BREAKING!
  • केन्द्रीय मंत्री सिंधिया के प्रथम नगर आगमन में होगा भव्य स्वागत
  • प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट बोले कांग्रेस बची कहाँ है
  • केके उपाध्याय यूपी के वेस्ट एडीटर अवार्ड से सम्मानित
  • यह है स्मार्ट सिटी का रूप
  • आज 20 सितंबर को विपक्षीय दलो का फूलबाग पर धरना
  • बजरंग भक्त मण्डल ने की इस सप्ताह 1600 किलो हरे चारे की गौभोग सेवा
  • रोटरी क्लब ग्वालियर रीगल का शपथ ग्रहण समारोह सम्पन्न
  • झाँसी मंडल स्वच्छता पखवाड़ा–2021 का आयोजन
  • गृह मंत्री डॉ. मिश्र का भ्रमण कार्यक्रम
  • सड़कों की पेंच रिपेयरिंग के साथ-साथ स्ट्रीट लाईट संधारण का कार्य भी प्राथमिकता से किया जाए

Sandhyadesh

ताका-झांकी

माखीजानी व देवेन्द्र को बिना कार्यकारिणी के भा रही जिलाध्यक्षी

15-May-21 741
Sandhyadesh

अंचल में दोनों दिग्गज दल बिना कार्यकारिणी के चल रहे है। लगता है भाजपा - कांग्रेस को कार्यकारिणी की जरूरत भी नहीं, क्योंकि जिलाध्यक्षद्वय संगठन को खूब अच्छे से चला रहे है। दोनों ही एकला चलो की नीति पर है।
हम आपको बता दें कि कांग्रेस जिलाध्यक्ष डा. देवेन्द्र शर्मा को आम चुनावों से पहले जिला कांग्रेस की बागडोर सौंपी गई थी। लगभग दो साल से ज्यादा का समय उन्हें कुर्सी पर बैठे हुये हो गया है। वहीं जिला भाजपा प्रमुख कमल माखीजानी को भी एक वर्ष हो गया है। परंतु मजे की बात यह है कि दोनों ही जिला प्रमुख अपनी कार्यकारिणी का गठन अब तक नहीं कर पाये है। दरबारीलाल के सूत्रों की माने तो उन्हें एकला राज रास आ रहा है और संगठन भी चल रहा है। आवाज उठाने वाला भी कोई नहीं, चाहे जैसा जी करें वैसा प्रमुख करें। लेकिन जो भी हो महामारी में दोनों ही अपने-अपने संगठन को अकेले ही खींच रहे है, वहीं कार्यकारिणी में आने के इच्छुक नेता अब अपने जिलाध्यक्षों की मनमानी पर कभी- कभी ग़ुस्सा भी उतारने लगे हैं ।

Popular Posts