Recent Posts

ताका-झांकी

एलएनआईपीई ने किशोर न्याय बोर्ड में चलाया स्वच्छता अभियान

2018-08-10 19:09:00 140
Sandhya Desh


ग्वालियर। युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार 1 से 15 अगस्त तक आयोजित 15 दिवसीय स्वच्छता पखवाड़े के अंर्तगत आज लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान के प्रभारी कुलसचिव प्रो. विवेक पांडे,  किशोर न्याय बोर्ड में स्वच्छता अभियान के लिए विशेषतः आमंत्रित श्रीमती अराधना डुरेहा,  प्रो. विल्फ्रेड वॉज़ (निदेशक, खेल, विस्तार सेवाएं व रोजगार प्रकोष्ठ), प्रो. के.के साहु, प्रो. सी.पी भाटी, डॉ. एम.एस राठौर संस्थान के छात्रों व कर्मचारियों के साथ बच्चों को स्वच्छता, शिक्षा व खेल के महत्व पर जागरूक करने हेतु ग्वालियर शहर के किशोर न्याय बोर्ड गए। 
श्रीमती डुरेहा ने बच्चों से संवाद करते हुए कहा कि आप सभी के लिए पूरा आसमान खुला हैं। बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए श्रीमती डुरेहा ने कहा कि बेहतर भविष्य के लिए आवश्यक हैं कि आप स्वयं के आवश्यक्ता अनुसार सकरात्मक कदम उठाएं और नकरात्मक गतिविधियों से दूरी बनाए। आप सभी गुणवान हैं आवश्यक्ता हैं स्वयं को समय देने की व स्वयं की बेहतर पहचान की। आप सभी को इस परिसर में रहते हैं इसलिए यह आपका दायित्व हैं कि आप सभी इस परिसर की स्वच्छता का ख्याल रखें। आपको स्वच्छता के साथ ही शिक्षा व खेलों को भी र्प्याप्त समय देना चाहिए। प्रभारी कुलसचिव प्रो. पांडे ने बच्चों  से कहा कि स्वच्छता अच्छे स्वास्थ की कुंजी हैं अंतः स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने की आवश्यक्ता हैं। 
प्रभारी कुलसचिव प्रो. पांडे ने बच्चों से कहा कि हम सभी को प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि हमारे पर्यावरण के लिए यह अंत्यत ही हानिकारक हैं। प्रो. वॉज़ ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें संपूर्ण स्वच्छता पर ध्यान देना हैं और संपूर्ण स्वच्छता से मेरा तात्पर्य आंतरिक व बाह्य दो प्रकार की स्वच्छता व शुद्धता से हैं। आंतरिक अर्थात आत्मा की शुद्धता, बुरे विचारों का त्याग व सही भाषा के चयन से हैं व बाह्य से तात्पर्य सही जीवनशैली, आसपास की स्वच्छता से। बच्चों को संबोधित करने से पूर्व संस्थान के आचार्यों, छात्रों व कर्मचारियां ने किशोर न्याय बोर्ड के परिसर में स्वच्छता अभियान के तहत साफ-सफाई भी की।
संस्थान के छात्रों ने मनोरंजक खेलों व एरोबिक्स डांस के द्वारा बच्चों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। किशोर न्याय बोर्ड से लौटने से पूर्व संस्थान के आचार्यों व छात्रों ने वहां के छात्रावासों का दौरा भी किया।  

Latest Updates