आगामी 18 अक्टूबर,21 को इस पर उद्योगपतियों के साथ बैठक आयोजित कर, कार्यवाही की बात कही। इसी औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमी सुनील मंगल ने अवगत कराया कि उनके यहां कचड़े का काफी दिनों से ढेर लगा है, जिसके कारण उद्योगपतियों को काफी परेशानी हो रही है, आपकी इस समस्या का आयुक्त नगर निगम कान्याल जी ने त्वरित संज्ञान लेते हुए वहां के जेडओ को बैठक के दौरान ही निर्देशित किया जिसके परिणाम स्वरूप वहां से निगमकर्मियों द्बारा कचरा उठाने की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई।
तानसेन नगर औद्योगिक क्षेत्र के अध्यक्ष जगदीश मित्तल ने कहा कि हमारे औद्योगिक क्षेत्र में लगभग 1500 श्रमिक काम करते हैं, यदि किसी इकाई में कोई दुर्घटना घटित हो जाये तो इस औद्योगिक क्षेत्र से निकासी का केवल एक ही गेट वर्तमान में मौजूद जबकि पूर्व में तीन गेट थे, जिनमें से दो प्रवेश द्बार अतिक्रमण की भेंट चढ चुके हैं। अत: इन्हें अतिक्रमण से मुक्त कराया जाये। तानसेन नगर औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमी सुरेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि हमारे औद्योगिक क्षेत्र के आस-पास असामाजिक तत्वों का जमावड़ा है, जो कि प्रतिदिन अपराधिक कृत्यों को अंजाम देते रहते हैं। इससे हम सभी उद्योगपति भयभीत रहते हैं। इस पर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने कहा कि आज से ही वहां पेट्रोलिंग की जायेगी और यह नियमित होगी यदि आपके औद्योगिक क्षेत्र में कोई पुलिस चौकी के लिए स्थान आरक्षित हो तो वहां पर पुलिसकर्मियों को तैनात भी किया जायेगा।  ललित गुप्ता एवं श्री ओमप्रकाश अग्रवाल द्बारा बिरलानगर इण्डस्ट्रियल एरिया में दिन के समय भारी वाहनों के लोडिंग अनलोडिंग हेतु आने की बात कही। आपने कहा कि जिलाधीश महोदय के आदेशानुसार महाराजपुरा क्षेत्र तक तो यह वाहन आते हैं परंतु हमारे औद्योगिक क्षेत्र में नहीं जबकि आदेश में क्षेत्र का नाम है, परंतु आदेश के अंत में क्षेत्र का नाम नहीं होने से यह परेशानी होती है। इस पर जिलाधीश कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि आप चेम्बर के माध्यम से हमें संशोधन का ड्रॉफ्ट प्रेषित करें, शीघ्र ही इस पर कार्यवाही होगी।
बाराघाटा औद्योगिक क्षेत्र से संतोख सिंह ने कहा कि हमारे क्षेत्र में भी अतिक्रमण बढ रहा है, बाहरी लोगों ने अतिक्रमण पक्के शेड बना लिये हैं। स्ट्रीट लाईट बंद है, उनका मेंटीनेंस नहीं होता है, तथा नालियों का मिलान नहीं है। संदीप नारायण अग्रवाल ने कहा कि तानसेन नगर इण्डस्ट्रियल एरिया में नालियों के पानी का निकास आरओबी बनने से बाधित हो गया है, इसके कारण बरसात के समय हमारी इकाई में एक से डेढ फीट तक पानी भर जाता है। पानी निकासी के लिए हम आवश्‍यक सामग्री भी उपलब्ध करवाने को तैयार हैं। इस पर आयुक्त नगर निगम शीघ्र कार्य कराने की बात कही। रामनिवास अग्रवाल ने कहा कि मालनपुर औद्योगिक क्षेत्र की इकाईयों द्बारा अवगत कराया गया है कि उनके यहां से जो वाहन माल लेकर ग्वालियर शहर में आते हैं उनसे महाराजपुरा के नजदीक निगम ठेकेदार अवैध वसूली की जाती है। निगमायुक्त श्री कान्याल द्बारा शिकायत पर ठेकेदार के विरूद्घ कार्यवाही की बात कही। स्टोन इण्डस्ट्रीज से  सत्यप्रकाश शुक्ला ने कहा कि एक्सपोर्ट के लिए एक ट्रेन प्रारंभ की गई। एक्सपोर्ट के लिए खदानों से कच्चे माल की आवश्‍यकता है परंतु खदानों के लिए आवेदन लंबित हैं। कृपया आवेदनों पर शीघ्र कार्यवाही करें। इस पर जिलाधीश महोदय ने कहा कि आप मेरे पास आइये, इस पर तुरंत कार्यवाही की जायेगी। लघु उद्योग भारती से सोबरन सिंह तोमर ने बताया कि शंकरपुर और गिरवाई पूर्व में पंचायत के तहत आते थे अब नगर निगम सीमा में आ गये हैं वहां पर जो औद्योगिक इकाईयां स्थापित हैं, उन्हें औद्योगिक क्षेत्र की मान्यता देते हुए उन्हें आधारभूत सुविधायें उपलब्ध करवाई जायें।
एमपीसीसीआई अध्यक्ष-विजय गोयल ने कहा कि हमें अपने शहर को नेक्स्ट लेवल पर लेकर जाना है, इसलिए हम सभी अपनी जिम्मेदारियों का भी निर्वाहन करें, समय पर सम्पत्ति कर जमा करेें और शहर विकास के लिए इंदौर की तर्ज पर सोचें तो हमारा शहर भी शीघ्र विकसित हो जायेगा। उपाध्यक्ष-पारस जैन ने कहा कि जिस प्रकार औद्योगिक क्षेत्रों के साथ नगर सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक की है, इसी प्रकार बाजारों की एसोसिएशनों के साथ भी प्रशासनिक अधिकारी बैठक करेंगे तो वहां की समस्याओं का शीघ्र निदान हो सकेगा और हमारा शहर स्वच्छ, सुंदर व सुव्यवस्थित बनेगा। बैठक में निगमायुक्त कान्याल ने अपने उद्बोधन में कहा कि शहर हमारा है और शहरवासी ही शहर को बनाते हैं, हम शहर विकास के लिए जो भी कार्य करें, वह धरातल पर करें। मेरा लक्ष्य है कि शहर से 200 करोड़ रूपये टैक्स के रूप में प्राप्त हों, यदि सभी अपना कर समय पर जमा करेंगे तो आप सोचिए कि यदि शहर की सड़कों पर 100 करोड़ खर्च कर दिये जायेंगे तो शहर की सड़कें कैसी दिखेंगी। चेम्बर ऑफ कॉमर्स ने सम्पत्ति कर शिविर के तहत 1 करोड़ 32 लाख से ज्यादा की राशि जमा करवाने में सहयोग प्रदान किया, इसके लिए मैं चेम्बर की प्रशंसा करता हूं। हम आपको बेहतर शहर देंगे, यह हमारा वायदा है। पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने अपने उद्बोधन में कहा कि इस बैठक से अच्छे परिणाम निकलेेंगे। औद्योगिक क्षेत्रों में को सुरक्षित वातावरण प्रदान करना, पुलिस की जिम्मेदारी है। मेरा यह प्रयास होगा कि आप हमें जो शिकायत/सूचना दें उस पर त्वरित कार्यवाही की जाये। पुलिस विभाग का पूर्ण सहयोग आपको प्राप्त होगा। जिलाधीश कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि इस बैठक के लिए हम चेम्बर ऑफ कॉमर्स का शुक्रिया अदा करते हैं, आज की बैठक में जो समस्याएं आयी हैं, उन पर त्वरित कार्यवाही की जायेगी और हम टाइम लिमिट बैठक में इसका स्थायी एजेण्डा बनायेंगे। उद्योग जगत की समस्याओं का निराकरण हमारी प्राथमिकता है। यह बैठक अब प्रतिमाह के प्रथम शुक्रवार को होगी। प्रयास होगा कि यह बैठक साल के 12 माहों में 12 जगहों पर करें।
संभागीय आयुक्त आशीष सक्सैना ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों की समस्याओं के निदान के लिए एक संयुक्त कमेटी बनायेंगे, जिसमें डीआईसी, नगर निगम, जिला प्रशासन व औद्योगिक क्षेत्रों के प्रतिनिधि रहेंगे। वह कमेटी औद्योगिक क्षेत्रों का निरीक्षण कर, समस्याओं का संकलन करेगी और फिर सबकी जवाबदेही तय करते हुए   समय सीमा में कार्य किया जायेगा। आपने कहा कि नगर सरकार के करों का भुगतान आप सभी ऑनलाइन करें जिस प्रकार हम पीजा ऑनलाइन मंगाते हैं, इसी प्रकार करेों का भुगतान भी सरलता से करें। आपने कहा कि कर जमा करने के लिए औद्योगिक क्षेत्रों में शिविर लगाये जायेंगे परंतु वहां करदाता मास्टर्स ट्रेनर्स के माध्यम से स्वयं उनके मोबाइल से कर जमा करने का प्रशिक्षण देकर कर, जमा करवाया जायेगा। दिनांक 13 अक्टूबर को तानसेन नगर व 16 अक्टूबर को महाराजपुरा में शिविर प्रशिक्षण के साथ लगाया जायेगा। शंकरपुर व गिरवाई औद्योगिक क्षेत्रों में सुविधा के लिए आपने कहा कि आप प्रशानिक के इंजीनियरों को ले जाकर वहां विकास का प्रोजेक्ट व डीपीआर बनवायें। पानी व सीवेज की सुविधा हम आपको अमृत योजना के फेस 2 में उपलब्ध करा देंगे बाकी सुविधाओं के लिए आपका भी सहयोग अपेक्षित रहेगा। आपने कहा कि इस बैठक में जो समस्याएं आई हैं उनमें से 10 बड़ी समस्याएं आप हमें प्रेषित करें आगामी बैठक तक उनका समाधान कराना मेरी जिम्मेदारी है।
बैठक का संचालन मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल द्बारा तथा आभार संयुक्त अध्यक्ष प्रशांत गंगवाल द्बारा व्यक्त किया गया। बैठक में मानसेवी संयुक्त सचिव-ब्रजेश गोयल, कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल कार्यकारिणी सदस्य-संजय धवन, दीपक श्रीचंद जैस्वानी, श्रीमती अलका श्रीवास्तव, विक्रांत बंसल, साकेत आनंद आदि सहित काफी संख्या में उद्यमी उपस्थित रहे। 

Popular Posts