स्वच्छता अभियान में पब्लिक लीडरशिप की आवश्यकता : निगमायुक्त

2018-11-13 19:25:30 55
Sandhya Desh


ग्वालियर । स्वच्छता के उददेश्य में हम जब तक सफल नहीं होंगे तब तक इसमें पब्लिक की लीडरशिप नहीं होगी तथा जब तक आम आदमी सोचेगे कि स्वच्छता का कार्य केवल नगर निगम का कार्य है। तो हम कभी भी स्वच्छता में अव्वल नहीं आ पाएंगे। स्वच्छता एक साल का कार्य नहीं बल्कि प्रतिदिन का कार्य है तथा सभी के जीवन से जुडा हुआ सबसे महत्वपूर्ण कार्य है। इसलिए इस कार्य में सभी की सहभागिता आवश्यक है। ग्रीन ग्वालियर क्लीन ग्वालियर के नारे से ग्वालियर क्लीन नहीं होगा इसके लिए सभी को मिलकर कार्य करना पडेगा। उक्ताशय के विचार निगमायुक्त विनोद शर्मा ने शहर के अनेक रहवासी संघ, कॉलोनी विकास समिति एवं बिल्डर व डव्लपर के साथ आयोजित स्वच्छता जागरुकता कार्यशाला को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।
स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के लिए आमजनों को जागरुक करने हेतु आयोजित कार्यशाला के तहत मंगलवार को स्वच्छता जागरुकता कार्यशाला का आयोजन बालभवन के सभागार में किया गया। कार्यशाला में नगर निगम आयुक्त विनोद शर्मा, सीईओ स्मार्ट सिटी महीप तेजस्वी, उपायुक्त देवेन्द्र सुन्दरियाल, ब्रांड एम्बेसडर स्वच्छता अभियान  पवन दीक्षित, गिरीश शर्मा, श्रीमती सुमन अग्रवाल सहित शहर की विभिन्न कॉलोनियों एवं रहवासी संघ के पदाधिकारी उपस्थित थे। स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 को लेकर आयोजित कार्यशाला को संबोधित करते हुए निगमायुक्त शर्मा ने कहा कि स्वच्छता हम सभी की जिम्मेदारी इसके लिए सभी मिलकर सहभागिता करें। यदि हमारी संस्था का परिसर, घर, गली, मोहल्ला, कॉलोनी एवं शहर  आदि साफ व स्वच्छ नहीं है तो इसके लिए हम स्वयं ही जिम्मेदार हैं तथा यह हमारी लापरवाही है। स्वच्छता के प्रति हम सभी को अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन करना ही होगा।
कार्यशाला के प्रारंभ में सीईओ स्मार्ट सिटी महीप तेजस्वी ने सभी रहवासी संघों के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के तहत रहवासी संघों को क्या करना है, सभी से क्या अपेक्षा हैं इसकी जानकारी दी तथा सभी से अपील की कि अपनी अपनी सोसायटी एवं कॉलोनी में स्वच्छता के लिए ड्राइव चलाएं तथा महिलाओं व बच्चों को इसमें जोडें और उन्हें बताएं कि किस प्रकार से कचरे का डिस्पोजल करना है। स्वच्छता के लिए आपस में प्रतियोगिता करें तथा अपनी अपनी कॉलोनी को सबसे ज्यादा स्वच्छ बनाने के लिए आगे आएं। प्रारंभ में कार्यशाला के उददेश्य एवं स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के नार्म्स के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर विभिन्न रहवासी संघों के पदाधिकारियों कों अपनी अपनी कॉलोनी एवं सोसायटी के प्रत्येक घर में दो-दो डस्टबीन एवं हरे कचरे से खाद बनवाने की जिम्मेदारी दी गई। जिसमें माधवनगर, एमके सिटी, विन्डसर हिल्स, मुरार क्षेत्र, गुलमोहर सिटी, मधुवन एनक्लेव सहित अन्य कॉलोनियां शामिल रहीं।

Latest Updates