Recent Posts

ताका-झांकी

अधोसंरचना के क्षेत्र में सरकार ने ऐतिहासिक काम किए : बिसेन

2018-05-16 19:47:41 76
Sandhya Desh


* प्रभारी मंत्री ग्रामों में पहुँचे, विकास कार्यों का किया लोकार्पण एवं भूमिपूजन
ग्वालियर । पिछले 14 साल की अवधि में मध्यप्रदेश में अधोसंरचना के क्षेत्र में ऐतिहासिक काम हुए हैं। साथ ही सामाजिक एवं आर्थिक विकास की नई इबारत लिखी गई है। यह बात जिले के प्रभारी एवं किसान कल्याण व कृषि विकास मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने कही। बिसेन बुधवार को  विकास यात्रा के तहत ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न ग्रामों में आयोजित हुए विकास कार्यों के लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रमों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक भारत सिंह कुशवाह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवम वर्मा एवं अन्य संबंधित अधिकारी उनके साथ थे।

विकास यात्रा के दौरान प्रभारी मंत्री बिसेन ने विभिन्न ग्रामों में 4 करोड़ 58 लाख रूपए लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इन कार्यों में पुरानी छावनी में एक करोड़ 55 लाख की लागत से बने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के अत्याधुनिक भवन का लोकार्पण शामिल है। इस भवन में 8 अध्ययन कक्ष,  2 प्रयोगशाला,  प्राचार्य व स्टाफ  के लिए  अलग-अलग कक्ष तथा महिला व पुरुषों के लिए पृथक-पृथक शौचालय बनाए गए हैं । बिसेन ने इसी भवन में 88 लाख की लागत से बनने जा रहे 5 अतरिक्त कक्षों का भूमिपूजन भी किया। इसके अलावा ग्राम भयपुरा में लगभग डेढ़ करोड़ की लागत से निर्मित विद्युत उपकेंद्र का लोकार्पण भी विकास यात्रा के दौरान प्रभारी मंत्री ने किया। इस केन्द्र के बनने से एक दर्जन से अधिक गांवों को सुचारू और उचित वोल्टेज में विद्युत आपूर्ति हो सकेगी। प्रभारी मंत्री ने  शंकरपुर-जिगसोली मार्ग से ग्राम जेबरा तक मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गई डामरीकृत सड़क का लोकार्पण भी किया । इस सड़क का डाम्बरीकरण 74 लाख 44 हजार की लागत से किया गया है। इसी कड़ी में प्रभारी मंत्री द्वारा गंगा मालनपुर से जौरा वाले हनुमान मंदिर तक बनी डामरीकृत सड़क का भूमिपूजन भी किया गया। 

प्रभारी मंत्री ने विकास यात्रा के दौरान ग्रामीणों से रूबरू होकर उनकी समस्याएं सुनीं। साथ ही समस्याओं के निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। बिसेन ने पुरानी छावनी क्षेत्र की पेयजल समस्या के स्थायी समाधान के लिए मोतीझील से पेयजल लाईन डालने के काम को मंजूरी दिलाने का भरोसा दिलाया। साथ ही कहा हाल ही में बने स्कूल भवन की बाउण्ड्रीवॉल बनाने में भी उनकी ओर से पूरी मदद मिलेगी। उन्होंने ग्राम जेबरा के हाईस्कूल का उन्नयन, शांति धाम में बैंच व कुर्सी, दो नलकूप, इस पंचायत के खेरिया गाँव में सामुदायिक भवन और भजनपुरा में विद्युत लाईन की माँग को भी जल्द से जल्द पूरा कराने के लिये ग्रामीणों को आश्वस्त किया। बिसेन ने विधायक भारत सिंह कुशवाह की विकास के प्रति जुझारूपन की सराहना की। उन्होंने कहा कि श्री कुशवाह के प्रयासों की बदौलत अकेले ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में पिछले 4 साल के दौरान लगभग साढ़े 14 सौ करोड़ से अधिक लागत के विकास कार्य हाथ में लिए गए हैं। इनमें से कई विकास पूर्ण हो चुके हैं। उन्होंने इस मौके पर असंगठित श्रमिक कल्याण, प्रधानमंत्री आवास व सौभाग्य योजना सहित सरकार की अन्य योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। साथ ही कहा कि सरकार "सबका साथ-सबका विकास"  के भाव से काम कर रही है।  इसी कारण प्रदेश का सुनियोजित ढंग से विकास हुआ है  और लोगों के जीवन स्तर में भी बदलाव आ रहा है। श्री बिसेन ने कहा सरकार ने कृषकों को फसल का लाभकारी मूल्य दिलाया है । अगले माह 10 जून को सरकार उन किसानों के खाते में 265 रूपए प्रति कुंटल के हिसाब से धनराशि जमा कराने जा रही है, जिन्होंने इस साल समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचा है। 

विधायक भारत सिंह कुशवाह ने कहा पिछले 14 साल में समूचे प्रदेश को विकास के क्षेत्र में नई ऊंचाइयां मिली हैं । उन्होंने कहा पिछले 4 साल के दौरान ही ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में 406 किलोमीटर लंबी पक्की सड़कें बनाई गई हैं। इससे जाहिर होता है कि समूचे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। उन्होंने कहां बिजली आपूर्ति के क्षेत्र में भी क्रांतिकारी काम हुआ है कृषि क्षेत्र में 10 घंटे और घरेलू उपयोग के लिए सरकार द्वारा 24 घंटे बिजली मुहैया कराई जा रही है। बुधवार को ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विकास यात्रा के दौरान आयोजित हुए कार्यक्रमों में भिन्न-भिन्न जगहों पर वीरेंद्र जैन अशोक पटसरिया व विनोद जादौन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी विचार व्यक्त किए।  स्कूल भवन के लोकार्पण कार्यक्रम में क्षेत्रीय पार्षद श्रीमती अनुसुईया जादौन तथा उदय यादव, रमेश शर्मा एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे। 

Latest Updates