Recent Posts

ताका-झांकी

राजस्व जमा न करने वाले बकायादारों की सम्पत्ति कुर्क करें – कलेक्टर

2018-03-12 21:02:40 106
Sandhya Desh

अंतरविभागीय समन्वय बैठक में दिए निर्देश 
ग्वालियर।  राजस्व वसूली में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। राजस्व जमा न करने वाले बकायादारों की संपत्ति कुर्क करें। साथ ही अर्थदण्ड की वसूली के लिये भी सम्पत्ति कुर्क करने की कार्रवाई की जाए। यह निर्देश कलेक्टर  राहुल जैन ने अंतरविभागीय समन्वय बैठक में राजस्व अधिकारियों को दिए। उन्होंने 16 मार्च से पहले राजस्व वसूली का लक्ष्य पूरा करने पर जोर दिया। 
सोमवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में  जैन ने सीएम हैल्पलाइन की समीक्षा के दौरान उन अधिकारियों के रवैये पर नाराजगी जाहिर की, जो शिकायतों के निराकरण में उदासीनता बरत रहे हैं। उन्होंने डबरा के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को आगाह किया कि यदि अगले हफ्ते तक सीएम हैल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण की स्थिति नहीं सुधारी तो उनके वेतन रोकने की कार्रवाई की जायेगी। 
न्यायालयीन प्रकरणों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने निर्देश दिए कि यदि किसी अधिकारी द्वारा जवाब व साक्ष्य प्रस्तुत न करने की वजह से जमीन संबंधी प्रकरणों में शासन की हार हुई तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। उन्होंने  सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मनसुखलाल सर्राफ प्रकरण में दिए गए निर्देशों का हवाला दिया और कहा कि सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट निर्देश हैं कि यदि ओआईसी की लापरवाही से सरकारी पक्ष की हार होती है तो ओआईसी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। 
बैठक में अपर कलेक्टर  दिनेश श्रीवास्तव व  शिवराज वर्मा सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 
भूसे की बर्बादी रोकें और अग्नि दुर्घटनाओं से बचने के पुख्ता इंतजाम करें 
कलेक्टर  राहुल जैन ने कहा कि गेहूँ कटाई के लिये आने वाले हार्वेस्टर में वह उपकरण भी अनिवार्यत: लगा हो, जिससे भूसे की बर्बादी न हो। इस संबंध में किसानों व हार्वेस्टर संचालकों को साफतौर पर ताकीद कर दें। साथ ही किसानों को यह भी बता दें कि खेतों में नरवाई जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। उन्होंने कहा अग्नि दुर्घटनाओं को बचाने के लिये हार्वेस्टर में अनिवार्यत: अग्निशमन यंत्र लगा होना चाहिए। साथ ही ऐहतियात बतौर हर ग्राम पंचायत में पानी के टैंकर भरकर रखे जाएँ। फायर ब्रिगेड को भी पहले से ही ताकीद करके रखें। इस संबंध में गाँवों की आपदा प्रबंधन समितियों को भी सक्रिय करें। 

Latest Updates