BREAKING!
  • बाबरी विध्वंस के प्रमुख आरोपी पवैया कल सुबह लखनऊ जायेंगे
  • कैलाश विजयवर्गीय का जेके टायर गेट पर स्वागत
  • भाजपाई दिग्गज कैलाश -नरेन्द्र की मुलाकात हुई
  • कैलाश विजयवर्गीय बीडी शर्मा के पैत्रक गांव पहुंचे
  • महिला बाल विकास विभाग इस बार पोषण माह मनायेगा, मॉनीटरिंग पर जोर रहेगा: राजीव सिंह
  • भारतीय जैन मिलन की द्वितीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की ऑनलाइन बैठक संपन्न
  • चुनरी बाई पर कलेक्टर ने दिखलाई संवेदना, 24 घंटे में मिलेगी महीनों से लंबित अनुग्रह राशि.
  • कर्मचारी एकता से ही मांगों का हो सकता है निराकरण: राजेन्द्र शर्मा
  • झूठ, फरेब के बूते बनी थी कमलनाथ की सरकार: रामलाल रौतेल
  • अपने धर्म और भगवान पर विश्वास और आस्था होना बहुत जरूरी है-मुनिश्री

Sandhyadesh

ताका-झांकी

मुख्यमंत्री चौहान ने की कोरोना के फैलाव को रोकने के उपायों की विस्तृत समीक्षा,शिवपुरी में भी कर्फ्यू लगाने के निर्देश

24-Mar-20 431
Sandhyadesh



कोरोना वायरस संक्रमण के संबंध में अफवाह फैलाने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करें

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहां मंत्रालय में दूसरे दिन प्रदेश में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के उपायों की विस्तृत समीक्षा की। समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्वालियर एक और शिवपुरी में एक प्रकरण पॉजिटिव पाया गया है। इसे गंभीरता से लेते हुए उन्होंने शिवपुरी में भी कर्फ्यू लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना को फैलाव को रोकने लिये चेन तोड़ना जरूरी है। स्थानीय संक्रमण से इसका फैलाव हर हालत में रोकना होगा। उन्होंने कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है। सबके सहयोग से ही इस पर काबू पाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के संबंध में अफवाहें फैलाने और अवैज्ञानिक जानकारी फैलाने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करें। कॉल सेंटर में काम कर रहे अमले को लोगों को सटीक जानकारी देने के लिये निर्देश दें। उन्होंने कोरोना के फैलाव की रोकथाम के लिये वैज्ञानिक जानकारी के प्रसार में मीडिया से भी सहयोग देने का आग्रह किया है। उन्होंने चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में काम कर रहे निजी अस्पतालों में उपलब्ध अमले से भी सहयोग देने को कहा है। उन्होंने कहा कि जिन राष्ट्रीय उदयानों, पर्यटन क्षेत्रों का भ्रमण कर विदेशी मेहमान लौटे हैं, उन क्षेत्रों में सघन जांच करें।

समीक्षा बैठक में बताया गया कि भोपाल मेमोरियल अस्पताल और अनुसंधान सेंटर को राज्य स्तरीय कोविड 19 संस्थान घोषित किया गया है। अब तक कुल नौ पॉजिटिव प्रकरणों का पता चला है। ये प्रकरण चार जिलों में हैं। ग्वालियर, भोपाल और जबलपुर में पहले से कर्फ्यू है। कुल 26 प्रकरण जांच के लिये भेजे गये हैं और 1920 की निगरानी की जा रही है। जिन जिलों में विदेशी नागरिक आये थे, वहां शहरी क्षेत्रों में घर—घर जाकर जांच की जा रही है और निगरानी रखी जा रही है। मुख्यमंत्री ने ऐसे संभावित घरों और क्षेत्रों को तत्काल अलग रखने के निर्देश दिये ताकि वहां रहने वाले किसी के संपर्क में नहीं आयें। दस डिस्टिलरी को सेनीटाइजर बनाने के लिये कहा गया है ताकि वह स्थानीय तौर पर ही आसानी से उपलब्ध हो जाये।

बैठक में चिकित्सा सलाह के अनुसार सभी अधिकारियों के बैठने की व्यवस्था लगभग एक मीटर के अंतर पर की गई थी। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी और सभी संबंधित विभागों के प्रमुख सचिव एवं अपर मुख्यसचिव उपस्थित थे।

Popular Posts