BREAKING!
  • अनहद में संस्कार मंजरी परिवार के कलाकार देंगे प्रस्तुति
  • फ्लैग मार्च निकालकर दिया संदेश : निर्भीक होकर डालें वोट , कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में निकला फ्लैग मार्च
  • दलित समाज को वोट बैंक समझती है कांग्रेसः लाल सिंह आर्य
  • मुख्यमंत्री ही उपचुनावी भाजपा प्रत्याशियों के संकट मोचक
  • संजू कांग्रेस की अघोषित स्टार प्रचारक, दर्जनों सीटों पर जनसंपर्क व सभा की डिमांड
  • डाक मत पत्र से मतदान करने के लिये प्रशिक्षण स्थल पर बने हैं विधानसभा क्षेत्रवार सुविधा केन्द्र
  • किले पर स्टंट करने वालों पर नकेल, सुबह उरवाई गेट पर रोका वाहनों को
  • लुप्त होने की कगार पर है पुरानी परम्पराए
  • विधानसभा के उप चुनाव असत्य पर सत्य की विजय का है: डॉ. पांडेय
  • सिद्धांत विहीन कांग्रेस का हो रहा पतन: राजेन्द्र शुक्ला

Sandhyadesh

ताका-झांकी

पूर्व लाट साहब को अब ग्वालियर रास नहीं आया

16-Sep-19 3315
Sandhyadesh

ग्वालियर से लाट साहब रहे कप्तान साहब अपनी नई पारी खेलना चाहते है इसीलिये उन्हें अब ग्वालियर रास नहीं आ रहा है। वैसे भी हरियाणा व त्रिपुरा से लौटने के बाद पुराना ग्वालियर कहां पसंद आने वाला हैं। कार्यकाल पूरा होने के बाद वह ग्वालियर की जगह भोपाल चले गये हैं।
भोपाल में अब वह पुनः संभवतः सक्रिय राजनीति में लौटना चाह रहे हैं। उन्हें लगता है कि भाजपा नेताओं के आपसी द्वंद में उनकी लाॅटरी निकल सकती है। वह भोपाल को केन्द्र कर अपना मिशन लेकर चल रहे है। हालांकि उनके पुत्र अभी भी ग्वालियर की राजनीति कर रहे हैं। 
दरबारी लाल....

Popular Posts