विधानसभावार हुआ मतदान दलों का निर्धारण

2018-11-13 18:58:17 46
Sandhya Desh


ग्वालियर । जिले के सभी 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान सम्पन्न कराने के लिये मतदान दलों का निर्धारण हो गया है। ईपीडीएस कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर के जरिए प्रेक्षकगणों की मौजूदगी में मतदान दलों का विधानसभावार रेंडमाइजेशन किया गया। मतदान दलों के रेण्डमाइजेशन के बाद माइक्रो आब्जर्वर का रेण्डमाइजेशन भी किया गया। 
बुधवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई मतदान दलों के रेण्डमाइजेशन में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार वर्मा भी मौजूद थे। साथ ही भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त  विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र-14 ग्वालियर ग्रामीण के प्रेक्षक श्री राजीव आर जाधव, 15 ग्वालियर के प्रेक्षक अनिल कुमार, 16 ग्वालियर पूर्व के प्रेक्षक दिनेशन एच, 17 ग्वालियर दक्षिण के प्रेक्षक जय कुमार व्ही एवं 18 भितरवार के प्रेक्षक उदय प्रताप मौजूद थे। रेंडमाइजेशन की कार्रवाई के दौरान सभी विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारी एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी आर के पाण्डेय सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। रेण्डमाइजेशन की कार्रवाई एनआईसी की सूचना विज्ञान अधिकारी श्रीमती तृप्ति निगम द्वारा संपादित की गई। मतदान दलों के द्वितीय चरण के रेंडमाइजेशन के बाद अब किस विधानसभा क्षेत्र में कौन से मतदान दल चुनाव करायेंगे, यह तय हो गया है। लेकिन कौन सा मतदान दल किस मतदान केन्द्र पर मतदान संपादित करायेगा, इसका फैसला तृतीय चरण के रेंडमाइजेशन के बाद होगा। 

जिले में कुल 1726 मतदान केन्द्र 
बैठक में बताया गया कि मतदान दलों के लिये लगभग 9 हजार अधिकारी-कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया जायेगा। रेंडमाइजेशन के बाद जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिये लगभग 1900 मतदान दल गठित किए गए हैं। इन मतदान दलों में लगभग कुल 7600 अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। बता दें जिले में कुल 1726 मतदान केन्द्र हैं। इनमें से विधानसभा क्षेत्र ग्वालियर ग्रामीण में 276, ग्वालियर में 312, ग्वालियर पूर्व में 331, ग्वालियर दक्षिण में 287, भितरवार में 265 एवं विधानसभा क्षेत्र डबरा के 255 मतदान केन्द्र शामिल हैं।
 
ईव्हीएम का रेंडमाइजेशन 16 नवम्बर को 
आगामी 28 नवम्बर को होने वाले मतदान में प्रयुक्त होने वाली इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (ईव्हीएम) का द्वितीय रेंडमाइजेशन 16 नवम्बर को किया जायेगा। इस दिन प्रात: 11 बजे प्रेक्षकगणों की मौजूदगी में होगा। इस अवसर पर मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधिगण, अभ्यर्थी अथवा उनके अभिकर्ता भी मौजूद रह सकते हैं। 

Latest Updates