नरेन्द्र सिंह और प्रभात झा में एका?

2018-06-05 20:37:57 649
Sandhya Desh


(विनय अग्रवाल)
ग्वालियर। ग्वालियर में भाजपा की एक नई राजनैतिक जोड़ी कहानी शुरू हुई। एक ही पार्टी के दो राजनैतिक घुर विरोधी न केवल एक साथ कार्यक्रम में सम्मिलित हुये, बल्कि दिल्ली भी साथ-साथ ही गये। एक ही पार्टी में रहकर भी दोनों में ज्यादातर अबोला रहता हैं। लेकिन एक साथ मिलने के बाद दो नई अच्छी खबरें भी आई कि दोनों के पुत्रों को भाजयुमो में प्रभारी की जिम्मेदारी भी मिल गई। वहीं दोनों का एक साथ मिलना भी सत्ता के सुप्रीमो के लिये चिंता की खबर हैं।
ग्वालियर अंचल में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सांसद प्रभात झा का आज पीएफ के कार्यक्रम में मिलना, साथ बैठना, फिर साथ ही दिल्ली जाना सुखद राजनैतिक शुरूआत रही। हालांकि दोनों राजनैतिक यात्रा के शुरूआती यात्री रहे हैं, लेकिन समय के साथ भाजपा में राजनैतिक महत्वाकांक्षा के चलते दोनों में कभी ज्यादा तालमेल नहीं रहा। प्रभात झा के प्रदेशाध्यक्ष बनने व उनके हटने के बाद यह तालमेल और कम हुआ, जिसका पार्टी को काफी खामियाजा भी उठाना पड़ा। 

लेकिन अब मध्यप्रदेश की चुनाव अभियान समिति के प्रमुख बनने के बाद केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बनाई महत्वपूर्ण कमेटी में प्रभात झा को साथ लेकर तालमेल का हाथ बढ़ाया हैं। आज प्रभात झा ने भी पीएफ के कार्यक्रम में दो घंटे तेज गर्मी में भरे पंडाल में केन्द्रीय मंत्री तोमर के आने का इंतजार कर अपनी सहनशीलता का परिचय दिया। इतना ही नहीं पीएफ कार्यक्रम में विशेष अतिथि रहे प्रभात झा ने केन्द्रीय मंत्री तोमर की तारीफों में जमकर कसीदें पढ़े, उन्हें अपना नेता बताया। वहीं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने भी उनकी प्रशंसा की, उदबोधन में उनको प्रभात झा साहब भी कहकर संबोधित किया। 
इसके बाद दोनों नेता गतिमान एक्सप्रेस से साथ दिल्ली गये। दोनों का एक साथ दिल्ली जाना चर्चा का विषय है और यह खबर भोपाल तक भी है। इससे सत्ता में बैठे लोगों को इस एका से चिंता हो सकती है, लेकिन प्रभात झा और केन्द्रीय मंत्री तोमर का साथ रहना अंचल में भाजपा के लिए लाभकारी हो सकता है। वैसे पिछले काफी दिनों से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मंदसौर कांड के बाद प्रभात झा के संबंध प्रगाढ़ हुये है, वह इस मामले में सरकार की पैरवी करने वाले दमदार भाजपा नेता के रूप में उभरे थे, वहीं उन्होंने कोलारस उपचुनाव में भी सिंधिया के खिलाफ मोर्चा सम्हालकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी।
प्रभात झा और केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर की संबंध सुधारात्मक प्रक्रिया के बाद दोनों के समर्थकों में भी एका का संदेश जायेगा। 

Latest Updates