Recent Posts

ताका-झांकी

नरहरि का नवाचार, मध्यप्रदेश संदेश अब सीधे घर पर

2018-04-16 19:36:17 366
Sandhya Desh


(रश्मि अग्रवाल)
भोपाल / ग्वालियर। मध्यप्रदेश के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और वर्तमान में जनसंपर्क आयुक्त पी. नरहरि हमेशा अपने नवाचारों के लिए जाने जाते हैं। जनसंपर्क आयुक्त बनने के बाद उन्होंने जनसंपर्क विभाग में भी एक शानदार नवाचार शुरू किया है, वह नवाचार है मध्यप्रदेश सरकार के मुखपत्र मध्यप्रदेश संदेश का। जो अब अधिमान्य पत्रकारों के घर सीधे डाक से पहुंचेगी। पिछले महिने उन्होंने इसकी शुरूआत करवा दी है और पूरे प्रदेश भर के पत्रकार इसकी सराहना भी कर रहे हैं।
प्रदेश की प्रसिद्ध समाचार वेबसाइट डब्लूडब्लूडब्लू डाॅट सांध्यदेश डाॅट काॅम के अनुसार जनसंपर्क आयुक्त पी. नरहरि का यह नवाचार सीधे अब अधिमान्य पत्रकारों को मध्यप्रदेश शासन के मुखपत्र से जोड़ेगा, बल्कि अधिमान्य पत्रकार के परिजन भी प्रदेश शासन की विभिन्न योजनाओं व कार्यों से अवगत हो सकेंगे। ज्ञांतव्य है कि अभी तक मध्यप्रदेश संदेश जनसंपर्क विभाग की प्रेसनोट डाक से पत्रकारों व संपादकों को पहुंचाया जाता रहा है। लेकिन कार्यालयीन व्यस्तता के कारण पत्रकार व संपादक मध्यप्रदेश संदेश का सूक्ष्म अवलोकन नहीं कर पाते थे। अब अधिमान्य पत्रकारों के घर पहुंचने से मध्यप्रदेश संदेश की रीडरशिप में भी इजाफा होगा और शासन की बेहतर छवि प्रस्तुत होगी।

मध्यप्रदेश संदेश के संपादक मनोज खरे व संपादन सहयोगी अनिल वशिष्ठ ने समाचार वेबसाइट डब्लूडब्लूडब्लू डाॅट सांध्यदेश डाॅट काॅम को बताया कि प्रदेश के लगभग चार हजार अधिमान्य पत्रकारों को अब मध्यप्रदेश संदेश निःशुल्क डाक से सीधे घर भेजी जा रही है। यह सराहनीय प्रयास जनसंपर्क आयुक्त पी. नरहरि की पहल पर किया गया है। मनोज खरे ने बताया कि जनसंपर्क आयुक्त के इस नवाचार की प्रदेशभर के अधिमान्य पत्रकारों ने सराहना की हैं। खरे व वशिष्ठ ने बताया कि आम लोगों के लिए भी मध्यप्रदेश संदेश को अब रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड के बुक स्आॅलों पर भी उपलब्ध कराया जायेगा।
इधर मध्यप्रदेश संदेश के घर पर प्राप्त होने की पहल पर अधिमान्य पत्रकारों ने प्रदेशभर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, जनसंपर्क मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा, जनसंपर्क आयुक्त पी. नरहरि को भी धन्यवाद पत्र भेजें हैं।

"मध्यप्रदेश संदेश के माध्यम से हमारा यह प्रयास है कि शासन की जनकल्याणकारी योजनायें एवं कार्य सीधे अधिमान्य पत्रकारों तक बिना विलंब के घर पहुंचे, ताकि वह उनका नियमित अवलोकन भी कर सकें।"

पी. नरहरि (I.A.S.)
आयुक्त
जनसंपर्क मध्यप्रदेश

Latest Updates