Recent Posts

ताका-झांकी

वल्लभ भवन के पेंचों में उलझी पुलिस कमिश्नरी

2018-04-06 09:18:42 164
Sandhya Desh


अखिल भारतीय पुलिस सेवा से जुडे अफसरों को जिस बात की आशंका थी वो नजारे पुलिस कमिश्नर सिस्टम को लागू करने के लिए देखने को मिल रहे हैं। पीएचक्यू और वल्लभ भवन में इंदौर-भोपाल से शुरू होने वाली पुलिस आयुक्त प्रणाली फाइलों के पेंच में उलझती जा रही है। सिस्टम को कब से लागू किया जाए इस पर आशंकाओं के बादल छा गए हैं।
प्रदेश की आईएएस लॉबी से जुड़े सीएम सचिवालय में पदस्थ अफसरों पर प्रदेश के अन्य आईएएस अफसरों का भारी दबाव है जिसके चलते पीएचक्यू से भेजा गया प्रस्ताव लेटलतीफी का शिकार हो रहा है। गौरतलब है कि पुलिस आयुक्त प्रणाली को लागू करने के लिए पुलिस मुख्यालय से तमाम अनुच्छेदों का हवाला देते हुए प्रस्ताव भेजा गया था। जिसमें से कुछ मसलों पर प्रदेश के गृह सचिव सहमत नहीं हैं। सूत्रों ने बताया कि पुलिस आयुक्त प्रणाली भोपाल -इंदौर में लागू करने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा एक मंत्रिमंडल उपसमिति का गठन कर अंतिम सुझाव दिए जाने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है।
इधर, पुलिस कमिश्नर सिस्टम के खिलाफ सक्रिय भारतीय प्रशासनिक सेवा और राज्य प्रशासनिक सेवा के अफ सर संयुक्त रूप से जनप्रतिनिधियों के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को संदेश पहंचा रहे हैं कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले आयुक्त प्रणाली को किसी भी सूरत में न लागू किया जाए। इसके लिए बकायदा सांसद, विधायक, महापौर और भाजपा संगठन में काम करने वाले प्रभावशाली नेताओं के रुतबे का इस्तेमाल भी किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि पुलिस सिस्टम लागू हुआ तो अन्य अफसरों का मनोबल टूटेगा।  यही कारण है कि इलेक्शन से पहले इसकी घोषणा रुकवाने के लिए जनप्रतिनिधियों से बकायदा पत्र भी लिखवाए जा रहे हैं।

Latest Updates