Recent Posts

ताका-झांकी

चौधरी साहबः दिल के अरमान आंसुओं में बह गये

2018-03-13 18:50:00 933
Sandhya Desh


कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए चौधरी राकेश साहब अंततः इस बार भी राज्यसभा नहीं जा पाए। भाजपा की ओर से राज्यसभा जाने वाले चारों प्रत्याशियों के नामों का ऐलान हो चुका है, लेकिन इसमें चौधरी साहब का नाम इसमें शामिल ही नहीं है। इससे साफ है कि दल बदलने के बाद भी चौधरी साहब के दिल के अरमान आंसुओं में बह गये। 
मप्र से खाली हो रही राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहा है। विधायको की संख्या के आधार पर बीजेपी से चार लोगों का चुना जाना तय है। बीजेपी ने केन्द्रीय मंत्रीगण थावरचंद गहलोत और धर्मेन्द्र प्रधान सहित नये नबेले कैलाश सोनी और अजय प्रताप सिंह को राज्यसभा के लिए मैदान में उतारा है। गौरतलब है कि कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री चौधरी साहब ने इस दफा राज्यसभा के लिए पूरा जोर लगाया था। चौधरी साहब ने विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पेश करते समय कांग्रेस पार्टी छोडकर कुछ साल पहले बडा राजनैतिक धमाका किया था और बीजेपी में शामिल हो गए थे। दलबदल करते भाजपा ने उन्हें राज्यसभा में भिजवाने और छोटे भाई चौधरी मुकेश सिंह को विधानसभा का टिकट देने का वादा किया था। मुकेश चौधरी को पिछले विधानसभा चुनाव में मेहगांव भिण्ड से बीजेपी का टिकट मिला और वह जीत भी गए।
ऐसे में बड़े भाई चौधरी राकेश सिंह मुख्यमंत्री जी व पार्टी को अपना वादा याद दिलाकर उम्मीदवारी के लिए ताल ठोंक रहे थे। इसी रणनीति से चौधरी साहब के बीजेपी में असंतुष्ट होने की खबरे भी पिछले कुछ महीने से सामने आ लायी जा रही थीं। उनके कांग्रेस में वापसी की खबरे भी चलती रहती है। देखना यह है कि अब चौधरी साहब भविष्य में क्या कदम उठाते हैं। अब उनके लिए कांग्रेस में वापिसी की राह भी आसान नहीं है।

Latest Updates