पेम्प्लेट व पोस्टर के मुद्रण एवं संख्या की जानकारी जनसंपर्क विभाग को देना जरूरी

2018-11-13 19:01:22 38
Sandhya Desh


ग्वालियर । विधानसभा निर्वाचन-2018 में भारत निर्वाचन आयोग नईदिल्ली और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी भोपाल द्वारा जिले में संचालित प्रिंटिंग प्रेस के मुद्रक एवं प्रकाशकों के लिये निर्देश जारी किए गए हैं, जिसके अनुसार प्रत्येक मुद्रक एवं प्रकाशक को संभागीय जनसंपर्क कार्यालय में मुद्रण की जाने वाली सामग्री, संख्या, कीमत आदि की जानकारी देना जरूरी है। 
अपर संचालक जनसंपर्क एवं सचिव एमसीएमसी समिति निर्वाचन कार्यालय ग्वालियर जी एस मौर्य ने जिले की प्रिंटिंग प्रेसों के मुद्रक एवं प्रकाशकों को पत्र जारी कर निर्वाचन आयोग के निर्देशों का पालन करने के लिये ताकीद किया है। पत्र के मुताबिक समस्त मुद्रक एवं प्रकाशक निर्वाचन संबंधी किसी भी राजनैतिक दल, राजनैतिक दलों के प्रत्याशियों के निर्वाचन, प्रचार-प्रसार के लिए मुद्रित होने वाले पेम्प्लेट्स, पोस्टर इत्यादि पर मुद्रक प्रकाशक का पूरा नाम और पता तथा मुद्रित प्रतियों की संख्या अनिवार्य रूप से उल्लेख करेंगे। 
मुद्रित एवं प्रकाशित की जाने वाली प्रत्येक सामग्री की एक - एक प्रति संभागीय जनसंपर्क कार्यालय मोतीमहल ग्वालियर एवं जिला निर्वाचन कार्यालय को तत्काल उपलब्ध कराएंगे। इसके साथ ही मुद्रित सामग्री के संबंध में अपेडिक्स (प्रपत्र) ए और बी की भी पूर्ति कर जनसंपर्क कार्यालय में उपलब्ध कराएंगे। पेम्प्लेट एवं पोस्टर पर होने वाले व्यय को संबंधित प्रत्याशी के लेखा व्यय में शामिल किया जायेगा। निर्वाचन निर्देशों का उल्लंघन पाए जाने की स्थिति में संबंधित प्रकाशक एवं मुद्रक के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी। 

निर्वाचक नामावली के विक्रय के लिये दर निर्धारित 
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के दिशा-निर्देशों के तहत ग्वालियर जिले के सभी 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों (मतदाता सूची) के विक्रय की दरें निर्धारित कर दी गई है। मालूम हो मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन गत 27 सितम्बर को और अनुपूरक सूची का प्रकाशन गत 9 नवम्बर को किया गया था। इसके बाद मुद्रित निर्वाचक नामावली के विक्रय की दरें कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार वर्मा द्वारा निर्धारित की गई हैं। 
उप जिला निर्वाचन अधिकारी आर के पाण्डेय ने बताया कि साधारण रूप से मतदाता सूची प्राप्त करने के लिये विक्रय दर एक रूपए प्रति पेज और तत्काल प्राप्त करने के लिये 2 रूपए प्रति पेज के हिसाब से निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों से चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों को मूल निर्वाचक नामावली एवं पूरक सूची की नि:शुल्क प्रतियां प्रदान करने के निर्देश हैं। साथ ही निर्धारित दर के अनुसार राशि अदा कर प्रत्याशी व राजनैतिक दल मतदाता सूचियों की प्रतियां प्राप्त कर सकते हैं। 
जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र-14 ग्वालियर ग्रामीण की मतदाता सूची की विक्रय दर (साधारण रूप से 11340 रूपए व तत्काल प्राप्त करने के लिये 22680 रूपए) निर्धारित की गई है। इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र 15-ग्वालियर की सूची की विक्रय दर (साधारण रूप से 13616 व तत्काल प्राप्त करने के लिये 27232), विधानसभा क्षेत्र 16-ग्वालियर पूर्व की विक्रय दर (साधारण रूप से 14813 व तत्काल प्राप्त करने के लिये 29626), विधानसभा क्षेत्र-17 ग्वालियर दक्षिण की सूची की विक्रय दर (साधारण रूप से 12401 व तत्काल प्राप्त करने के लिये 24802), विधानसभा क्षेत्र 18-भितरवार की सूची की विक्रय दर (साधारण रूप से 10936 व तत्काल प्राप्त करने के लिये 21872) एवं विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र-19 डबरा (अजा.) की मतदाता सूची की विक्रय दर (साधारण रूप से 10927 रूपए व तत्काल प्राप्त करने के लिये 21854 रूपए) निर्धारित की गई है। मतदाता सूचियों के विक्रय की यह दरें विधानसभा निर्वाचन-2018, आगामी लोकसभा निर्वाचन-2019 तथा उपचुनाव के लिये प्रभावशील रहेंगीं। 

Latest Updates