BREAKING!
  • नर ही नारायण है की भावना से ओतप्रोत सत्येन्द्र शर्मा ने 71 वे दिन भी भोजन वितरण किया
  • नियम कायदों को तोडकर कांग्रेस ने की बैठक , एसडीएम ने थमाया नोटिस, मांगा जवाब
  • मण्डी लाइसेंस की नवीनीकरण तारीख को बढ़ाया जाए एवं फीस को यथावत् बनाए रखा जाए : चेम्बर
  • जेके जैन सागर संभाग के नये कमिश्रर होंगे
  • मानवसेवा के 70वे दिन कमल माखीजानी एवं सत्येन्द्र शर्मा ने भोजन वितरण किया
  • चुनावी लोकप्रियता नहीं, जनता की भलाई के लिए काम कर रही मोदी सरकारः नरेंद्रसिंह तोमर
  • रेत की लूट का कम्पन
  • ट्रेनों के आगमन से यात्रियों की आवा-जाही शुरू
  • मंत्री कोटा बढाने की मांग
  • स्व. बांदिल की पुण्यतिथि पर भाजपा नेताओं ने किया याद

Sandhyadesh

आज की खबर

कमल माखीजानी विवाद दिल्ली तक पहुंचा , 7 दिन में कुछ भी संभव

14-May-20 493
Sandhyadesh

ग्वालियर।  नव नियुक्त भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी की नियुक्ति का विवाद शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। कमल माखीजानी की नियुक्ति का विरोध करने वाले पूर्व जिलाध्यक्ष सहित 37 जिले के दिग्गिज नेताओं ने प्रदेश संगठन महामंत्री को लेकर की गई अपनी टीका टिप्पणी पर तो माफी मांग ली है। लेकिन अब यह मामला प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे की चौखट  तक पहुंच गया है। 
भाजपा सूत्रों के मुताबिक कमल माखीजानी विरोधी खेमे को आश्वास्त किया गया है कि आप संगठन की अनुशासन परिधि में रहें। कोई विवाद है तो हम देखेंगे। बताया जाता है कि भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी को लेकर संभवत: 7 दिन में उनके विरोधियों को निर्णय की आशा है। कमल माखीजानी विरोधी आश्वास्त है कि भाजपा जिलाध्यक्ष पर जिले और ग्रामीण दोनों में बदलाव होगा। 
इधर  कमल माखीजानी को विभिन्न समर्थक भाजपाईयों का भरपूर समर्थन मिल गया है। सिंधिया समर्थक भाजपाई केन्द्रीय मंत्री समर्थक भाजपा जिलाध्यक्ष की ताजपोशी की अपेक्षा ग्वालियर सांसद समर्थक भाजपा जिलाध्यक्ष माखीजानी को ज्यादा पसंद कर रहे हैं। वहीं सांसद विवेक शेजवलकर भी अपने खेमे के कमल माखीजानी को बचाने के लिये सक्रिय हो गये हैं। 

2020-06-04