BREAKING!
  • ग्वालियर बधिर सोसायटी के वार्षिक चुनाव संपन्न
  • ग्वालियर में कांग्रेस परचम फहरायेगी,शिवराज के पास विजन नहीं टेलीविजन है: कमलनाथ
  • कमलनाथ ने हॉस्पिटल पहुंचकर विधायक सिकरवार के स्वास्थ्य की जानकारी ली
  • सुरक्षा बल को ठहराने के लिये पाँच संस्थानों के परिसर अधिग्रहीत, व्यय प्रेक्षक नियुक्त
  • हरियाली अमावस्या के दिन वृक्षारोपण के लिये चलेगा महाअभियान, चिकित्सा अधिकारी एवं कर्मचारी सम्मानित
  • स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट और नगरीय निकाय के कार्य अच्छी तरह चलें, इसके लिए स्मार्ट निगम परिषद जरूरी: सुमन शर्मा
  • ग्वालियर के विकास की सुनहरे अच्छरो से लिखेंगे ऐतिहासिक इबारत - डॉ नरोत्तम मिश्रा
  • ग्वालियर पुलिस ने चलाया सायबर CRIME अवेयरनेस प्रोग्राम
  • नगरीय निकाय चुनावः ऐसा क्या हुआ कि पत्रकार वार्ता भी नहीं हुई डी.एम. की
  • श्रीधर धर्मशाला का फर्जी ट्रस्ट बनाकर दुकानों का किया आवंटन, अध्यक्ष से एसडीएम ने मांगा जवाब

बजरंगी दादा की सक्रियता का कोई मुकाबला नहीं

31-Jul-21 902
Sandhyadesh

अपने बजरंगी दादा की सक्रियता का कोई मुकाबला नहीं है। आजकल भाजपाई नेताओं में सबसे ज्यादा अपने समर्थकों, कार्यकर्ताओं का ख्याल रख रहे हैं। उनके सुख-दुख में भी बराबर से शरीक हो रहे है। जबकि अन्य भाजपा नेता अपने कार्यकर्ताओं को भुलाये बैठे हैं।
बीते कई दिनों बजरंगी दादा भाजपा कार्यकर्ताओं की परेशानी से लेकर उनकी हर संभव मदद कर रहे है। बजरंगी दादा के सक्रिय रहने से भाजपा कार्यकर्ता भी संतुष्ट है और बजरंगी दादा की तारीफों के पुल बांधने में पीछे नहीं हट रहे हैं। 

Popular Posts