BREAKING!
  • केन्द्रीय मंत्री सिंधिया के प्रथम नगर आगमन में होगा भव्य स्वागत
  • प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट बोले कांग्रेस बची कहाँ है
  • केके उपाध्याय यूपी के वेस्ट एडीटर अवार्ड से सम्मानित
  • यह है स्मार्ट सिटी का रूप
  • आज 20 सितंबर को विपक्षीय दलो का फूलबाग पर धरना
  • बजरंग भक्त मण्डल ने की इस सप्ताह 1600 किलो हरे चारे की गौभोग सेवा
  • रोटरी क्लब ग्वालियर रीगल का शपथ ग्रहण समारोह सम्पन्न
  • झाँसी मंडल स्वच्छता पखवाड़ा–2021 का आयोजन
  • गृह मंत्री डॉ. मिश्र का भ्रमण कार्यक्रम
  • सड़कों की पेंच रिपेयरिंग के साथ-साथ स्ट्रीट लाईट संधारण का कार्य भी प्राथमिकता से किया जाए

Sandhyadesh

ताका-झांकी

20 सितंबर से खुलेंगे बच्चे के स्कूल, 50% क्षमता के साथ खुलेंगे पहले से पांचवीं तक के स्कूल

14-Sep-21 15
Sandhyadesh

भोपाल ।मध्य प्रदेश में अब सरकार छोटे बच्चों के भी स्कूल खोलने जा रही है. 20 सितंबर से कक्षा पहली से पांचवीं तक के स्कूल  खुलने वाले हैं. इस दौरान स्कूल संचालकों को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना होगा.50 प्रतिशत क्षमता के साथ बच्चों को प्रवेश दिया जाएगा. इसके अलावा आठवीं, दसवीं और बारहवीं के छात्रों के लिए हॉस्टल भी खोलने के आदेश जारी हुए हैं।

*आदेश में यह बातें*

*सरकारी आदेश में कहा गया है कि कक्षा एक से पांचवीं तक के बच्चों के स्कूल खोले जा रहे हैं. स्कूलों में 50% क्षमता के साथ बच्चों का प्रवेश दिया जाएगा. स्कूल आने के लिए अभिभावकों का अनुमति पत्र अनिवार्य रहेगा. सरकार की गाइडलाइन और एसओपी (SOP) का पालन करना सभी के लिए जरूरी है. इसके साथ ही कक्षा आठवीं, दसवीं और बारहवीं के छात्रावास भी खोले जाएंगे. इन छात्रावासों में भी 50% क्षमता के साथ छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा. इसपर अंतिम फैसला जिले की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी लेगी. वहीं ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह ही सुचारू रूप से जारी रहेंगी।

*फैलती बीमारी के बीच सरकार का फैसला*

*प्रदेश में मौसमी बीमारी डेंगू, मलेरिया के साथ ही कोरोना भी अपनी रफ्तार पकड़े हुए हैं. इस बार बच्चे ही सबसे ज्यादा बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं. बावजूद इसके सरकार ने 20 सितंबर से बच्चों के स्कूल खोले का फैसला लिया है. इससे प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार भी बढ़ने की संभावना है. हालांकि सभी गाइडलाइन का पालन जरूर किया जाएगा।   
 

Popular Posts