Recent Posts

ताका-झांकी

प्रदूषण नियंत्रण में ढ़िलाई बर्दाश्त नहीं होगी – कलेक्टर

2018-06-14 18:35:11 108
Sandhya Desh


ग्वालियर । पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिये सभी विभाग निर्धारित मानकों के तहत पुख्ता इंतजाम करें। इसमें किसी प्रकार की उदासीनता बर्दाश्त नहीं होगी। यह निर्देश कलेक्टर अशोक कुमार वर्मा ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए। उन्होंने वायु, ध्वनि एवं जल प्रदूषण रोकने के लिए बनाई गई कार्ययोजना और अब तक हुई कार्रवाई की विभागवार रिपोर्ट मांगी है। 
गुरूवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर वर्मा ने प्रदूषण नियंत्रण के लिए किए गए उपायों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र को हिदायत दी कि शहर की सभी औद्योगिक इकाइयों की प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार नियमित जांच कराएं। साथ ही प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की अनुमति के बगैर कोई भी इकाई संचालित न हो। वर्मा ने कोल आधारित बॉयलर एवं डीजी वाली ऐसी औद्योगिक इकाईयों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए जिन्होंने वायु प्रदूषण रोकने के लिये पुख्ता इंतजाम नहीं किए हैं। 
कलेक्टर ने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए कि प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों का संचालन सख्ती से रोकें। साथ ही शहर में परिवहन के लिये सीएनजी वाहनों को बढ़ावा दें। उन्होंने निर्देश दिए कि वाहनों में प्रदूषण जाँच के लिये शहर के सभी पेट्रोल पम्पों पर उपकरण स्थापित किए जाएं। बैठक में बताया गया कि शहर में वाहनों से फैलने वाले प्रदूषण की जाँच के लिए 5 चलित वाहनों सहित 31 जाँच केन्द्र स्थापित हैं। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2022 के बाद शहर में डीजल चलित विक्रम, ऑटो इत्यादि वाहन नहीं रह जायेंगे। इनके स्थान पर सीएनजी वाहन के परमिट प्रमुखता से दिए जा रहे हैं। 
नगर निगम के अधिकारियों से कलेक्टर ने तरल व ठोस अपशिष्ट प्रबंधन की जानकारी मांगी है। उन्होंने कहा गंदे पानी से सब्जी उगाने की प्रवृत्ति को सख्ती से रोकें। साथ ही वायु प्रदूषण रोकने के लिए निर्माण कार्यों के आस-पास पानी का छिड़काव कराया जाए। उन्होंने सुनियोजित कार्ययोजना बनाकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के साथ वृहद वृक्षारोपण करने पर भी विशेष जोर दिया। बैठक में बताया गया कि शहर में चार नए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित होने जा रहे हैं। साथ ही पहले से भी ट्रीटमेंट प्लांट काम कर रहे हैं। कलेक्टर वर्मा ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को वायु प्रदूषण के संबंध में क्षेत्र और समय का विवरण देते हुए प्रदूषण मानकों के अनुसार जानकारी देने के निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रदूषण नियंत्रण के लिये अभी तक किए गए प्रयासों की जानकारी भी मांगी है। 
उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि शहर की परिवेशीय वायु में निर्धारित मानकों से अधिक प्रदूषण की मात्रा कदापि नहीं होना चाहिए। वायु प्रदूषण में सुधार न होने पर संबंधित विभाग के अधिकारी जवाबदेह होंगे। कलेक्टर ने उप पुलिस अधीक्षक यातायात को निर्देश दिए कि नगर में जगह-जगह थोड़ी-थोड़ी दूर पर लगी रेड लाईटों की वजह से जाम की स्थिति निर्मित न हो। इसलिए लाइट के स्थानों की समीक्षा करें और उचित स्थानों पर ही रेड लाईट लगाई जाएं। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर, एसडीएम आर के पाण्डेय, अपर आयुक्त नगर निगम रिंकेश वैश्य, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एसपीएस चौहान, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वैज्ञानिक आर के जैन, जिला आपूर्ति नियंत्रक, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र, डीएसपी यातायात एवं अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 

Latest Updates