Recent Posts

ताका-झांकी

महिला हेल्पलाइनः दूसरे राज्यों के फोन भी, डीआईजी गोयल को पहल करनी ही पड़ी

2017-12-06 19:52:19 238
Sandhya Desh


ग्वालियर। मध्यप्रदेश के पुलिस विभाग की महिला अपराध हेल्पलाइन देशभर में सबसे ज्यादा चर्चित है, इसका प्रचार प्रसार इतना अधिक है कि दूसरे राज्यों की पीड़ित महिलाएं भी मदद के लिये इस हेल्पलाइन व संबंधित अधिकारी से मध्यप्रदेश में संपर्क करती है। अब मध्यप्रदेश पुलिस को ऐसे मामलों में मदद का नैतिक दायित्व व संबंधित राज्य व जिले की पुलिस को सूचना देना बनता ही हैं।
ऐसा ही वाक्या पिछले कुछ समय पूर्व ग्वालियर चंबल संभाग के डीआईजी महिला अपराध अशोक गोयल के साथ हुआ। डीआईजी अशोक गोयल ने महिला हेल्पलाइन के पेम्पलेट स्वयं छपवाकर अंचल में, ट्रेनों में व बस स्टेण्ड पर खूब वितरित कराये हैं। इन पर महिला हेल्पलाइन का 1090 नंबर उनका मोबाइल नंबर भी प्रिंट हैं। हुआ यूं कि पेम्पलेट दो माह पूर्व चंडीगढ़ में एक पीड़िता महिला को कहीं से मिला। जिसमें उक्त महिला ने डीआईजी अशोक गोयल का मोबाइल नंबर देखकर उनको फोन लगा दिया। जब डीआईजी अशोक गोयल को पूछताछ में पता चला कि महिला चंडीगढ़ में रहती हैं, तो वह शांत हो गये, लेकिन उनके मन में इंसानियत का जज्बा जागा। उन्होंने सोचा कि महिला की मदद नहीं हुई तो उक्त   महिला के साथ न जाने क्या हो जायेगा।
इस पर डीआईजी अशोक गोयल ने चंडीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से संपर्क का उक्त जानकारी दी और महिला की मदद होने तक पूरे मामले को फाॅलो भी करते रहे, जिससे वह महिला आज सुरक्षित है और डीआईजी अशोक गोयल को ईश्वर द्वारा मदद को भेजा गया प्रतिनिधि मानती हैं। गोयल ने बताया कि अब हमें  बाहर से आने वाले मदद के नंबर भी रिसीव करने ही पड़ते है, यहीं मध्यप्रदेश पुलिस का लोगों में विश्वास हैं। 

Latest Updates