BREAKING!
  • मानवसेवा के 70वे दिन कमल माखीजानी एवं सत्येन्द्र शर्मा ने भोजन वितरण किया
  • चुनावी लोकप्रियता नहीं, जनता की भलाई के लिए काम कर रही मोदी सरकारः नरेंद्रसिंह तोमर
  • रेत की लूट का कम्पन
  • ट्रेनों के आगमन से यात्रियों की आवा-जाही शुरू
  • मंत्री कोटा बढाने की मांग
  • स्व. बांदिल की पुण्यतिथि पर भाजपा नेताओं ने किया याद
  • सिंधिया जानते थे भारतीय जनता पार्टी विकास के लिए प्रतिबद्ध है इसलिए भाजपा में आए: शेजवलकर
  • संभाग आयुक्त ओझा ने कोविड-19 पर प्रकाशित पुस्तक का किया विमोचन
  • बीएसएनएल को पटरी पर लाने की कवायद
  • मंत्रीमंडल विस्तार कब करें, यह गेंद अब शिवराज के पाले में

Sandhyadesh

आज की खबर

अब नेताओं की किस्मत चेतेगी

06-Mar-20 605
Sandhyadesh

मध्यप्रदेश में पिछले 15 वर्षों के बाद लगभग सवा साल पहले आई कांग्रेस सरकार के नेताओं की किस्मत अब एक बार फिर चेतने वाली है। राज्य में कांग्रेस सरकार के थोडा अस्थिर होते ही अब जो फार्मूला वरिष्ठ नेताओं ने तैयार किया है उसमें मंत्रियों के विभागों को कम कर मंत्रिमंडल के सदस्यों की संख्या बढाना और पिछले सवा साल से इंतजार कर रहे निगम मंडलों पर नेताओं को काबिज करना है। इसे देख लगता है कि निगम मंडलों में एक बार फिर से नेताओं की किस्मत का ताला खुलने वाला है वहीं सरकार को बचने का इंतजार करे बिना ही छुटभय्ये नेता अब राजधानी की दौड लगा गये हैं। 
मध्यप्रदेश में बीते तीन दिनों से चल रहे राजनैतिक घटना क्रम के बाद से कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने सरकार को बचाने के लिए जहां कवायद तेज की है। वहीं एक फार्मूला भी तय किया है जिसमें राज्य में खाली पडे निगम मंडलों पर जल्द ही नियुक्तियां दी जायेंगी इससे पार्टी में असंतोष को जहां कम किया जा सकेगा वहीं कई नेताओं के पठठे भी निगम मंडलों पर काबिज होकर अपने आका का और अपना रूतवा कार्यकर्ताओं लोगों को दिखायेंगे। अब देखना है कि राजनैतिक घटनाक्रम की परिणिति क्या होती है और उसके बाद कब तक नये फार्मूले के तहत निगम मंडलों पर नियुक्तियां होंगी इसका इंतजार रहेगा। 
दरबारीलाल.................

2020-06-03aaj