BREAKING!
  • लाकडाउन में गायों की नि: स्वार्थ सेवा कर रहा धेनु सेवा संस्थान
  • कंट्रोल कमाण्ड सेंटर में आने वाले हर व्यक्ति को किया जायेगा सेनेटाईज्ड
  • ग्वालियर जिले में कोरोना के 4 नए पॉजिटिव केस पाए गए
  • जीवाजी विश्वविद्यालय कुलपति ने निगम की टीम को पुष्प देकर सम्मानित किया
  • मंडल रेल प्रबंधक ने रेलवे अस्पताल एवं कोच आइसोलेशन वार्ड का किया निरीक्षण
  • मंत्री नहीं बनने से नींद उड़ी भाजपाईयों की
  • कोरोना वायरस की समाप्ति हेतु हम युद्ध स्तर पर तैयार हैं : दीपक श्रीवास्तव
  • डॉ. राजेश गुप्ता ने किला गुरूद्वारा में बांटी होम्योपैथी की दवाई
  • में भले ही हाशिये पर आ जाऊं, लेकिन मेरी पार्टी हाशिये पर कभी न आये: प्रभात झा
  • प्रभू भक्ति का धन जो कमा लेता है उसका कल्याण होता है- राष्ट्रसंत

Sandhyadesh

आज की खबर

पत्रकार नवीन तकनीकी के साथ-साथ अध्ययन करने में भी रूचि रखें – लाखन सिंह

12-Jan-20 84
Sandhyadesh

विश्वस्त पत्रकार संघ का प्रथम प्रांतीय पत्रकार सम्मेलन एवं सम्मान समारोह सम्पन्न 
ग्वालियर।  प्रदेश के पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री  लाखन सिंह यादव ने नई पीढ़ी के पत्रकारों से कहा कि वे नवीन तकनीकी के साथ-साथ अध्ययन करने की भी रूचि रखें, जिससे समाचार लिखने में भी और निपुणता आयेगी।  लाखन सिंह यादव रविवार को विश्वस्त पत्रकार संघ के प्रथम प्रांतीय पत्रकार सम्मेलन एवं सम्मान समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। 
मानस भवन फूलबाग ग्वालियर में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार एवं विश्वस्त पत्रकार संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुरेश सम्राट ने की। कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में वरिष्ठ पत्रकार डॉ. राम विद्रोही, मिर्जापुर के पत्रकार  पवन जैसवाल, राष्ट्रीय सचिव  सुरेन्द्र श्रीवास्तव, राष्ट्रीय प्रवक्ता  दिग्विजय सिंह सेंगर,  सुरेश भदौरिया, अनुविभागीय दण्डाधिकारी भितरवार  के के गौर विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। 
सम्मेलन में मंत्री  लाखन सिंह यादव ने पत्रकारों का शॉल-श्रीफल एवं पुष्पाहार तथा स्मृति चिन्ह प्रदाय कर सम्मान किया। मंत्री  यादव ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि यह खुशी की बात है कि विश्वस्त पत्रकार संघ द्वारा ग्वालियर में प्रथम प्रांतीय सम्मेलन का आयोजन किया गया है। इस आयोजन के लिए संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित सभी पदाधिकारी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि पत्रकारों की लेखनी ऐसी होनी चाहिए कि अंतिम छोर के व्यक्ति को भी छपे हुए समाचार को पढ़ने में आसानी हो।  लाखन सिंह ने कहा कि समाचार पत्रों में प्रकाशित होने वाली संपादकीय से जहां ज्ञान अर्जित होता था और सीखने का मौका मिलता था। लेकिन अब संपादकीय धीरे-धीरे कम हो रही हैं, जिस पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है।  
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ पत्रकार  सुरेश सम्राट ने कहा कि प्रदेश के मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने प्रदेश में निराश्रित पशुओं के लिए गौशाला शुरू कर ऐतिहासिक कार्य किया है। उन्होंने भितरवार का गौरव बढ़ाने के साथ-साथ ग्वालियर की प्रतिष्ठा भी बढ़ाई है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में उपस्थित वरिष्ठ पत्रकार  राम विद्रोही ने अपने 60 वर्ष की पत्रकारिता के दौरान हमेशा जन – जन की बात को केन्द्र में रखकर समाचार लिखे हैं। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि हमें समाज में होने वाले सकारात्मक एवं अधिकारियों द्वारा किए जा रहे बेहतर कार्यों का भी उल्लेख करना चाहिए। 
 राम विद्रोही ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया में महात्मा गाँधी से बड़ा कोई पत्रकार नहीं है। उन्होंने पत्रकारिता को एक हथियार के रूप में उपयोग कर देश को आजाद कराया। कई गुलाम देशों को आजाद कराने में पत्रकारिता ने अहम भूमिका अदा की। वे विलक्षण प्रतिभा के धनी थे। उन्होंने इस बात पर चिंता व्यक्त की ‍िक वर्तमान समय में अखबारों की प्रसार संख्या बढ़ने के साथ पाठक अखबार को समय कम दे रहे हैं, यह हमारे लिए सोचने की बात है। उन्होंने कहा कि पत्रकारों को हिंदुस्तान की पत्रकारिता के इतिहास को भी पढ़ना चाहिए। 
कार्यक्रम का संचालन विश्वस्त पत्रकार संघ के प्रदेश अध्यक्ष  पी डी सोनी ने किया। स्वागत भाषण  सुरेन्द्र श्रीवास्तव ने दिया। इस अवसर पर विभिन्न प्रदेश सहित मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलों के पत्रकारों ने भाग लिया। 

2020-04-07aaj