BREAKING!
  • अनहद में संस्कार मंजरी परिवार के कलाकार देंगे प्रस्तुति
  • फ्लैग मार्च निकालकर दिया संदेश : निर्भीक होकर डालें वोट , कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में निकला फ्लैग मार्च
  • दलित समाज को वोट बैंक समझती है कांग्रेसः लाल सिंह आर्य
  • मुख्यमंत्री ही उपचुनावी भाजपा प्रत्याशियों के संकट मोचक
  • संजू कांग्रेस की अघोषित स्टार प्रचारक, दर्जनों सीटों पर जनसंपर्क व सभा की डिमांड
  • डाक मत पत्र से मतदान करने के लिये प्रशिक्षण स्थल पर बने हैं विधानसभा क्षेत्रवार सुविधा केन्द्र
  • किले पर स्टंट करने वालों पर नकेल, सुबह उरवाई गेट पर रोका वाहनों को
  • लुप्त होने की कगार पर है पुरानी परम्पराए
  • विधानसभा के उप चुनाव असत्य पर सत्य की विजय का है: डॉ. पांडेय
  • सिद्धांत विहीन कांग्रेस का हो रहा पतन: राजेन्द्र शुक्ला

Sandhyadesh

ताका-झांकी

मेहनत करते शिवराज , लेकिन भाजपाई रंग से दूर प्रत्याशी

12-Sep-20 364
Sandhyadesh

अपने मामा शिवराज सिंह चौहान आजकल जमकर मेहनत में लगे हैं। ऐसा पहली बार हुआ है कि उन्हें विभिन्न कार्यक्रमों व लोकार्पण के लिये 3-3 दिन ग्वालियर में रूकना पड़ रहा है, जबकि वह पिछले कार्यकाल में कभी ग्वालियर में इतना नहीं रूके। 
केवल श्रीमंत के भाजपा में आने के बाद अब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम श्रीमंत के ऊपर निर्भर हो गये हैं। उन्हीं के हिसाब से अब मामा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम भी बन रहे हैं। इस बहाने उप चुनावों की घोषणा पूर्व मामा साहब प्रचार भी जी भर के कर रहे हैं। 
वैसे अकेले मामा ही हैं , जो उप चुनाव में भाजपा की नैय्या पार लगाने में सक्षम हैं। मुख्यमंत्री अपने साथ सौगातों का पिटारा भी लेकर आये हैं, लेकिन अभी भाजपा के ही लोग प्रत्याशियों से संतुष्ट नहीं हो पा रहे हैं। भाजपा और कांग्रेस का अंतर अभी भी प्रत्याशियों में देखा जा सकता है। 
संगठन मंत्री तिवारी साहब की लाख समझाईश के बाद भी भाजपाई उप चुनावी प्रत्याशी कांग्रेस शैली में ही चल रहे हैं, जिससे भाजपा कार्यकर्ताओं से उनकी दूरियां बढ़ रही है। लेकिन मामा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी लगातार मेहनत कर माहौल बनाने में लगे हैं, सरकार जो चलाना है वरना कमलनाथ की चेतावनी नींद उड़ा देती है। 

Popular Posts