Recent Posts

ताका-झांकी

अकेले जुटे नायक

2018-07-19 09:50:50 217
Sandhya Desh


आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com
मध्यप्रदेश की राजनीति के इतिहास में कई नायक देखे है, पर ऐसा नायक नहीं देखा होगा जिसका जादू सिर चढ़कर बोलता है। रथ पर भी अकेले खड़े होकर जनआर्शीवाद ले रहे है और 4थी बार फिर भाजपा फिर शिवराज का दंभ भर रहे है। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com
अबकी बार की जनआर्शीवाद यात्रा कुछ अलग है। उनके रथ पर खास सारथी का स्थान प्रभारी प्रभात झा ने ले लिया है। जबकि पिछले दफा उनके सखा केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर कंधे से कंधे मिलाकर खड़े रहते थे। उनका स्थान प्रभात झा लेकर बखूबी 4थी बार के लिए हुंकार भर रहे है। परंतु इन सबसे भिन्न नायक शिवराज अकेले ही जनता से मिल रहे है और 4थी बार सरकार बनाने के लिए पूरा जोर लगा रहे है। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com विपक्षी कांग्रेस उन्हें यात्रा के दौरान भी घेरने से नहीं चूक रही है, लेकिन राजनीति के चाणक्य नायक हर हमले का जवाब अपने ही अंदाज में दे रहे है। साथ ही जनआर्शीवाद से मध्यप्रदेश में इतिहास रचने का सपना संजोये है। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com

Latest Updates