BREAKING!
  • बिजली बिल भुगतान हेतु चैक स्वीकार किए जाएं : एमपीसीसीआई
  • हमें धर्म के चक्कर लगाकर धर्म को भीतर बसाने का प्रयास करना है-शास्त्री
  • नगर निगम द्बारा तलघरों में की जा रही तोड़फोड़ को रोका जाए : एमपीसीसीआई
  • कोरोना वैक्सीन वितरण के लिए राज्य योजना बनाएं - प्रधानमंत्री मोदी
  • खाद्य सुरक्षा विभाग के दलों ने छापामार कार्रवाई कर लिए खाद्य पदार्थों के नमूने
  • बालिका विवाह 18 या 21 वर्ष? महिलाओं में मतैक्य नही..
  • एसडीएम बनवारिया ने कोरोना की पीड़ा भोगी है, कोरोना रोकने में जोशीला होना क्या उनकी गलती हैं?
  • रागिनी फाउंडेशन और मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड की कार्यशाला संपन्न
  • साईं लीला सेवा संस्था का दीपावली मिलन समारोह संपन्न
  • मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत जिले में हो प्रभावी कार्रवाई : कलेक्टर

Sandhyadesh

ताका-झांकी

इंतहा हो गई विभाग वितरण में .........?

10-Jul-20 544
Sandhyadesh

अब तो 9 दिन बीत चले हैं, मंत्रीमंडल विस्तार को, आज 9 वे दिन भी विभागों को लेकर मुख्यमंत्री जी घोषणा नहीं कर पाये। नये बने मंत्री अपने आकाओं व नेताओं के माध्यम से मनपसंद विभाग के लिये जोर लगा रहे हैं। मुख्यमंत्री जी भी इस सब कारणों से विभाग वितरण में अपने आपको असहज महसूस कर रहे हैं। 
ऊपर से भाजपा में आये वरिष्ठ नेता सिंधिया जी का दबाब अलग से है, कि किस किसको कौन सा विभाग दिया जाये। कुल मिलाकर विभागों को लेकर पूरे प्रदेश के भाजपाई भी हैरान परेशान हैं कि मामा जैसा शक्तिमान मुख्यमंत्री नये भाजपाईयों के सामने असहज क्यों हैं। 

Popular Posts