BREAKING!
  • नर ही नारायण है की भावना से ओतप्रोत सत्येन्द्र शर्मा ने 71 वे दिन भी भोजन वितरण किया
  • नियम कायदों को तोडकर कांग्रेस ने की बैठक , एसडीएम ने थमाया नोटिस, मांगा जवाब
  • मण्डी लाइसेंस की नवीनीकरण तारीख को बढ़ाया जाए एवं फीस को यथावत् बनाए रखा जाए : चेम्बर
  • जेके जैन सागर संभाग के नये कमिश्रर होंगे
  • मानवसेवा के 70वे दिन कमल माखीजानी एवं सत्येन्द्र शर्मा ने भोजन वितरण किया
  • चुनावी लोकप्रियता नहीं, जनता की भलाई के लिए काम कर रही मोदी सरकारः नरेंद्रसिंह तोमर
  • रेत की लूट का कम्पन
  • ट्रेनों के आगमन से यात्रियों की आवा-जाही शुरू
  • मंत्री कोटा बढाने की मांग
  • स्व. बांदिल की पुण्यतिथि पर भाजपा नेताओं ने किया याद

Sandhyadesh

आज की खबर

कैडेट नये भारत के शिल्पकार : राज्यपाल टंडन

21-May-20 19
Sandhyadesh

राज्यपाल ने एनसीसी कैडेट्स के कार्यों को सराहा 
कोरोना संकट में प्रशासन की मदद में कैडेट तैनात करने वाला पहला राज्य है मध्यप्रदेश
 भोपाल राज्यपाल  लाल जी टंडन ने कहा कि एनसीसी के कैडेट नये भारत के शिल्पकार हैं। निस्वार्थ सेवाभावी युवा देश की ताकत और उज्जवल भविष्य के संवाहक है। कोविड-19 पेंनडमिक के दौरान कैडेट्स द्वारा प्रशासन और नागरिकों के मदद के लिए किए गए कार्य, उनकी सेवा संकल्प का प्रमाण है। उनकी सेवा भावना अनुकरणीय और सराहनीय है।  टंडन राजभवन में अपर महानिदेशक एनसीसी मेजर जनरल संजय शर्मा से चर्चा कर रहे थे।  टंडन ने कैडेट्स और उनके पालकों को अपनी भावनाओं से अवगत कराने के लिए भी कहा
राज्यपाल  टंडन ने कहा कि इस महामारी में एन.सी.सी. कैडेट्स ने देश के समक्ष सच्ची राष्ट्रवादी भावनाएं और सेवा प्रदर्शित की है। उन्होंने कैडेट्स के माता-पिता को भी धन्यवाद दिया है। इस वैश्विक महामारी की स्थिति में जिन्होंने अपने बच्चों को आगे लाकर प्रशासन को सहयोग प्रदान किया है।
राज्यपाल को अपर महानिदेशक एन.सी.सी. ने अवगत कराया कि मध्यप्रदेश निदेशालय स्थानीय प्रशासन की सहायता के लिए एन.सी.सी. कैडेट्स उपलब्ध कराने वाला देश का पहला निदेशालय था। एन.सी.सी. कैडेट्स ने नीमच, मंदसौर, रतलाम और राजगढ़ जिले में सार्वजनिक स्थानों जैसे बाजार, बैंक और डाकघरों में यातायात व्यवस्था, खाद्य सामग्री वितरण और सामाजिक दूरी बनाये रखने के दायित्वों को सुनिश्चित किया। एन.सी.सी. कैडेट्स ने रतलाम रेलवे स्टेशन पर लगभग 15 हजार प्रवासियों के सुचारू स्वागत और रवानगी में भी सहायता की। कैडेट्स ने लोगों को सामाजिक जागरूकता के कार्यों के साथ-साथ भोजन, राशन पैकेटों तथा मास्क का वितरण जरूरतमंद लोगों को करने में सहायता की। उन्होंने यह भी बताया कि 3000 से अधिक एन.सी.सी, कैडेट विभिन्न जिलों में सहायता के लिए तैयार हैं। लगभग 60 हजार एन.सी.सी. कैडेट पूरे देश में अपनी सेवा प्रदान कर रहे हैं।


2020-06-04