BREAKING!
  • शहीद ज्योति यात्रा व 61 चौराहे पर दीपदान के साथ आज शुरू होगा बलिदान मेला
  • कोविड टीकाकरण के साथ आम जनों को शासन की योजनाओं का लाभ भी समय पर मिले :कलेक्टर
  • जिला पंचायत के सीईओ कान्याल ने बैठक लेकर की तैयारियों की समीक्षा
  • महाराष्ट्रः बस सेवा स्थगित करना परिवहन विभाग का सराहनीय फैसला
  • बरौनी - गोंदिया ट्रेन रुट परिवर्तन पर सांसद ने जताई आपत्ति
  • यूपी, राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बीच बस सेवा 16 से; महाराष्ट्र के लिये रोक
  • सुशांत सिंह अध्याय
  • विक्टोरिया मार्किट के दुकानदारों की अस्थाई दुकानों को स्थाई बनाया जाए
  • डीआरडीई झांसी रोड की मेन लेब की बाउण्ड्रीवाल से 50 मीटर की दूरी तय की जाए : एमपीसीसीआई
  • जनता को राहत दिलाओ, बिजली के दाम मत बढ़ाओ: डॉ. देवेन्द्र शर्मा

Sandhyadesh

ताका-झांकी

भाजपा गोपनीय सर्वे को लेकर चिंतित, दलबदलू 13 सीटों पर कमजोर

27-Apr-20 5756
Sandhyadesh

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले मंत्री और विधायकों सहित भाजपा आलाकमान इन दिनों मध्यप्रदेश को लेकर बेहद हैरान है। हैरानी का कारण भाजपा द्वारा कराया गुपचुप सर्वे है, जिसमें इन 22 पूर्व विधायकों और मंत्रियों में से 13 की सीट खतरे में दिखाई पड़ रही है। इसी कारण अब भाजपा भी मंत्रिमंडल विस्तार में इन पूर्व मंत्रियों की भागीदारी पर संशय कर रही है। 
सूत्रों के मुताबिक भाजपा आलाकमान के इशारे पर एक सर्वे एजेंसी ने मध्यप्रदेश में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों और सरकार के उन मंत्रियों का सर्वे किया था जिस सर्वे में यह बात सामने आई तो आलाकमान भी चौंक गया है, जिसमें भाजपा के टिकट पर कांग्रेस के 13 पूर्व विधायक व मंत्रियों की हालत पतली दिखाई पड़ती है। 
बताया जाता है कि भाजपा आलाकमान इन सर्वे को लेकर चिंतित है और यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने मंत्रीमंडल विस्तार में कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों को स्थान देने में कंजूसी बरती। अन्यथा वायदे के मुताबिक इस्तीफा देने वाले सभी मंत्रियों को पुन: मंत्री बनाया जाना था। 
अब संभावना इस बात की भी बन गई है कि अब मुख्यमंत्री अपना मंत्रीमंडल विस्तार इसी कारण फिलहाल लॉक डाउन के नाम लेकर कुछ समय को टाल भी दें। 
क्रमश: 

Popular Posts