BREAKING!
  • फिल्मी स्टाइल में दिनदहाड़े डबरा में हुई सनसनीखेज लूट की घटना का पर्दाफाश, 4 आरोपी गिरफ्तार
  • महाविद्यालयों के प्राचार्य समय पर आये, कॉलेजों में साफ-सफाई रहे: कमिश्नर
  • मुख्यमंत्री जी की घोषणाओं में लगातार प्रपोजल बनते चले जायें: कमिश्नर सिंह
  • सुरताल में वायलिन से सुनाई राजस्थानी लोकवाद्य रावणहत्था की धुन
  • उद्यानिकी मंत्री कुशवाह ने ग्राम बंधौली में किया नल जल योजना का लोकार्पण
  • योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने कलेक्टर पहुँचे ग्राम सहसारी, चौपाल लगाकर की ग्रामीणों से चर्चा
  • जल जीवन मिशन में 55 लाख ग्रामीण परिवार हुए लाभान्वित, सर्टिफाइड ग्रामों की संख्या में मध्यप्रदेश अव्वल
  • शहर कांग्रेस अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा भारत जोड़ो यात्रा में हुये शामिल, राहुल गांधी से की मुलाकात
  • राहुल गांधी से कांग्रेस विधायक डाॅ. सिकरवार ने की मुलाकात
  • उद्योग और व्यापार के उन्नयन के लिये फेडरेशन ऑफ म.प्र.चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री सहयोगी की भूमिका में रहेगा: भूपेन्द्र जैन

Sandhyadesh

ताका-झांकी

अंग्रेजी हुकुमत से टकराई वीरांगना झलकारी बाईः डाॅ. शोभा सिकरवार

22-Nov-22 24
Sandhyadesh

ग्वालियर। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रभारी अध्यक्ष महाराज सिंह पटेल, महापौर श्रीमती शोभा सिकरवार एवं 16 ग्वालियर विधानसभा के विधायक डाॅ. सतीश सिकरवार के आतिथ्य में आज आकाशवाणी थाटीपुर रोड स्थित वीरांगना झलकारी बाई 191वीं की जयंती के अवसर पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं शाम को दीप प्रज्जवलित कर वीरांगना झलकारी बाई पुष्पांजलि अर्पित की।
महापौर श्रीमती शोभा सिकरवार तथा 16 ग्वालियर विधानसभा के विधायक डाॅ. सतीश सिकरवार ने वीरंगना झलकारी बाई के त्याग बलिदान कुर्बानी को नमन करते हुए कहा कि महारानी लक्ष्मीबाई के साथ मिलकर अंग्रेजी हुकुमत के छक्के छुटाने में और भारत की आजादी के आंदोलन में झलकारी बाई ने देश की महिलाओं को अंगे्रजी हुकुमत के खिलाफ जंग करने का आव्हान किया। कांग्रेस वीरंगना झलकारी बाई को नमन करती है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए शहर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रभारी अध्यक्ष महराज सिंह पटेल ने वीरांगना झलकारी बाई को नमन करते हुए कहा कि झांसी की रानी लक्ष्मीबाई को अंग्रेजी हुकुमत से बचाने के लिए अंग्रेजों से टकराने के लिए झलकारी बाई ने झांसी से लक्ष्मीबाई और उनके पुत्र को सुरक्षित निकाला और लक्ष्मीबाई बनकर अंगे्रजों से युद्ध किया, अंग्रेजों की सेना झलकारी बाई को लक्ष्मीबाई समझ कर युद्ध करती रही, जब अंग्रेजी हुकुमत को मालूम पड़ा कि लक्ष्माबाई तो झांसी से जा चुकी है, तो उन्होंने झलकारी बाई को गिरफ्तार करने की कोशिश की, वीरांगना झलकारी बाई ने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी।  
कार्यक्रम में जिला कार्यवाहक अध्यक्ष अमर सिंह माहौर, आनंद शर्मा, अवधेश कौरव, जयराज सिंह, भैयालाल भटनागर, जेएच जाफरी, प्रभूदयाल जौहरे, महादेव अपोरिया, कुलदीप कौरव, शोभाराम माहौर, बलराम ढींगरा, संजीव दीक्षित, भरत शर्मा, चेतन भार्गव, संदीप यादव, अनूप शिवहरे, गोविंद दास अग्रवाल, सोनू भदौरिया, मिक्की तोमर, आविद नकबी, गोविंद राजपूत, कामरान खां आदि उपस्थित थे।

Popular Posts