BREAKING!
  • साईं इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में वसंत कुंज योजना में बुक किए फ्लैट्स के हितग्राहियों ने की बैठक
  • पेट्रोल डीजल महंगाई से मचा है हाहाकारःयदुनाथ तोमर
  • ट्रिपल आईटीएम के संविदा कर्मी का घी चुराते वीडियो वायरल, मामला दर्ज
  • क्षत्रिय महासभा संयुक्त मोर्चा का संभागीय दशहरा मिलन समारोह 17 को
  • लोको पार्क में जले रावण, कुंभकरण व मेघनाथ के पुतले , भारी भीड उमडी
  • दादा का बडा धमाका , महाविजयी श्री राम की महाआरती 17 को
  • श्रीगंगदास जी की बड़ी शाला में धूमधाम से मनाई गई विजयादशमी
  • टूरिज्म प्लान ऐसा हो जिससे देश-विदेश के पर्यटन आकर्षित हों – केन्द्रीय मंत्री सिंधिया
  • केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने दीनदयाल रसोई वाहन को दिखाई हरी झण्डी
  • केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने ग्वालियर से वर्चुअल दिखाई हरी झण्डी

भाजपा गोपनीय सर्वे को लेकर चिंतित, दलबदलू 13 सीटों पर कमजोर

27-Apr-20 5919
Sandhyadesh

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले मंत्री और विधायकों सहित भाजपा आलाकमान इन दिनों मध्यप्रदेश को लेकर बेहद हैरान है। हैरानी का कारण भाजपा द्वारा कराया गुपचुप सर्वे है, जिसमें इन 22 पूर्व विधायकों और मंत्रियों में से 13 की सीट खतरे में दिखाई पड़ रही है। इसी कारण अब भाजपा भी मंत्रिमंडल विस्तार में इन पूर्व मंत्रियों की भागीदारी पर संशय कर रही है। 
सूत्रों के मुताबिक भाजपा आलाकमान के इशारे पर एक सर्वे एजेंसी ने मध्यप्रदेश में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों और सरकार के उन मंत्रियों का सर्वे किया था जिस सर्वे में यह बात सामने आई तो आलाकमान भी चौंक गया है, जिसमें भाजपा के टिकट पर कांग्रेस के 13 पूर्व विधायक व मंत्रियों की हालत पतली दिखाई पड़ती है। 
बताया जाता है कि भाजपा आलाकमान इन सर्वे को लेकर चिंतित है और यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने मंत्रीमंडल विस्तार में कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों को स्थान देने में कंजूसी बरती। अन्यथा वायदे के मुताबिक इस्तीफा देने वाले सभी मंत्रियों को पुन: मंत्री बनाया जाना था। 
अब संभावना इस बात की भी बन गई है कि अब मुख्यमंत्री अपना मंत्रीमंडल विस्तार इसी कारण फिलहाल लॉक डाउन के नाम लेकर कुछ समय को टाल भी दें। 
क्रमश: 

Popular Posts