BREAKING!
  • नर ही नारायण है की भावना से ओतप्रोत सत्येन्द्र शर्मा ने 71 वे दिन भी भोजन वितरण किया
  • नियम कायदों को तोडकर कांग्रेस ने की बैठक , एसडीएम ने थमाया नोटिस, मांगा जवाब
  • मण्डी लाइसेंस की नवीनीकरण तारीख को बढ़ाया जाए एवं फीस को यथावत् बनाए रखा जाए : चेम्बर
  • जेके जैन सागर संभाग के नये कमिश्रर होंगे
  • मानवसेवा के 70वे दिन कमल माखीजानी एवं सत्येन्द्र शर्मा ने भोजन वितरण किया
  • चुनावी लोकप्रियता नहीं, जनता की भलाई के लिए काम कर रही मोदी सरकारः नरेंद्रसिंह तोमर
  • रेत की लूट का कम्पन
  • ट्रेनों के आगमन से यात्रियों की आवा-जाही शुरू
  • मंत्री कोटा बढाने की मांग
  • स्व. बांदिल की पुण्यतिथि पर भाजपा नेताओं ने किया याद

Sandhyadesh

आज की खबर

कांग्रेस का कहना साफ ,बिजली के बिल करो माफ : डॉ. देवेन्द्र शर्मा

22-May-20 14
Sandhyadesh

ग्वालियर। मप्र विद्युत वितरण कंपनी के मुख्य अभियंता से आज शहर जिला कांगेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ देवेन्द्र शर्मा एवं मप्र कांग्रेस कमेटी के महामंत्री सुनील शर्मा ने प्रस्ताव देते हुए कहा कि कांग्रेस का कहना साफ , बिजली का बिल करो माफ  क्योंकि 25 मार्च से कोरोना की महामारी रोकने के लिये पूरे भारत में लॉकडाउन किया गया।  इस दौरान उद्योग, व्यापार, दुकान, किसान, मजदूर व अन्य प्रतिष्ठान पूर्णत: बंद रहे, सभी प्रकार के कारोबार भी पूर्ण रूप से बंद रहे और हर नागरिक अपने घरों पर ही रहा, जिससे व्यापार से होने वाली कमाई का भी आभाव रहा। 
विद्युत वितरण कंपनी द्वारा लॉकडाउन के दौरान घरेलू उपभोक्ताओं के साथ उद्योग, व्यापार, दुकानदार, किसान, मजदूर और छोटे मोटे कारोबारियों को भारी भरकम बिल भेजकर सभी वर्गो पर आर्थिक भार बढ़ा रही है। 
बिजली के अत्याधिक बिल आने के कारण हर कोई परेशान है कि बिजली का बिल जमा करें या घर परिवार के खाने का इंतजाम करे, या उद्योग, व्यापार चलाने का कारोबार करें। 
जिस प्रकार से लॉकडाउन में भाजपा सरकार और विद्युत वितरण मंडल बिजली के बिल भेजकर हर उपभोक्ता को आर्थिक रूप से बर्बादी की ओर ले जाया जा रहा है, ग्वालियर जिले में स्थापित उद्योग, व्यापार, दुकानदार और प्रत्येक उपभोक्ता को अत्याधिक बिजली के बिल भेजे गये हे उसे माफ  किया जाए, और जिन उपभोक्ताओं ने अत्याधिक बिजली के बिल जमा कर दिए है उस धनराशि का समावेश भी अगले बिल में किया जाए। 
मप्र की कांग्रेस सरकार द्वारा 100 युनिट पर 100 रूपये बिल का जो प्रावधान किया गया है, और जो उद्योग, व्यापार, दुकानदार के लिये बिजली के बिलों की नीति बनाई गई थी उस पर अमल किया जाए और जितनी बिजली उतने दाम लिए जाए। 
बिजली का बिल माफ  करने के लिए दिए गये ज्ञापन के समय मप्र कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश संयोजक प्रभूदयाल जौहरे, आनंद जिझोतिया मंडल अध्यक्ष एनके सिसोदिया, दीपक पांडे आदि उपस्थित थे। 

2020-06-04