Recent Posts

ताका-झांकी

एसी कमरों तक सिमटी पार्टी विद डिफरेंस

2018-06-13 09:15:45 281
Sandhya Desh


आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com
पार्टी विद डिफरेंस का जुमला थामे राजनीति करने वालों का वीआईपी कल्चर सुर्खियां बंटोर रहा है। जमीन से दूर सत्ता सुख में मदमस्त कमल दल के साथी बोस के साथ एसी कमरों में माथापच्ची तो कर रहे है, पर जमीन को नहीं भांप रहे। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com
आपको बताते चलें कि मोदी के दिल्ली की सत्ता में आने के बाद वीआईपी कल्चर पर रोक लगाने का असर मप्र में दिखता नहीं। यहां के मठाधीश चुनावी मोड़ में आने के बाद भी इस कल्चर से ग्रस्त है। यह कल शाह साहब के दौरे के दौरान भी दिखा। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com सरकार चुनावी मोड़ में आ चुकी है और आज भी जमीन पर ना उतरकर पार्टी विद डिफरेंस के राज्य के आला नेता एसी कमरों में बैठकर चुनावी तैयारियां कर रहे है। जबकि पिछले दिनों उपचुनावों में पूरी ताकत झोंकने के बाद करारी हार का तमाचा मिला है। अब जब चुनावों में कुछ ही माह शेष है, तब भी पार्टी जमीन से दूर आसमान और एसी कमरों तक सीमित है। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com
हवा से नेता आते है, कार्यकर्ता की सुध लिये बिना नेताओं से मिलकर निर्देश देकर निकल जाते है। परंतु जमीन की किसी को फिक्र नहीं। जबकि विपक्ष हमलावर हो चुका है। खुद राज्य के सबसे बड़े चेहरे के उपचुनावों में डेरा डालने और तमाम आश्वासनों के बाद पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। ऐसे में भी सिर्फ हवा हवाई और घोषणाओं तक सरकार और पार्टी सिमट कर रह गई है। लगता है पार्टी विद डिफरेंस वाकई में काफी डिफरेंट हो गई है। आप पढ़ रहे हैं www.sandhyadesh.com

Latest Updates