BREAKING!
  • नेशनल हेल्थ मिशन का पेपर लीक, गिरोह के आठ सदस्य दबोचे, मास्टर माइंड प्रयागराज का
  • बदलते ग्वालियर में आप सभी का सहयोग जरूरी: ऊर्जा मंत्री
  • निगम अधिकारियों ने सुनी आमजन की समस्यायें
  • वार्ड समिति 3 की ज्योति एवं 4 के विवेक बने अध्यक्ष
  • विकास यात्रा में हितग्राहियों को किया हितलाभ का वितरण
  • स्त्री राष्ट्र की आधार शक्ति
  • कार्यों का हिसाब-किताब व विकास की सौगातें लेकर हम आपके गाँव आए हैं : कुशवाह
  • श्रीकृष्ण ने पढ़ाया था सच्ची मित्रता का पाठ, वर्तमान में बदल गयी परिभाषा:घनश्याम शास्त्री
  • मुख्यमंत्री जी बताये विकलांगजनों का कितना विकास कियाः जौहरी
  • विकास यात्रा के दौरान कलेक्टर ने किया विभिन्न शासकीय संस्थाओं का निरीक्षण

Sandhyadesh

ताका-झांकी

चुनावी वर्ष में उपलब्धियां बताने में सतीश, प्रघुम्न आगे; भारत सिंह, पाठक, लाखन, राजे पीछे

15-Jan-23 270
Sandhyadesh


नये वर्ष की शुरूआत हो चुकी है आज मकर संक्रांति भी निकल गई। चुनावी वर्ष है इसीलिये नेताओं, विधायकों ने पत्रकारों को अपनी उपलब्धियां गिनाने के लिये बुलाने की शुरूआत कर दी है। सबसे पहली शुरूआत महापौर डा. शोभा सिकरवार और उनके विधायक पति डा. सतीश सिकरवार ने की है। आज इसी सिलसिले में उर्जा मंत्री प्रघुम्न सिंह तोमर भी पत्रकारों के समक्ष बैठे, हालांकि इस माह के 15 दिन में ही दूसरी वार्ता करने बैठे।
लेकिन अभी तक शहर से राज्य मंत्रीमंडल में एक और मंत्री भारत सिंह कुशवाह पत्रकारों को भुलाये बैठे है न तो वह अपनी उपलब्धियां बता पा रहे हैं और न ही पत्रकारों से मुलाकात कर रहे हैं। यही हाल दक्षिण के कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक का भी है वह भी अभी तक अपने कार्यकाल की उपलब्धियां बताने पत्रकारों के समक्ष नहीं बैठे हैं। हालांकि वह जनता के बीच लगातार जा रहे हैं और अपनी लोकप्रियता बरकरार रखने के लिये हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। इसी प्रकार भितरवार से कांग्रेस विधायक पूर्व मंत्री लाखन सिंह यादव व डबरा के कांग्रेस विधायक सुरेश राजे भी पत्रकारों को अपनी उपलब्धियां नहीं बता पाये हैं। कुल मिलाकर चुनावी वर्ष में इन विधायकों को अपनी सफल योजनाओं व कार्य बताने की परंपराओं का पालन करना चाहिये। इनके कार्यकर्ता भी अपने नेताओं की उपलब्धियां जानने को बेताव हैं। 

Popular Posts