Recent Posts

ताका-झांकी

कलेक्ट्रेट में कतारबद्ध होकर आगुंतक कर रहे हैं प्रदर्शन ईवीएम से वोट का सत्यापन

2018-10-17 18:55:01 40
Sandhya Desh

 
ग्वालियर। हजीरा निवासी आशाराम ने जैसे ही ईवीएम का बटन दबाया, वैसे ही पास में रखे वीवीपैट की स्लिप में प्रदर्शित हो गया कि उन्होंने किसे वोट दिया है। यह देखकर आशाराम को खुशी तो हुई पर वे आश्चर्यचकित भी थे। इसकी वजह थी आशाराम ने ईवीएम से भी कई बार मताधिकार का उपयोग किया था, लेकिन वोट डालते ही कभी ऐसी पर्ची नहीं दिखी, जिससे पता चल जाए कि उनका वोट किसको गया है। पर उन्होंने जब प्रदर्शन के लिए रखी ईवीएम से वोट डाला तो वीवीपैट की पर्ची में तत्काल दिखाई दे गया कि उनका वोट किसे गया है। 
आशाराम की तरह कलेक्ट्रेट में अपने काम से आई ज्योति, महेन्द्र, सुखवीर सहित  कई युवा एवं बुजुर्ग आगुंतकों ने मुख्य प्रवेश द्वार के सामने मतदाता जागरूकता अभियान के तहत बनाए गए काउण्टर पर प्रदर्शन के लिये रखी ईवीएम से वोट डालकर देखे। इन सभी का कहना था कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा वीवीपैट के माध्यम से मतदान प्रक्रिया को और पारदर्शी बना दिया गया है। कलेक्ट्रेट में बने काउण्टर पर लोग कतारबद्ध होकर प्रदर्शन ईवीएम से वोट डालकर देख रहे हैं और वीवीपैट में पर्ची देखकर वोट का सत्यापन भी कर रहे हैं। 

उटीला में नुक्कड़ नाटक के जरिए मतदाताओं को किया जागरूक 

"नोट के बदले वोट न बेचो, नहीं बड़ा पछताओगे" जैसे नारे लगाते हुए नुक्कड़ नाटक में कलाकारों ने जब उत्कृष्ट अभिनय के जरिए मतदान का महत्व बताया तो उटीलावासी बोले हम सब बिना किसी प्रलोभन में फँसे अपनी मर्जी से सुयोग्य उम्मीदवार को चुनने के लिये वोट डालेंगे। साथ ही सभी को मतदान के लिए प्रेरित करेंगे। ग्राम उटीला में रंग नाट्यम संस्था के कलाकारों द्वारा स्वीप प्लान के तहत "वोट फॉर कंट्री" नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया। मतदाताओं को जागरूक करने के लिए स्वीप (सिस्टमेटिक वोटर्स एज्यूकेशन एण्ड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन) के तहत जिले में नुक्कड़ नाटक व अन्य जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। साथ ही ईवीएम से वोट डालने और वीवीपैट (वोटर वैरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रायल) के बारे में भी बताया जा रहा है। इसी के तहत बुधवार को ग्राम उटीला में इस नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया। 

Latest Updates