शहर के नल उपभोक्ताओं के लिए सुविधा योजना लागू की जाए

2018-03-13 18:56:17 248
Sandhya Desh


* महापौर  से मिले सजग प्रकोष्ठ के पदाधिकारी 
ग्वालियर| ग्वालियर शहर के नल उपभोक्ताओं के लिए वर्ष २००५ तक के बिल माफ करने व उसके बाद बकाया राशि के लिए सुविधा योजना लागू किये जाने को लेकर सजग प्रकोष्ठ के पदाधिकारी महापौर विवेक नारायण शेजवलकर से मिले|
सजग प्रकोष्ठ समिति रजि. के अध्यक्ष डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने बताया है कि दिनांक १४/०८/२०१३ को सजग प्रकोष्ठ द्बारा तत्कालीन महापौर  को ज्ञापन दिया गया था, जिसमें प्रमुख रूप से निम्नलिखित सुझाव/मांग की गई थी कि ०१.०४.२००५ तक के बकाया को पूर्णत: माफ किया जाए, 10000 रूपये से अधिक बकाया वाले नल उपभोक्ता यदि एकमुश्त राशि जमा करें तो उसके बकाया में ५०% छूट प्रदान कर, बकाया राशि ५०% जमा कराई जावे जिससे निगम के कोष में भी वृद्घि होगी और नल उपभोक्ता आगामी माहों से नियमित बिल भी जमा करेगा, 10000  रूपये से कम और 5000 से अधिक बकाया राशि वाले उपभोक्ता को बकाया एकमुश्त जमा करने पर ४०% बकाया राशि माफ कर, ६०% राशि एकमुश्त जमा करवाई जावे, 5000 से कम बकाया राशि वाले नल उपभोक्ताओं को २५% बकाया राशि माफ कर, ७५% राशि एकमुश्त जमा करवाई जावे, ऐसे उपभोक्ता जो एकमुश्त बिल नहीं भर सकते हैं, उन्हें आसान किश्त (बिना ब्याज) की सुविधा प्रदान की जाए| 
उक्त मांगों पर तत्कालीन महापौर द्बारा सहमत होते हुए आश्‍वासन दिया था कि जो मांग ज्ञापन में की गईं हैं, उन्हें निगम स्तर पर पूरा नहीं किया जा सकता है| उक्त बिन्दुओं को हम शासन स्तर पर अनुमति के लिए भेज रहे हैं और शीघ्र ही इसे लागू करेंगेसजग प्रकोष्ठ ने महापौर विवेक नारायण शेजवलकर को बताया कि ज्ञापन को दिये हुए लगभग ५ वर्ष का समय व्यतीत हो चुका है किंतु अपेक्षित कार्यवाही नहीं की जा सकी है, जबकि नगर से लेकर केन्द्र तक एक ही पार्टी (भाजपा) की सरकार हैसजग प्रकोष्ठ ने ज्ञापन में मांग की कि सजग प्रकोष्ठ द्बारा उठाए गये बिन्दुओं पर गंभीरतापूर्वक विचार कर, शीघ्रातिशीघ्र नल उपभोक्ताओं के लिए सुविधा योजना लागू की जाए ताकि उपभोक्ताओं को राहत के साथ ही निगम के खजाने में भी आशातीत वृद्घि हो सके| 
महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने प्रकोष्ठ को आश्‍वासन दिया है कि ज्ञापन में उठाये गये बिन्दुओं पर शीघ्र कार्यवाही करेंगे| यदि उक्त यह शासन स्तर पर लंबित हैं तो शासन स्तर पर बात करेंगे और यदि शासन को प्रेषित नहीं किया गया है तो नगर निगम परिषद में ले जाकर निर्णय कराएंगे| ज्ञापन देने वालों में सजग प्रकोष्ठ समिति निर्मल कुमार जैन, महेन्द्र कुमार अग्रवाल, पवन अग्रवाल, दिनेश जैन, कृष्ण बिहारी गोयल, संजय अग्रवाल, राजीव जैन आदि शामिल रहे | 

Latest Updates