BREAKING!
  • माखीजानी व देवेन्द्र को बिना कार्यकारिणी के भा रही जिलाध्यक्षी
  • पत्रकार की परिभाषा तय किया जाना चाहिए: शारदा
  • वैक्सीन के बाद भी मास्क लगाना जरूरी: डाॅ.राहुल भार्गव
  • सकारात्मक जीवन जीने के लिए प्रेरित करने वेबिनार आयोजित
  • MP ने UP, राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र से 23 तक बस परिवहन रोका
  • जल्द ही प्रदेश के दो बड़े नेता केन्द्रीय मंत्री बनेंगे ?
  • एमपी वर्किंग जनर्लिस्ट यूनियन की मांग CM शिवराज ने मानी, अब सभी मीडिया कर्मियों का इलाज कराएगी सरकार
  • आपदा में अवसर न समझे वह साक्षात भगवान का स्वरूप है - गोविंद भैया
  • म प्र डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन ने अभियंताओं को मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना में सम्मिलित किए जाने की मांग की
  • राजनीतिक संरक्षण के बिना नकली दवा का कारोबार संभव नहीं : अजय सिंह

Sandhyadesh

ताका-झांकी

बात के धनी शिवराज, हमने माना आभार

12-Feb-21 769
Sandhyadesh

विनय अग्रवाल 
ग्वालियर/भोपाल । मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बात के धनी हैं। इस मुख्यमंत्री कार्यकाल में वह जो कह रहे हैं उसे तुरंत पूरा भी कर रहे हैं। पत्रकार कालोनी ग्वालियर का वर्षो से लंबित मामला निपटाकर उन्होंने यह बात दमदारी से सिद्ध भी की है। 
ज्ञातव्य है कि ग्वालियर की माणिकचंद वाजपेयी पत्रकार कालोनी न्यू सिटी सेंटर में हितग्राही पत्रकारों को आवंटित भूखंडों पर लीज रेंट पर ब्याज का मामला 10-12 वर्षों से लंबित था और उसके लिये पत्रकार बेहद परेशान थे। पिछले दिनों मुख्यमंत्री के ग्वालियर आगमन पर नाराज पत्रकार उनसे इस संदर्भ में मिलने वाले थे। लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले की जानकारी लगते ही लीज रेंट और उसके ब्याज पर निर्णय लेकर पत्रकारों का दिल जीत लिया। 
मुख्यमंत्री का रूख देखकर ग्वालियर विकास प्राधिकरण का बोर्ड जो वर्षों से मामले का निदान नहीं कर पा रहा था , उसने बीती 10 फरवरी को बोर्ड बैठक में कर मामले का निदान भी कर दिया। अब पत्रकार अपने आवास का निर्माण कर उसमें रह भी सकेंगे। उन्हें लंबे ब्याज दंड से राहत भी मिल सकेगी। इस मामले में भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर की भी भूमिका सराहनीय रही, जिन्होंने पत्रकारों की पीडा को समझा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक यह बात पहुंचाई । इस मामले से यह बात साफ हो गई कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान संवेदनशील और बात के धनी हैं, वशर्ते उन तक किसी भी पीडा या शिकायत पहुंचनी भर चाहिये। 
इस सारे मामले में पत्रकारों की ओर से प्रेस क्लब के राजेश शर्मा, सुरेश शर्मा, विनय अग्रवाल, सुरेन्द्र माथुर, राजेन्द्र तलेगांवकर, जोगेन्द्र सेन, प्रदीप तोमर, अजय मिश्रा, रवि उपाध्याय, अशोक पाल, की सराहना करनी होगी , जो लगातार इस मामले के निपटारे के लिये लगे रहे और हार नहीं मानी ।

Popular Posts