Recent Posts

ताका-झांकी

कृषि विश्वविद्यालय के छात्रों ने बनाए एनर्जी ड्रिंक और फ्रूट जैम

2018-05-16 19:49:31 171
Sandhya Desh


ग्वालियर। गर्मियों के समय में तन मन को राहत देने के लिए फलों के रस से लेकर तमाम तरह के शीतल पेय बाजार में उपलब्ध हैं। ऐसे मेें जल्द ही राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय में तैयार शीतल पेय लोगों के लिए न्यूनतम दर उपलब्ध होंगे। उद्यानिकी विभाग की अगुआई में छात्रों के बनाए उत्पादों को सार्वजनिक विक्रय के लिए उपलब्ध कराने प्रक्रिया जारी है।
कृषि विश्वविद्यालय के अंर्तगत लर्निंग विद अर्निंग को बढ़ावा देने उद्यानिकी विभाग के अंतर्गत इस कार्ययोजना पर काम किया जा रहा है। दरअसल उद्यानिकी विभाग अंतर्गत बीएसएसी कृषि के छात्र छात्राओं के लिए चतुर्थ ईयर के द्वितीय सेमिस्टर में एक्सपीरियंस  लर्निंग प्रोग्राम एक अनिवार्य अध्याय है। इसके अंतर्गत कृषि के छात्र छात्राएं पोस्ट हार्वेस्ट मैनेजमेंट एंड वैल्यू एडीशन इन फ्रूटस एंड वेजीटेबल हार्टीकल्चर माॅड्यूल का प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं और फलों और सब्जियों से अधिक गुणपत्तापरक उत्पाद बनाने की तकनीक सीखते हैं। इस प्रशिक्षण में कृषि के विद्यार्थियों को फलों और सब्जियों का संरक्षण, उनसे विभिन्न उत्पाद बनाने की विधियां, खाद्य उत्पादों का प्रशिक्षण, तैयार उत्पादों की पैकिंग, मार्केटिंग और उसको ग्राहकों के बीच विक्रय और लोकप्रिय बनाने के बारे में भी प्रारंभिक प्रशिक्षण दिया जाता है। एक्सपीरियंस लर्निंग प्रोग्राम कार्यक्रम को विस्तार देते हुए कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर अपने यहां विभिन्न खाद्य उत्पादों के नियमित निर्माण कराने एवं विधिवत विक्रय के लिए उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रहा है। इसी क्रम में उद्यानिकी विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. राजेश लेखी के नेतृत्व में कृषि महाविद्यालय के 32 छात्र छात्राओं ने अपने द्वारा तैयार आम के रस का कृषि विश्वविद्यालय परिसर में स्टाॅल लगाकर प्रदर्शन किया। 
उद्यानिकी के छात्र छात्राओं द्वारा स्वयं तैयार आम के रस की पैक बोतल और फलों के जैम की गुणवत्ता और विशेषता के बारे में महाविद्यालय के अधिकारियों, शिक्षकों एवं कर्मचारियों को बताया गया। इस अवसर पर तैयार उत्पादों का अधिकारियों एंव कर्मचारियों ने लागत न्यूनतम राशि पर लुत्फ भी उठाया। इस अवसर पर डाॅ. राजेश लेखी ने कहा कि कृषि के माध्यम से रोजगार के विविध अवसर उपलब्ध कराने की दिशा में छात्र छात्राओं के लिए यह प्रशिक्षण बहुत कारगर साबित हो रहा है। विश्वविद्यालय में तैयार उत्पादों को सार्वजनिक उपयोग के लिए उपलब्ध कराने के लिए खाद्य उत्पादों के संबंध में विधिवत प्रक्रिया पर कार्य तेजी से जारी है। इस अवसर पर उद्यानिकी की वैज्ञानिक डाॅ रश्मि वाजपेयी सहित एक्सपीरियंस लर्निंग प्रोग्राम के सभी छात्र छात्राएं मौजूद थे।

Latest Updates