BREAKING!
  • नर ही नारायण है की भावना से ओतप्रोत सत्येन्द्र शर्मा ने 71 वे दिन भी भोजन वितरण किया
  • नियम कायदों को तोडकर कांग्रेस ने की बैठक , एसडीएम ने थमाया नोटिस, मांगा जवाब
  • मण्डी लाइसेंस की नवीनीकरण तारीख को बढ़ाया जाए एवं फीस को यथावत् बनाए रखा जाए : चेम्बर
  • जेके जैन सागर संभाग के नये कमिश्रर होंगे
  • मानवसेवा के 70वे दिन कमल माखीजानी एवं सत्येन्द्र शर्मा ने भोजन वितरण किया
  • चुनावी लोकप्रियता नहीं, जनता की भलाई के लिए काम कर रही मोदी सरकारः नरेंद्रसिंह तोमर
  • रेत की लूट का कम्पन
  • ट्रेनों के आगमन से यात्रियों की आवा-जाही शुरू
  • मंत्री कोटा बढाने की मांग
  • स्व. बांदिल की पुण्यतिथि पर भाजपा नेताओं ने किया याद

Sandhyadesh

आज की खबर

कमल माखीजानी का विरोध करने वाले सरेंडर

13-May-20 908
Sandhyadesh

 
भाजपा का जिलाध्यक्ष बनते ही विरोध को झेल रहे कमल माखीजानी को अब राहत मिल गई है, क्योंकि जो लोग अब तक असंतोष का झंडा उठाकर खिलाफत में जुटे थे उनके मुंह से विरोध की जगह अब स्वागत जैसे शब्द सुनाई दे रहे है। यहां बता दें कि काफी रस्साकशी के बाद दो रोज पहले देर रात्रि को भाजपा जिलाध्यक्ष के नाम का ऐलान किया गया था। पार्टी ने सांसद विवेक शेजवलकर की पसंद कमल माखीजानी के नाम पर मुहर लगा दी थी। नियुक्ति के अगले रोज से ही उनके विरोध में कुछ लोगों ने स्वर उठाना शुरू कर दिये थे। कमल की नियुक्ति पर असंतोष के स्वर फूटते ही सांसद ने भी मोर्चा सम्हाल लिया था और उनको यहां तक कहना पड़ा था कि पार्टी में सभी निर्णय सामूहिक और संगठन आधारित होते है, जिसके बाद संगठन मंत्री ने भी इस पर कड़े तेवर अपना लिये थे और नियुक्ति का विरोध करने वालों के खिलाफ अनुशासनहीनता की कड़ी कार्रवाई का मन बना लिया था। परंतु अचानक ही अब विरोध करने वाले खुद ही ठंडे पड़ गये और अब उनके सुर भी बदले-बदले नजर आ रहे है। सभी विरोधी अब नये जिलाध्यक्ष माखीजानी के मनोनयन को संगठन का सही निर्णय बताकर उनका स्वागत अभिनंदन करने बात कहने लगे है।

2020-06-04