BREAKING!
  • कोरोना संकट में अभी क्या विश्वस्त सहयोगी बनेंगे मंत्री ....?
  • फर्जी समाज सेवी और संस्थाओं के पदाधिकारी घरों में दुबके
  • यशोधरा राजे सिंधिया ने फिर की जनता से अपील,घरों में रहे लॉक डाउन का करें पालन
  • BSNL की पहलः कोरोना के चलते Validity बढ़ाई, बैलेंस भी दिया
  • केंद्रीय मंत्री तोमर ने प्रधानमंत्री राहत कोष में 1 माह का वेतन दिया
  • जेके टायर जरूरतमंदों के लिए आगे आया, खाद्यान्न सामग्री बांटी
  • लॉक डाउन के चलते उद्योग श्रमिक परेशान
  • सूने पडे हैं स्टेशन, बस स्टेंड
  • कोरोना से स्पेन की राजकुमारी की मौत, कनाडाई पीएम की पत्नी ठीक हुईं
  • संकटमोचक बने नरोत्तम मिश्रा की मानवताः 20 लाख स्वास्थ्य सेवाओं के लिए दिये

Sandhyadesh

आज की खबर

पांच बजते ही थाली, घंटों की आवाज से गूंजा ग्वालियर

22-Mar-20 579
Sandhyadesh

Gwalior: कोरोना वायरस के संक्रमण को काबू में करने के लिए लोगों से किए गए जनता कर्फ्यू के आह्वान का असर रविवार सुबह से ही दिखने लगा था। ग्वालियर में लोग जनता कर्फ्यू के नियमों का पालन कर रहे हैं। सड़कों पर केवल वही लोग नजर आ रहे हैं जिन्हें बहुत जरूरी काम हैं। लगभग सभी लोग घरों में बंद रहने को ज्यादा सुरक्षित मान रहे हैं।  
शाम पांच बजते ही ग्वालियर में एक अलग ही माहौल देखने को मिला। लोगों ने घरों की खिड़कियों और छतों से थाली-ताली व शंख आदि बजाकर स्वास्थ्यकर्मियों और सुरक्षाकर्मियों का आभार जताया। साथ ही कोरोना से लड़ने को एकजुटता दिखाने की प्रधानमंत्री की अपील का खासा असर दिखाई दिया। प्रशासन की ओर से जनता कर्फ्यू को सफल बनाए जाने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं, जो लोग घरों से बाहर निकले भी उनको अधिकारियों व पुलिस कर्मियों ने समझाया कि ऐसा करके वह खुद और अन्य लोगों को जोखिम में डाल सकते हैं। अधिकारियों की बात सुन कर लोगों ने भी उनके आदेशों व प्रधानमंत्री की अपील का पालन करना ज्यादा उचित समझा।
जनता कर्फ्यू के मद्देनजर ग्वालियर के महाराज बाड़ा, दौलतगंज, सराफा बाजार, पड़ाव, स्टेशन बजरिया, मुरार, हजीरा, सिटी सेंटर आदि इलाकों में भारी भीड़ रहती थी। लोगों की आवाजाही के साथ ही वाहनों की भी अच्छी-खासी भीड़ होती थी। लेकिन कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए खुद को घरों में ही कैद रखना ज्यादा अच्छा समझा है।

2020-03-31aaj